Monday, May 20, 2024
Homeराजनीतिचिराग पासवान की माँ-बहन को गाली तेजस्वी यादव के लिए 'बात का बतंगड़', बोले...

चिराग पासवान की माँ-बहन को गाली तेजस्वी यादव के लिए ‘बात का बतंगड़’, बोले बिहार के डिप्टी CM- करेंगे कार्रवाई: चुनाव आयोग तक पहुँचा मामला

चिराग पासवान ने कहा- "मेरे मंच पर रहते अगर किसी ने राबड़ी देवी या मीसा भारती के बारे में ऐसी हरकत की होती तो उसे मुँहतोड़ जवाब मिलता। राबड़ी देवी मेरे लिए माँ और मीसा भारती बड़ी बहन हैं। उनके लिए वही सम्मान है जो मेरा मेरी माँ और बहन के लिए है। राजनीति बिलकुल अलग बात है।"

बिहार की लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान की माँ-बहन को पिछले दिनों तेजस्वी यादव की एक रैली में भद्दी-भद्दी गालियाँ दी गई थीं। उस समय तेजस्वी यादव मंच पर ही थे लेकिन उन्होंने इस पर कुछ नहीं कहा। अब ये मामला धीरे-धीरे बढ़ रहा है।लोजपा ने चुनाव आयोग में जाकर इस मामले में अपनी कंप्लेन दे दी है और मामले में एफआईआर दर्ज कराने की माँग की है। वहीं ऐसी गंदी गालियों के विरोध में लोग अपनी प्रतिक्रिया देकर सवाल उठा रहे हैं। चिराग पासवान ने भी इसपे प्रतिक्रिया दी है और तेजस्वी यादव ने भी अपनी सफाई दी है।

चिराग पासवान ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर तेजस्वी यादव को घेरा। उन्होंने कहा- “मेरे मंच पर रहते अगर किसी ने राबड़ी देवी या मीसा भारती के बारे में ऐसी हरकत की होती तो उसे मुँहतोड़ जवाब मिलता। राबड़ी देवी मेरे लिए माँ और मीसा भारती बड़ी बहन हैं। उनके लिए वही सम्मान है जो मेरा मेरी माँ और बहन के लिए है। राजनीति बिलकुल अलग बात है।”

चिराग पासवान ने इस घटना पर तेजस्वी के चुप रहने पर आश्चर्य जताया। उन्होंने कहा- “मेरी माँ-बहन को गाली दी जा रही थी और तेजस्वी यादव ने एक शब्द भी नहीं बोला। ताज्जुब है कि उनकी महिला प्रत्याशी तक ने इसका विरोध नहीं किया।”

चिराग पासवान की माँ को गाली दिए जाने के मामले में भाजपा की महिला नेत्रियों ने भी चुनाव आयोग के पास जाकर राजद कार्यकर्ताओं के विरुद्ध शिकायत दी है और साथ ही कड़ी कार्रवाई की माँग की है। उन्होंने तेजस्वी यादव पर भी मुकदमा दर्ज कराने को कहा है। इसी तरह भाजपा नेता संजय जायसवाल ने भी इसकी निंदा की है। उन्होंने कहा है कि राजद का ट्रैक रिकॉर्ड यही है।

वहीं नीतीश कुमार के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा ने भी राजद पर हमला बोला है। सम्राट चौधरी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि ऐसे लोगों पर चुन-चुन कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान दलितों के मसीहा के रूप में जाने जाते हैं। उनकी पत्नी और चिराग पासवान की माँ के बारे में अभद्र भाषा का प्रयोग कोई नहीं भूल सकता है। इंतजार करिए। इसमें मामले में कार्रवाई होगी, जिसने गाली दी है वो बचने नहीं जा रहा है। इसी तरह विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि ये सब राजद की कार्य संस्कृति है। यह उनकी मानसिकता और संस्कार को दर्शाता है।

बता दें कि चारों ओर से घिरने के बाद तेजस्वी यादव ने इस मामले में अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा, “मेरे पास भी वीडियो भेजी गई है। पब्लिक में शामिल कोई व्यक्ति यह काम कर रहा है और वीडियो बना रहा है। यह वीडियो पब्लिक में बनाया गया है और जिसकी मुझे कोई जानकारी नहीं मिली। मंच से तो गाली नहीं दी गई। हो सकता है कि मेरे बारे में ऐसा बोलता होगा। अभी चुनाव के समय में ऐसा करने का रिस्क वही लेगा जो बेवकूफ होगा। मै सुन लेता ऐसा उस समय तो बिलकुल बर्दाश्त नहीं करता। इस मामले को तूल देकर बेवजगह बात का बतंगड़ बनाया जा रहा है।”

वीडियो में क्या है?

जिस वायरल वीडियो पर विवाद है उसमें मंच पर पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भाषण देते हुए दिख रहे हैं। उनके बगल में जमुई से राजद की उम्मीदवार अर्चना रविदास खड़ी हैं। वही मंच पर एक और नेता मौजूद है, जिसे संबोधित करते हुए पार्टी के कार्यकर्ता नीचे से भोजपुरी में कहते हैं, “ऐ विजय भइया, तेजस्वी यादव के मइया चो% द।” फिर बार-बार चिराग पासवान की माँ को गाली दी जाती है। इतना ही नहीं, चिराग पासवान की बहन को भी इसी तरह की गालियाँ बकी जाती है। हालाँकि, हम इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करते हैं और अब तक ये पता नहीं चल पाया है कि ये कब का है।

सोशल मीडिया में लोगों ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कहा कि अभी अर्चना रविदास जीती नहीं हैं तो ये हाल है, अगर वो जीत गईं तब क्या होगा। राजद पर महिला विरोधी होने के आरोप लग रहे हैं। अर्चना रविदास रील्स बनाने के लिए भी जानी जाती हैं। बॉलीवुड गानों पर उनके कई रील वायरल हुए थे। बता दें कि तेजस्वी यादव शुक्रवार (12 अप्रैल, 2024) को अर्चना रविदास के लिए चुनाव प्रचार करने जमुई पहुँचे थे। वहीं इसके 4 दिन बाद मंगलवार को फिर से तेजस्वी यादव अपने गठबंधन साथी VIP के मुकेश सहनी के साथ जमुई पहुँचे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -