Saturday, May 15, 2021
Home राजनीति 'सेक्युलर' शरद पवार में जागा संघ प्रेम, कहा- RSS से सीखें घर-घर जाकर जनता...

‘सेक्युलर’ शरद पवार में जागा संघ प्रेम, कहा- RSS से सीखें घर-घर जाकर जनता से कैसे मिला जाता है

शरद पवार ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से सीखना चाहिए कि जनता से किस प्रकार संपर्क में रहा जाए।

लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने पार्टी कार्यकर्ताओं को आरएसस से सीख लेने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से सीखना चाहिए कि जनता से किस प्रकार संपर्क में रहा जाए। एनसीपी अध्यक्ष ने विधानसभा चुनावों नजदीक देखते हुए सभी कार्यकर्ताओं से कहा है कि वो लोगों से घर-घर जाकर मिलें।

गुरुवार (जून 6, 2019) को पिंपरी-चिंचवाड में बोलते हुए शरद पवार ने आरएसएस स्वंयसेवकों की खूब तारीफ़ की। उन्होंने कहा, “हमारे कार्यकर्ता किसी के घर जाते हैं और अगर वहाँ कोई न मिले तो पार्टी का पैम्पलेट दरवाजे पर डालकर चले आते हैं। आपको देखना चाहिए कि आरएसएस के स्वयंसेवक कैसे प्रचार करते हैं। अगर वे पाँच घरों में जाते हैं और एक बंद रहता है तो वे बार-बार वहाँ जाते हैं, जब तक कि अपना संदेश न पहुँचा दें। लोगों के संपर्क में कैसे रहना है, इसे आरएसएस के कार्यकर्ता अच्छे से जानते हैं।”

अमर उजाला की खबर के मुताबिक पवार का कहना है कि उन्हें एक भाजपा नेता ने बातचीत के दौरान बताया कि दृढ़ निश्चय और अनुशासन ने उनको जीत दिलाने में मदद की। इसके बाद उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि वह जो कुछ कर रहे हैं हमें उसे अपनाने की जरूरत है लेकिन लोगों के साथ जुड़ने और बातचीत करने की उनकी स्किल महत्वूर्ण है, हमें उसको फॉलो करना चाहिए। आज या कल जब आप लोगों तक लोगों कर पहुँचना शुरू करें तो इन बातों को अपने दिमाग में जरूर रखें।”

पवार ने अपने कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों से उन्हें निराश नहीं होना चाहिए। अब अक्टूबर-नवंबर में होने वाले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटना चाहिए। शरद पवार ने कार्यकर्ताओं से कहा है कि कार्यकर्ता जनता से घर जाकर मिलें और पार्टी का प्रचार शुरू कर दें। उन्होंने कहा ऐसा करने से मतदाता उनसे ये नहीं पूछेंगे कि विधानसभा चुनाव के दौरान आपको हमारी याद क्यों आई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इजरायली रॉकेट से मरीं केरल की सौम्या… NDTV फिर खेला शब्दों से, Video में कुछ और, शीर्षक में जिहादियों का बचाव

केरल की सौम्या इजरायल में थीं, जब उनकी मौत हुई। वह अपने पति से बात कर रही थीं, तभी फिलिस्तीनी रॉकेट उनके पास आकर गिरा। लेकिन NDTV ने...

1971 में भारतीय नौसेना, 2021 में इजरायली सेना: ट्रिक वही-नतीजे भी वैसे, हमास ने ‘Metro’ में खुद भेज दिए शिकार

इजरायल ने एक ऐसी रणनीतिक युद्धकला का प्रदर्शन किया है, जिसने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध की ताजा कर दी है।

20 साल से जर्जर था अंग्रेजों के जमाने का अस्पताल: RSS स्वयंसेवकों ने 200 बेड वाले COVID सेंटर में बदला

कभी एशिया के सबसे बड़े अस्पतालों में था BGML। लेकिन बीते दो दशक से बदहाली में था। आरएसएस की मदद से इसे नया जीवन दिया गया है।

₹995 में Sputnik V, पहली डोज रेड्डीज लैब वाले दीपक सपरा को: जानिए, भारत में कोरोना के कौन से 8 टीके

जानिए, भारत को किन 8 कोरोना वैक्सीन से उम्मीद है। वे अभी किस स्टेज में हैं और कहाँ बन रही हैं।

3500 गाँव-40000 हिंदू पीड़ित, तालाबों में डाले जहर, अब हो रही जबरन वसूली: बंगाल हिंसा पर VHP का चौंकाने वाला दावा

वीएचपी ने कहा है कि ज्यादातार पीड़ित SC/ST हैं। कई जगहों पर हिंदुओं से आधार, वोटर और राशन कार्ड समेत कई दस्तावेज छीन लिए गए हैं।

दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने फ्री वैक्सीनेशन के लिए दिए ₹50 करोड़, पर महज तीन महीने में विज्ञापनों पर खर्च कर डाले ₹150 करोड़

दिल्ली में कोरोना के फ्री वैक्सीनेशन के लिए केजरीवाल सरकार ने दिए 50 करोड़ रुपए, पर प्रचार पर खर्च किए 150 करोड़ रुपए

प्रचलित ख़बरें

हिरोइन है, फलस्तीन के समर्थन में नारे लगा रही थीं… इजरायली पुलिस ने टाँग में मारी गोली

इजरायल और फलस्तीन के बीच चल रहे संघर्ष में एक हिरोइन जख्मी हो गईं। उनका नाम है मैसा अब्द इलाहदी।

दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले पड़ोसी ने रखी सेक्स की डिमांड, केरल पुलिस से सेक्स के लिए ई-पास की डिमांड

दिल्ली में पड़ोसी ने ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले एक लड़की से साथ सोने को कहा। केरल में सेक्स के लिए ई-पास की माँग की।

1971 में भारतीय नौसेना, 2021 में इजरायली सेना: ट्रिक वही-नतीजे भी वैसे, हमास ने ‘Metro’ में खुद भेज दिए शिकार

इजरायल ने एक ऐसी रणनीतिक युद्धकला का प्रदर्शन किया है, जिसने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध की ताजा कर दी है।

गाजा पर गिराए 1000 बम, 160 विमानों ने 150 टारगेट पर दागे 450 मिसाइल: बोले नेतन्याहू- हमास को बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

फलस्तीन के साथ हवाई संघर्ष के बीच इजरायल जमीनी लड़ाई की भी तैयारी कर रहा है। हथियारबंद टुकड़ियों के साथ 9000 रिजर्व सैनिकों की तैनाती।

जेल के अंदर मुख्तार अंसारी के 2 गुर्गों मेराज और मुकीम की हत्या, UP पुलिस ने एनकाउंटर में मारा गैंगस्टर अंशू को भी

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जेल में कैदियों के बीच गैंगवार की खबर। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फायरिंग में जेल के अंदर दो बदमाशों की...

‘क्या प्रजातंत्र में वोट की सजा मौत है’: असम में बंगाल के गवर्नर को देख फूट-फूट रोए पीड़ित, पाँव से लिपट महिलाओं ने सुनाई...

बंगाल के गवर्नर हिंसा पीड़ितों का हाल जानने में जुटे हैं। इसी क्रम में उन्होंने असम के राहत शिविरों का दौरा किया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,349FansLike
94,031FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe