Monday, June 17, 2024
Homeराजनीति'अंतरराष्ट्रीय ट्रेवल रेस्ट्रिक्शन्स में ढील वाली योजना की समीक्षा कीजिए': PM मोदी का अधिकारियों...

‘अंतरराष्ट्रीय ट्रेवल रेस्ट्रिक्शन्स में ढील वाली योजना की समीक्षा कीजिए’: PM मोदी का अधिकारियों को निर्देश, नए कोविड वेरिएंट पर बैठक

पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स और विदेश से आने वाले यात्रियों को लेकर ढील दिए जाने की जो योजना थी, उसकी पुनः समीक्षा की जाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (27 नवंबर, 2021) को देश में कोरोना टीकाकरण की स्थिति को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की और ज़रूरी निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स और विदेश से आने वाले यात्रियों को लेकर ढील दिए जाने की जो योजना थी, उसकी पुनः समीक्षा की जाए। चूँकि दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन फ़ैल रहा है और वो हॉन्गकॉन्ग तक पहुँच गया है, इसीलिए इसे लेकर भारत भी चिंतित है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘Omicron’ नामक नए कोरोना वायरस वेरिएंट, इसके प्रभावों और इससे जुड़े खतरों को लेकर अधिकारियों के साथ चर्चा की। उन्होंने कहा कि जिन भी क्षेत्रों में अभी भी ज्यादा मामले आ रहे हैं, वहाँ पर कन्टेनमेंट और सक्रिय सर्विलांस की प्रक्रिया जारी रहनी चाहिए। उन्होंने लोगों को भी सावधान रहने के लिए कहा और मास्क का उपयोग करने की सलाह दी। साथ ही इंटरनेशनल ट्रेवल पर जो रेस्ट्रिक्शन्स लगे हुए थे, उनमें ढिलाई वाले फैसले की समीक्षा का निर्देश दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस दौरान अधिकारियों ने दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को लेकर जानकारी दी। उन्होंने ‘हर घर दस्तक’ के तहत टीकाकरण अभियान के अगले चरण की भी समीक्षा की। साथ ही देश में कोरोना की मौजूदा पॉजिटिविटी रेट को लेकर बात हुई। उन्होंने नए वेरिएंट को लेकर अधिकारियों को सजग रहने के निर्देश दिए। साथ ही राज्य सरकारों से और जिला स्तर पर अधिकारियों से सामंजस्य बनाए रखने को भी कहा।

बैठक में अधिकारियों ने पीएम मोदी को बताया कि नई दवाओं और फार्मा प्रोडक्ट्स को लेकर भी निगरानी रख रहे हैं। पीएम मोदी ने उनसे कहा कि राज्यों के पास दवाओं का पूरा स्टॉक हो, इस पर ध्यान रहना चाहिए। साथ ही मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में भी राज्यों की मदद की जानी चाहिए। जिन राज्यों में ज्यादा मामले आ रहे हैं, उन्हें तकनीकी समर्थन देने का निर्देश पीएम मोदी ने दिया। विदेश से आने वालों की टेस्टिंग और स्क्रीनिंग कड़ी करने पर भी सहमति बनी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -