Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिपंजाब में BJP को कैप्टन अमरिंदर के अलावा एक और साथी मिला, तीन दलों...

पंजाब में BJP को कैप्टन अमरिंदर के अलावा एक और साथी मिला, तीन दलों के गठबंधन का ऐलान: सीट शेयरिंग के लिए संयुक्त समिति

सीट बँटवारे पर चर्चा के लिए तीनों दलों की एक संयुक्त समिति का गठन किया जाएगा। इसमें तीनों दलों के दो-दो नेता शामिल होंगे। तीनों दल मिल कर अपना संयुक्त घोषणापत्र जारी करेंगे।

भाजपा ने पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ‘पंजाब लोक कॉन्ग्रेस’ और सुखदेव सिंह ढींडसा की ‘शिरोमणि अकेले दल (संयुक्त)’ के साथ गठबंधन का ऐलान किया। जहाँ कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री रहे हैं, वहीं सुखदेव सिंह ढींडसा राज्यसभा के सदस्य रहे हैं। वो अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं और उनके बेटे परमिंदर सिंह ढींडसा भी पंजाब के वित्त मंत्री रहे हैं। 85 वर्षीय सुखदेव सिंह ढींडसा और 79 वर्षीय कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक की।

इस बैठक में पंजाब में भाजपा के चुनाव प्रभारी और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी मौजूद थे। हालाँकि, अभी तक सीट बँटवारे के आँकड़े का ऐलान नहीं हुआ है। मीडिया से बात करते हुए शेखावत ने गठबंधन की जानकारी दी। पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की नई दिल्ली स्थित आवास पर इन नेताओं की बैठक हुई। इसके बाद तीनों दलों के गठबंधन की आधिकारिक घोषणा हो गई। सीट बँटवारे पर चर्चा के लिए तीनों दलों की एक संयुक्त समिति का गठन किया जाएगा।

इसमें तीनों दलों के दो-दो नेता शामिल होंगे। तीनों दल मिल कर अपना संयुक्त घोषणापत्र जारी करेंगे। तीनों दलों ने पारंपरिक गठबंधन की जगह सीट शेयरिंग के फॉर्मूले पर चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। हर सीट पर विश्लेषण किया जाएगा कि कौन सा उम्मीदवार जीत की स्थिति में है। वहाँ से उसे टिकट मिलेगा और बाकी दो दल उसका समर्थन करेंगे। सीटों की संख्या की जगह जीत की संभावना को तरजीह दी जा रही है। शहरी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के ज्यादा उम्मीदवार रहेंगे।

पंजाब में विधानसभा की कुल 117 सीटें हैं, जिनमें से 40 सीटें शहर क्षेत्रों में आती हैं और भाजपा यहाँ अपने उम्मीदवार उतार सकती है। इस तरह अब पंजाब में पंचकोणीय मुकाबले के असर जताए जा रहे हैं, जिसमें इस गठबंधन के अलावा कॉन्ग्रेस, शिरोमणि अकाली दल (SAD) और आम आदमी पार्टी (AAP) के अलावा विभिन्न किसान संगठन भी मैदान में हैं। पंजाब में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। चंडीगढ़ में हुए स्थानीय निकाय चुनावों में पहले नंबर पर आने के बाद AAP उत्साहित है। भाजपा यहाँ दूसरे नंबर पर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -