Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिगुजरात वाइब्रेंट समिट के 20 साल पूरे, बोले PM मोदी- निवेशकों को धमकाया जाता...

गुजरात वाइब्रेंट समिट के 20 साल पूरे, बोले PM मोदी- निवेशकों को धमकाया जाता था, मैंने निराशा से बाहर निकाला

"यह सिर्फ ब्रांडिंग का आयोजन नहीं, बल्कि बॉन्डिंग का आयोजन है। मेरे लिए यह मजबूत बॉन्ड का प्रतीक है। यह मेरे और गुजरात के सात करोड़ नागरिक के सामर्थ्य से जुड़ा हुआ है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के दो दिवसीय दौरे (26 और 27 सितंबर) पर हैं। पीएम मोदी ने आज बुधवार (27 सितंबर, 2023) को वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट के 20 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इसके अलावा, पीएम मोदी छोटा उदेपुर के बोडेली में 5 हजार करोड़ से ज्यादा की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया।

‘ब्रांडिंग नहीं बॉन्डिंग का आयोजन’ 

वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट के 20 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “यह सिर्फ ब्रांडिंग का आयोजन नहीं, बल्कि बॉन्डिंग का आयोजन है। मेरे लिए यह मजबूत बॉन्ड का प्रतीक है। यह मेरे और गुजरात के सात करोड़ नागरिक के सामर्थ्य से जुड़ा हुआ है।”

‘निवेश को लेकर माहौल बिगाड़ने की हुई थी कोशिश’

इस अवसर बोलते हुए पीएम ने कहा कि आज वाइब्रेंट गुजरात वटवृक्ष बन चुका है। जब मैंने इस समिट की शुरुआत की तो केंद्र के मंत्री इस आयोजन में शामिल नहीं होना चाहते थे। निवेश को लेकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश हुई थी। गुजरात को उस दौर में अस्थिर करने की कोशिश की गई। निवेशकों को यहाँ निवेश न करने के लिए धमकाया जाता था।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि मैंने उस दौर में देश के दूसरे राज्यों को न्योता दिया। हमने राज्यों को कहा कि आइए और इस कार्यक्रम में राज्य का स्टॉल लगाकर फायदा उठाइए। हरियाणा, ओड़िशा और कई राज्यों ने इसका फायदा उठाया।

गोधरा को भी PM मोदी ने किया याद 

वाइब्रेंट गुजरात समिट को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने गोधरा कांड को भी याद किया और कहा, “गोधरा कांड के बाद पूरे गुजरात में हिंसा भड़क उठी थी। उस समय एक मुख्यमंत्री के रूप में मेरे पास ज्यादा अनुभव नहीं था। फिर भी मुझे गुजरात की जनता पर बहुत भरोसा था। कुछ लोग अपना एजेंडा चला रहे थे। उन्होंने गुजरात को बदनाम करने की साजिश रची और लोगों ने नकारात्मकता फैलाने की पूरी कोशिश की। उन्होंने सोचा कि गुजरात नष्ट हो गया है, लेकिन हमारी सरकार ने ध्यान केंद्रित किया और गुजरात को इस नकारात्मकता से उबारने के लिए सही निर्णय लिए।”

‘गुजरात को संकट से निकालने का लिया था संकल्प’

पीएम मोदी ने समिट में आगे कहा, “जो लोग एजेंडा लेकर चलते थे वे उस समय भी घटनाओं का अपने तरीके से आँकलन करने में जुटे हुए थे। कहा गया कि गुजरात से युवा, व्यापारी, उद्योग सब पलायन कर जाएँगे। दुनिया में गुजरात को बदनाम करने की साजिश रची गई। कहा गया गुजरात कभी अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो पाएगा। उस संकट में मैंने संकल्प लिया कि चाहे परिस्थितियाँ जैसी भी हो गुजरात को इससे बाहर निकालकर रहूँगा। भयंकर दिनों से कैसे गुजरात को निकाला है और आज गुजरात कहाँ पहुँच गया है। जीवन में इससे बड़ा संतोष और क्या हो सकता है।”

उन्होंने यह भी  कहा कि हमने न केवल गुजरात का पुनर्विकास किया बल्कि इसके भविष्य के बारे में भी सोचा, हमने इसके लिए ‘वाइब्रेंट गुजरात’ को एक प्रमुख माध्यम बनाया. ‘वाइब्रेंट गुजरात’ को गुजरात के आत्मविश्वास को बढ़ाने का एक माध्यम बनाया गया और एक चैनल बनाया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हे माँ, हमें माफ़ कर दो, गलती हो गई कि यहाँ चोरी की’: गिरफ्तार होते ही चोरों के गिरोह का हुआ हृदय-परिवर्तन, मंदिर में...

ये सब झालावाड़ जिला के रहने वाले हैं। चोरों ने मंदिर में माता की प्रतिमा के सामने हाथ जोड़ कर कहा, "हे माँ, हमें माफ़ कर दो। हमसे गलती हो गई कि हमने यहाँ चोरी की।"

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -