Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीतिलड़कियों के लिए खुल गए सभी सैनिक स्कूलों के दरवाजे, नई शिक्षा नीति में...

लड़कियों के लिए खुल गए सभी सैनिक स्कूलों के दरवाजे, नई शिक्षा नीति में खेल ‘एक्स्ट्रा करिकुलर’ नहीं, मेनस्ट्रीम: लाल किले से PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा, "देश के सभी मैन्यूफैक्चर्स को भी ये समझना होगा- आप जो प्रोडक्ट बाहर भेजते हैं वो आपकी कंपनी में बनाया हुआ सिर्फ एक प्रोडक्ट नहीं होता। उसके साथ भारत की पहचान जुड़ी होती है, प्रतिष्ठा जुड़ी होती है, भारत के कोटि-कोटि लोगों का विश्वास जुड़ा होता है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस 2021 के मौके पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को सम्बोधित किया। उन्होंने इस अवसर पर संकल्प लिया, “हमें मिलकर काम करना होगा, Next Generation Infrastructure के लिए। हमें मिलकर काम करना होगा, World Class Manufacturing के लिए। हमें मिलकर काम करना होगा Cutting Edge Innovation के लिए। हमें मिलकर काम करना होगा New Age Technology के लिए।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश ने संकल्प लिया है कि आजादी के अमृत महोत्सव के 75 सप्ताह में 75 वंदेभारत ट्रेनें देश के हर कोने को आपस में जोड़ रही होंगी। आज जिस गति से देश में नए एयरपोर्ट्स का निर्माण हो रहा है, उड़ान योजना दूर-दराज के इलाकों को जोड़ रही है, वो भी अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि भारत को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में होलिस्टिक अप्रोच अपनाने की भी जरूरत है।

पीएम मोदी ने घोषणा की कि भारत आने वाले कुछ ही समय में प्रधानमंत्री गतिशक्ति- नेशनल मास्टर प्लान को लॉन्च करने जा रहा है। उन्होंने भविष्य की बात करते हुए कहा कि विकास के पथ पर आगे बढ़ते हुए भारत को अपनी मैन्यूफैक्चरिंग और एक्सपोर्ट, दोनों को बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा, “आपने देखा है, अभी कुछ दिन पहले ही भारत ने अपने पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रांत को समुद्र में ट्रायल के लिए उतारा है।”

पीएम मोदी ने कहा, “देश के सभी मैन्यूफैक्चर्स को भी ये समझना होगा- आप जो प्रोडक्ट बाहर भेजते हैं वो आपकी कंपनी में बनाया हुआ सिर्फ एक प्रोडक्ट नहीं होता। उसके साथ भारत की पहचान जुड़ी होती है, प्रतिष्ठा जुड़ी होती है, भारत के कोटि-कोटि लोगों का विश्वास जुड़ा होता है। मैं इसलिए मनुफक्चरर्स को कहता हूँ – आपका हर एक प्रॉडक्ट भारत का ब्रैंड एंबेसेडर है। जब तक वो प्रॉडक्ट इस्तेमाल में लाया जाता रहेगा, उसे खरीदने वाला कहेगा – हाँ, ये मेड इन इंडिया है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “हमने देखा है, कोरोना काल में ही हजारों नए स्टार्ट-अप्स बने हैं, सफलता से काम कर रहे हैं। कल के स्टार्ट-अप्स, आज के Unicorn बन रहे हैं। इनकी मार्केट वैल्यू हजारों करोड़ रुपए तक पहुँच रही है। रिफॉर्म्स को लागू करने के लिए गुड औऱ स्मार्ट गवर्नेंस चाहिए। आज दुनिया इस बात की भी साक्षी है कि कैसे भारत अपने यहाँ गवर्नेंस का नया अध्याय लिख रहा है।”

उन्होंने कहा कि जीवन के सभी मैदानों में युवा आगे बढ़ेंगे। उन्होंने नई ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति’ की बात की, जिसमें खेल को ‘एक्स्ट्रा करिकुलर’ की जगह मेनस्ट्रीम बनाया गया है। उन्होंने खेलकूद की बात करते हुए कहा कि पहले माँ-बाप बच्चों से कहते थे कि खेलते रहोगे तो जीवन बर्बाद कर लोगे, लेकिन अब बदलाव आया है, जिसका अनुभव इस बार के ओलंपिक में भी हमने किया है। उन्होंने खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ा कर उसे तकनीक से जोड़ने पर बल दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि शिक्षा हो या खेल, हमारी बेटियाँ आज अभूतपूर्व प्रदर्शन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आज भारत की बेटियों के लिए हमें सुनिश्चित करना है कि हर क्षेत्र में उनकी समान भागीदारी हो, सड़क से लेकर वर्कप्लेस तक महिलाओं में सुरक्षा का एहसास हो और सम्मान का भाव हो। उन्होंने इसके लिए शासन-प्रशासन, पुलिस व न्याय व्यवस्था व नागरिकों को शत-प्रतिशत जिम्मेदारी निभाने की अपील की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्हें लाखों बेटियों के संदेश मिलते थे कि वो सैनिक स्कूल में पढ़ना चाहती हैं, उनके लिए सैनिक स्कूल के दरवाजे खोले जाएँ। मिजोरम में इस दिशा में प्रयास भी हुआ था। उन्होंने घोषणा की कि अब देश के सभी सैनिक स्कूलों को लड़कियों के लिए खोल दिया जाएगा, उनमें लड़कियाँ भी पढ़ेंगी। उन्होंने ‘पर्यावरण सिक्योरिटी’ की बात करते हुए कहा कि भारत इसका आज एक मुखर आवाज़ है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe