Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिमछुआरन ने तमिल में की राहुल गाँधी से शिकायत, कॉन्ग्रेसी CM नारायणसामी बोले- मेरी...

मछुआरन ने तमिल में की राहुल गाँधी से शिकायत, कॉन्ग्रेसी CM नारायणसामी बोले- मेरी तारीफ कर रही है

पुडुचेरी के मुख्यमंत्री ने खुद को एक विवेकशील नेता के रूप में चित्रित करने के लिए महिला के बयान को गलत तरीके से इस तरह पेश किया जैसे उन्होंने उनके कल्याण के लिए अथक प्रयास किए हों।

कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गाँधी को आज बुधवार (फरवरी 17, 2021) के दिन किसी और ने नहीं बल्कि पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने बेवकूफ बना दिया। दरअसल मछुआरा समुदाय के बीच बैठक के दौरान एक महिला द्वारा की गई शिकायत का उन्होंने गलत अनुवाद कर दिया।

कॉन्ग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी बुधवार को दो दिवसीय दौर पर पुडुचेरी पहुँचे। इस दौरान, पहले से ही अपनी सरकार बचाने का संकट झेल रहे कॉन्ग्रेसी मुख्यमंत्री वी नारायणसामी एक विवाद में उलझ गए। उन पर आरोप लग रहे हैं कि जब एक बुजुर्ग मछुआरन ने जब राहुल से उनकी शिकायत की तो नारायणसामी ने उसकी शिकायत का झूठा अनुवाद कर राहुल को बरगला दिया। उन्होंने महिला की शिकायतों का सही अनुवाद करने की जगह कथित तौर पर यह कह दिया कि वह तो उनकी और उनकी सरकार की तारीफ कर रही है। महिला का यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है।

तमिल में बात करते हुए, दर्शकों में से एक महिला ने कहा कि पुडुचेरी में जब चक्रवात आया था तो सत्तारूढ़ कॉन्ग्रेस सरकार ने लोगों की मदद नहीं की। चूँकि राहुल गाँधी तमिल समझने में सक्षम नहीं तो मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने इस मौके का फायदा उठाते हुए महिला की शिकायत को अपनी तारीफ में बदल दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला चक्रवात के समय उनके वहाँ भ्रमण करने और राहत सामग्री प्रदान करने की सराहना कर रही है।

हालाँकि, नारायणसामी राहुल गाँधी की आँखों में धूल झोंकने में सफल रहे, लेकिन यह सोशल मीडिया यूजर्स की नजरों से नहीं बच सका। तमिल जानने वाले सोशल मीडिया यूजर्स ने उनके झूठ को पकड़ लिया। करोड़ों सोशल मीडिया यूजर्स ने जोर देकर कहा कि पुडुचेरी के मुख्यमंत्री ने खुद को एक विवेकशील नेता के रूप में चित्रित करने के लिए महिला के बयान को गलत तरीके से इस तरह पेश किया जैसे उन्होंने उनके कल्याण के लिए अथक प्रयास किए हों।

महिला जाहिर तौर पर पिछले साल नवंबर माह में चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) के आने पर सत्तारुढ़ कॉन्ग्रेस द्वारा किसी भी तरह की सहायता न करने को लेकर शिकायत कर रही थी। महिला ने कहा कि मुख्यमंत्री उनसे मिलने नहीं आए। हालाँकि, मुख्यमंत्री ने उनकी शिकायत को यह कहते हुए अपने पक्ष में तब्दील कर लिया कि वह केंद्र शासित प्रदेश में चक्रवात आने के समय उनके द्वारा किए गए कामों की तारीफ कर रही है।

पुडुचेरी को चक्रवात निवार ने गंभीर रूप से प्रभावित किया था। पुडुचेरी में नवंबर, 2020 में हुई कुल हानि 400 करोड़ रुपए आँकी गई थी। चक्रवात की वजह से राज्य में भारी बारिश हुई। तमिलनाडु में कम से कम तीन लोग मारे गए, 1,000 से अधिक पेड़ उखड़ गए और कुछ निचले इलाकों में भारी बारिश के बाद जल-जमाव हो गया।

राजनीतिक संकट के बीच पुडुचेरी में राहुल गाँधी

पुडुचेरी में राजनीतिक संकट के बीच और चुनाव के दौरान, कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गाँधी केंद्र शासित प्रदेश में पार्टी के चुनाव अभियान को शुरू करने के लिए थे। अपने अभियान के एक हिस्से के रूप में, गाँधी ने एक बैठक में भाग लिया जहाँ उन्होंने मछुआरा समुदाय के साथ बातचीत की और बाद में छात्रों के साथ चर्चा की।

पुडुचेरी में हाल के दिनों में कॉन्ग्रेस विधायकों के इस्तीफे के बाद वहाँ की कॉन्ग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई है। ऐसा लग रहा है कि केंद्र शासित प्रदेश का राजनीतिक ड्रामा अप्रैल में होने वाले विधानसभा चुनावों तक यूँ ही चलता रहेगा। केंद्र सरकार ने उप-राज्यपाल किरण बेदी को अपने पद से हटा दिया है। उनकी जगह तेलंगाना की राज्यपाल तमिलसाई सुंदरराजन को पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

पुडुचेरी में कॉन्ग्रेस की सरकार अल्पमत में आ गई है क्योंकि पार्टी के एक विधायक ने इस्तीफा दे दिया है। मुख्यमंत्री वेलु नारायणसामी (Velu Narayanasamy) सरकार ने एक विधायक के जाने से बहुमत खो दिया है। विधायक ए जॉन कुमार ने मंगलवार (फरवरी 16, 2021) को विधानसभा से अपना इस्तीफा स्पीकर वीपी शिवाकोलुन्थु को सौंप दिया है। कॉन्ग्रेस यहाँ DMK (द्रविड़ मुनेत्र कड़गम) के साथ गठबंधन बना कर सत्ता में है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe