Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिदेश के सबसे लंबे पुल 'अटल सेतु' का उद्घाटन आज, अब 2 घंटे का...

देश के सबसे लंबे पुल ‘अटल सेतु’ का उद्घाटन आज, अब 2 घंटे का सफर 20 मिनट में होगा पूरा: PM मोदी महाराष्ट्र को देंगे ₹30 हजार करोड़ का तोहफा

'ईज ऑफ मोबिलिटी' बढ़ाने के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सेवारी-न्हावा शेवा अटल सेतु का उद्घाटन करेंगे। लगभग 17,840 करोड़ रुपए की लागत से बना अटल सेतु भारत का सबसे लंबा पुल है, जो देश का सबसे लंबा समुद्री पुल भी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 12 जनवरी 2024 को महाराष्ट्र में होंगे। प्रधानमंत्री महाराष्ट्र में 30,500 करोड़ रुपए से अधिक लागत की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करके इन्हें राष्ट्र को समर्पित करेंगे और आधारशिला रखेंगे। ‘ईज ऑफ मोबिलिटी’ बढ़ाने के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सेवारी-न्हावा शेवा अटल सेतु का उद्घाटन करेंगे। लगभग 17,840 करोड़ रुपए की लागत से बना अटल सेतु भारत का सबसे लंबा पुल है, जो देश का सबसे लंबा समुद्री पुल भी है। दावा किया जा रहा है कि इस 22 किमी लंबे पुल से नवी मुंबई की दूरी तय करने में महज 20 मिनट लगेंगे।

अटल बिहारी वाजपेयी सेवारी – न्हावा शेवा अटल सेतु

प्रधानमंत्री का विज़न शहरी परिवहन बुनियादी ढाँचे और कनेक्टिविटी को मजबूत करके नागरिकों की ‘ईज़ ऑफ मोबिलिटी’ को बेहतर बनाना है। इस विज़न के अनुरूप, मुंबई ट्रांसहार्बर लिंक (एमटीएचएल) का नाम अब ‘अटल बिहारी वाजपेयी सेवारी-न्हावा शेवा अटल सेतु’ रखा गया है, जो अब तैयार हो गया है। इस पुल का शिलान्यास भी दिसंबर 2016 में प्रधानमंत्री मोदी ने किया था। आइए, जानते हैं इस पुल की खास बातें

  • अटल सेतु को बनाने में आई 17,840 करोड़ रुपए से अधिक की लागत।
  • अटल सेतु की लंबाई लगभग 21.8 किलोमीटर है।
  • 6-लेन वाला ये पुल 16.5 किमी लंबा समुद्र के ऊपर और लगभग 5.5 किमी जमीन पर बना है।
  • यह भारत का सबसे लंबा पुल है, जो देश का सबसे लंबा समुद्री पुल भी है।
  • मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे और नवी मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को जोड़ेगा।
  • मुंबई से पुणे, गोवा और दक्षिण भारत की यात्रा में लगने वाला समय बचेगा।
  • मुंबई बंदरगाह और जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह के बीच कनेक्टिविटी को बेहतर बनाएगा।

कई परियोजनाओं को शुरू करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ईस्टर्न फ्री-वे के ऑरेंज गेट को मरीन ड्राइव से जोड़ने वाली भूमिगत सड़क सुरंग की आधारशिला भी रखेंगे। प्रधानमंत्री रत्न और आभूषण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम में, एसईईपीजेड एसईजेड में ‘भारत रत्नम’ और न्यू एंटरप्राइजेज एंड सर्विसेज टॉवर (एनईएसटी) 01 का उद्घाटन करेंगे। रेल और पेयजल से संबंधित कई परियोजनाएँ राष्ट्र को समर्पित की जाएँगी। महिला सशक्तिकरण की दिशा के एक अन्य प्रयास में, प्रधानमंत्री महाराष्ट्र में नमो महिला सशक्तिकरण अभियान भी शुरू करेंगे।

राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन भी करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री 27वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन भी करेंगे। राष्ट्रीय युवा महोत्सव प्रत्येक वर्ष 12 से 16 जनवरी तक आयोजित किया जाता है। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानन्द की जयंती है। इस वर्ष इस महोत्सव की मेजबानी महाराष्ट्र कर रहा है। इस महोत्सव की थीम – विकसित भारत@2047 : ‘युवा के लिए, युवा के द्वारा’ है।

राष्ट्रीय युवा महोत्सव एक ऐसा मंच बनाना चाहता है जहाँ भारत के विभिन्न क्षेत्रों के युवा एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना में अपने अनुभव साझा कर सकें और एकजुट होकर राष्ट्र की नींव मजबूत कर सकें। पूरे देश से लगभग 7500 युवा प्रतिनिधि नासिक में आयोजित इस महोत्सव में भाग लेंगे। सांस्कृतिक प्रदर्शन, स्वदेशी खेल, भाषण और विषयगत आधारित प्रस्तुति, युवा कलाकार शिविर, पोस्टर मेकिंग, कहानी लेखन, युवा सम्मेलन, खाद्य महोत्सव आदि सहित विभिन्न कार्यक्रम इस महोत्सव के दौरान आयोजित किए जाएँगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -