‘प्रदेश में कमलनाथ सरकार को हिलाने वाला कोई माई का लाल पैदा नहीं हुआ, मिला तो कर देंगे 3 टुकड़े’

एक ओर जहाँ मंत्री सज्जन सिंह ने भाजपा की मानसिकता की तुलना 'कुत्तों' से की है वहीं, मंत्री आरिफ़ अकील का कहना है कि कमलनाथ सरकार को हिलाने वाला कोई माई का लाल पैदा ही नहीं हुआ है।

कमलनाथ सरकार के दो मंत्रियों द्वारा भाजपा के लिए विवादस्पद बयान दिया गया है। खबरों के मुताबिक एक ओर जहाँ झाबुआ में लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह ने भाजपा की मानसिकता की तुलना ‘कुत्तों’ से की है वहीं, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ़ अकील ने भाजपा के लिए कहा है कि अगर किसी ने गड़बड़ की तो वे पार्टी के 3 तुकड़े कर देंगे।

एबीपी के अनुसार, एक दिन के दौरे पर झाबुआ पहुँचे सज्जन सिंह ने कहा, “बीजेपी कह रही है कि कुत्तों को स्थानांतरित कर दिया गया है। ये ठीक लगता अगर वे इसे ‘डॉग स्कॉड’ कहते। लेकिन, उन्होंने कहा कि ‘कुत्तों’ को स्थानांतरित कर दिया गया। उनकी मानसिकता कुत्तों जैसी है। क्या करें!”

वहीं मंत्री आरिफ़ अकील के मुताबिक, प्रदेश में उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है। आरिफ़ अकील ने कहा, “प्रदेश में कमलनाथ सरकार को हिलाने वाला कोई माई का लाल पैदा ही नहीं हुआ। अगर किसी ने ज्यादा गड़बड़ की तो हम बीजेपी के तीन टुकड़े कर देंगे।”

कमलनाथ ने की रीमा और जया की छुट्टी

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि बीते दिनों कमलनाथ सरकार ने प्रदेश से 46 स्निफर डॉग्स का स्थानांतरण किया था। जिसके बाद भाजपा ने उन पर निशाना साधा था। बीजेपी ने कहा था कि कमलनाथ सरकार का तबादले के अलावा प्रदेश के हित के किसी भी अन्य विषय पर ‘फोकस’ नहीं है। वहीं कर्नाटक की हालिया स्थिति को देखते हुए मध्य प्रदेश के राजनीतिक समीकरणों पर भी सवाल उठ रहे थे। क्योंकि मध्य प्रदेश में भी कॉन्ग्रेस पूर्ण बहुमत में न होकर सपा, बसपा एवं निर्दलीय विधायकों के समर्थन से टिकी हुई है। इन दोनों घटनाओं पर ही कमलनाथ सरकार के मंत्रियों का ये विवादस्पद बयान आया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राफ़ेल
सुप्रीम कोर्ट ने राफ़ेल विमान सौदे को लेकर उछल-कूद मचा रहे विपक्ष और स्वघोषित डिफेंस-एक्सपर्ट लोगों को करारा झटका दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,640फैंसलाइक करें
22,443फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: