Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिपाक ने UN को भेजे पत्र में कहा- राहुल गाँधी ने भी माना 'J&K...

पाक ने UN को भेजे पत्र में कहा- राहुल गाँधी ने भी माना ‘J&K में लोग मर रहे हैं’, अब डैमेज कंट्रोल में जुटी कॉन्ग्रेस

विवादों के बाद राहुल गाँधी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और वहाँ हो रही हिंसा के लिए पाक ज़िम्मेदार है। राहुल गाँधी ने ट्विटर पर लिखा कि पाकिस्तान दुनिया में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक के रूप में जाना जाता है।

जम्मू कश्मीर पर अब भारतीय नेता ही पाकिस्तान के मददगार साबित होते नज़र आ रहे हैं। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को जम्मू कश्मीर के सम्बन्ध में पत्र लिख कर कहा है कि भारत वहाँ ‘अत्याचार कर रहा है’ और अपनी इस बात को साबित करने के लिए उसने कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी के बयानों का सहारा लिया है। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को भेजे पत्र में लिखा है कि भारत की मुख्यधारा के राजनेताओं द्वारा भी ‘कश्मीर में हो रही हिंसा’ को स्वीकार किया है।

पाकिस्तान ने राहुल गाँधी का हवाला देते हुए उनके उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘जम्मू कश्मीर में लोग मर रहे हैं’। पाकिस्तान ने लिखा कि कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने जम्मू कश्मीर में चीजें ग़लत दिशा में जाने की बात कही थी। पाकिस्तान ने इस पत्र में कई झूठे आरोप लगाते हुए कश्मीर के बच्चों व महिलाओं पर ‘भारत द्वारा अत्याचार’ करने की बात कही है। पाकिस्तान ने यूएन को भेजे गए पत्र में अपनी बात साबित करने के लिए जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती की ट्वीट्स का भी सहारा लिया है।

बता दें कि राहुल गाँधी विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू कश्मीर गए थे लेकिन श्रीनगर एयरपोर्ट से ही उन्हें वापस भेज दिया गया। अब राहुल डैमेज कण्ट्रोल में जुट गए हैं। विवादों के बाद उन्होंने कहा है कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और वहाँ हो रही हिंसा के लिए पाक ज़िम्मेदार है। राहुल गाँधी ने ट्विटर पर लिखा कि पाकिस्तान दुनिया में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक के रूप में जाना जाता है।

साथ ही राहुल ने यह भी लिखा कि जम्मू कश्मीर में होने वाली हिंसा पाकिस्तान समर्थित होती है और पाकिस्तान के भड़काने से ही होती है। राहुल गाँधी ने लिखा कि वे केंद्र सरकार से कई मसलों पर मतभेद रखते हैं लेकिन जम्मू कश्मीर के मामले में पाकिस्तान या किसी अन्य तीसरे देश को हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,549FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe