Tuesday, August 9, 2022
Homeराजनीति'...तो मुंबई जल जाती है' - खत्म हो रही शिवसेना, रोते हुए धमकी दे...

‘…तो मुंबई जल जाती है’ – खत्म हो रही शिवसेना, रोते हुए धमकी दे रहे कॉन्ग्रेसी मंत्री: मुंबई पुलिस हाई अलर्ट

"महाराष्ट्र में अगर शिवसेना को कुछ होता है तो मुंबई जल जाती है।" - मुंबई पुलिस के अलर्ट मोड पर कॉन्ग्रेसी मंत्री राउत ने कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि शिवसैनिकों की हिंसा का बहाना बनाकर केंद्र सरकार राज्य में राष्ट्रपति शासन न लगा पाए।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक उठा-पटक के बीच अब संकट पुलिस के सामने भी है। राज्य भर में राजनीतिक हिंसा भड़क सकती है। शनिवार (25 जून 2022) को महाराष्ट्र में शिवसेना के कार्यकर्ताओं के सड़क पर उतरने और गुंडई करने की खबरों को ध्यान में रखते हुए पुलिस हाई अलर्ट पर है। खास तौर पर मुंबई पुलिस। मंत्री नितिन राउत (Nitin Raut) ने इसकी वजह भी स्पष्ट कर दी है।

उद्धव ठाकरे सरकार से बगावत कर एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के साथ जा मिले शिवसेना के विधायकों के खिलाफ हिंसा हो सकती है। महाराष्ट्र के ही एक मंत्री की बातों से पुलिस-प्रशासन को हाई अलर्ट मोड में जाने का अंदाजा आप लगा सकते हैं।

महाराष्ट्र के बिजली मंत्री और कॉन्ग्रेस नेता नितिन राउत ने मुंबई पुलिस को हाई अलर्ट पर रखने की वजह का जिक्र किया। एक तरह से चेतावनी भरे लहजे में उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में अगर शिवसेना को कुछ होता है तो मुंबई जल जाती है।” मुंबई में अलर्ट पर राउत ने कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि शिवसैनिकों की हिंसा का बहाना बनाकर केंद्र सरकार राज्य में राष्ट्रपति शासन न लगा पाए।

कॉन्ग्रेस नेता नितिन राउत के मुताबिक, उद्धव गुट के समर्थक शिवसैनिकों को हिंसा करने से नहीं रोका गया तो केंद्र को सही मौका मिल जाएगा। मंत्री राउत का मानना है कि इससे पहले इस तरह का विद्रोह शिवसेना ने नहीं देखा है। इसलिए इस घटना को न तो कोई शिवसैनिक हल्के में लेगा और न ही इसे पचा सकेगा। इनके अनुसार लोग किसी भी रूप में अपना गुस्सा जाहिर कर सकते हैं।

संजय राउत की धमकी, एकनाथ शिंदे गुट के MLA ऑफिस में तोड़फोड़

गौरतलब है कि शिवसेना में फूट का असर भी दिखने लगा है। सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को बागी विधायकों को चेताते हुए कहा था कि अब तक शिवसैनिक सड़क पर नहीं उतरे हैं। उन्होंने कहा था, “हमें चुनौती देने वाले एकनाथ शिंदे गुट को पता होना चाहिए कि शिवसैनिक अभी सड़क पर नहीं उतरे हैं। इस तरह की लड़ाई या तो कानूनी तरीके से लड़ी जाती है या सड़क पर। जरूरत पड़ी तो हमारे कार्यकर्ता सड़क पर उतरेंगे।”

शुक्रवार को उनकी इस धमकी का असर भी दिखा। बागी विधायक मंगेश कुडालकर के कुर्ला स्थित ऑफिस में शिवसैनिकों ने तोड़-फोड़ की थी। यहीं नहीं अहमदनगर और नाशिक में भी एकनाथ शिंदे के पोस्टर पर कालिख पोत दी गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोउ नृप होउ बिहारी को ही हानी… नीतीश कुमार इधर रहें या जंगलराज की छाया में पसरें, बिहार घुट-घुटकर ही जीता रहेगा

बिहार सियासी तौर पर अभिशप्त है। फिर भी जंगलराज की छाया से दूर रहने का सुकून था। हालिया राजनीतिक हलचल उस सुकून पर हमले जैसा है।

जिस जेल में रखा गया ‘आतंकी’ उसके कमोड पर बैठ बीती पार्थ चटर्जी की रात, सब्जी-चावल के लिए रोए: अर्पिता मुखर्जी का भी बुरा...

SSC स्कैम में फँसे पार्थ चटर्जी के लिए जेल में रात गुजारना काफी दिक्कत भरा रहा। उन्होंने पूरी रात कमोड पर बैठकर बिताई, वहीं उनके साथ कैदियों ने गाली-गलौच की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,463FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe