Wednesday, April 14, 2021
Home बड़ी ख़बर राबड़ी देवी ने नाबालिग के साथ बलात्कार के दोषी विधायक की पत्नी के लिए...

राबड़ी देवी ने नाबालिग के साथ बलात्कार के दोषी विधायक की पत्नी के लिए माँगे वोट

यह कहना ग़लत नहीं होगा कि राबड़ी देवी ने रेप के दोषी राज बल्लभ की पत्नी के लिए वोट माँग कर अपनी ओछी और भद्दी राजनीति का प्रमाण दिया है।

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने रेप के दोषी राज बल्लभ की पत्नी के लिए चुनाव प्रचार करते हुए वोट माँगे। नवादा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राबड़ी देवी ने कहा, “सभी लोगों से मेरी अपील रहेगी कि जिस तरह राज बल्लभ यादव जी को ये लोग फंसाए और जेल भेजे, इससे यादवों को बदनाम किया गया है।”

राबड़ी देवी नवादा में RJD प्रत्याशी और नाबालिग से रेप मामले में दोषी करार दिए गए RJD विधायक राज बल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुँची थी, जहाँ उन्होंने सभा में मौजूद लोगों से विभा देवी को विजयी बनाने की अपील की। राबड़ी देवी ने न्यायालय के आदेश का मजाक उड़ाते हुए यह सिद्ध करने की कोशिश की कि यादव जाति के लोग बलात्कार जैसा कुकर्म कर ही नहीं सकते। जबकि बलात्कारी मानसिकता किसी भी समुदाय अथवा जाति के व्यक्ति में हो सकती है।

लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र राबड़ी देवी ने उम्मीदवारों के लिए प्रचार संबंधी कार्य करने का बीड़ा उठाया है और इसकी शुरूआत उन्होंने नवादा से की। विभा देवी के पक्ष में मतदान की अपील करने के अलावा राबड़ी के निशाने पर गिरिराज सिंह भी रहे। संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि गिरिराज सिंह नवादा छोड़कर भाग गए हैं। ऐसा राबड़ी देवी ने इसलिए कहा क्योंकि इस बार गिरिराज सिंह नवादा से नहीं बल्कि बेगुसराय से चुनाव लड़ रहे हैं।

RJD के निलंबित विधायक राज बल्लभ के बारे में बता दें कि पिछले साल दिसंबर में, पटना की एक अदालत ने 2016 में नाबालिग से बलात्कार के मामले में राज बल्लभ यादव और चार अन्य को दोषी ठहराया था। उन्हें भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (POCSO) के तहत दोषी ठहराया गया था।

यह मामला एक 15 वर्षीय छात्रा के साथ दुष्कर्म का था। बिहारशरीफ की रहने वाली छात्रा को उसकी पड़ोसी सुलेखा देवी यह कहकर अपने साथ ले गई थी कि उसे एक जन्मदिन की पार्टी में चलना है। छात्रा जब उसके साथ एक घर में पहुँची तो वहाँ कोई पार्टी नहीं चल रही थी। वहाँ विधायक राज बल्लभ मौजूद थे। ख़बर के अनुसार राज बल्लभ और सुलेखा ने एक साथ शराब पी और छात्रा को भी जबरन शराब पिलानी चाही। छात्रा ने इससे इनकार किया तो विधायक ने उसे एक पोर्न फ़िल्म दिखाते हुए कहा कि वह भी ऐसे ही करे जैसा फ़िल्म में चल रहा है। नाबालिग के साथ पूरी रात बलात्कार किया गया। यह कहना ग़लत नहीं होगा कि राबड़ी देवी ने रेप के दोषी राज बल्लभ की पत्नी के लिए वोट माँग कर अपनी ओछी और भद्दी राजनीति का प्रमाण दिया है।

भले ही राबड़ी देवी ने चुनावी मंच से अपने विरोधियों के ख़िलाफ़ बिगुल फूंका हो लेकिन रेप के दोषी राज बल्लभ के बचाव में बोले गए राबड़ी के शब्द सोशल मीडिया यूज़र्स को बिल्कुल नहीं भाए, लोगों ने खुलकर इसका विरोध किया। अपने ट्विटर हैंडल से लोगों ने राबड़ी के हिमायती रवैये की जमकर आलोचना की। एक यूज़र ने लिखा कि एक रेपिस्ट को पीड़ित के रूप में पेश किया जा रहा है, 21वीं सदी में भी हम इन दकियानूसी बातों पर यक़ीन करते रहे हैं? बिहारियों को जाति और धर्म से ऊपर ऊठकर लालू यादव को जवाब देना चाहिए, जोकि बिहार के पिछड़ेपन का सबसे बड़ा कारण है

एक अन्य ट्वीट में राबड़ी देवी के चुनावी प्रचार का जवाब यूज़र ने कुछ इस प्रकार अंदाज़ में  थे जिसमें उन्होंने लिखा, “राज भल्ला जी से जेल में हमारे लालू जी उनसे मिले थे, R@pe का ट्रेनिंग वहीं से लिया था उन्होंने। हमारे लालू रग यादवों को शिक्षित करने में जुटे रहते हैं हमेशा, चाहे जेल में ही क्यूँ न हो”।

राबड़ी देवी के बिगड़े बोल पर किसी ने कहा कि ये नया भारत है अब जात-पात की राजनीति से काम नहीं चलेगा, तो किसी ने लिखा कि आज देश सचमुच बदल रहा है जो 72,000 में भी नहीं बिक रहा है।

दोषी के बचाव में खड़ी राबड़ी के इस प्रकार के व्यवहार पर दु:ख जताया औऱ ख़ुद के बिहारी और यादव होने पर रोष भी व्यक्त किया।

रेप के मामले में दोषी करार दिए जाने वाले राज बल्लभ के प्रति राबड़ी देवी के सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार को एक यूज़र ने शर्मिंदगी भरा करार दिया। साथ ही महिला होने के नाते रेप पीड़िता के प्रति असंवेदनशील व्यवहार निंदनीय लगा। इस पर भी लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज की।

यादवों को फँसाए और बदनाम किए जाने वाली राबड़ी की बात पर भी करार जवाब दिया गया जिसमें यूज़र ने लिखा कि लालू यादव से ज़्यादा शायद ही किसी ने यादवों को बदनाम किया हो।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

7000 वाली मस्जिद में सिर्फ 50 लोग नमाज पढ़ेंगे… प्लीज अनुमति दीजिए: बॉम्बे HC का फैसला – ‘नहीं’

"हम किसी भी धर्म के लिए अपवाद नहीं बना सकते, खासकर इस 15-दिन की प्रतिबंध अवधि में। हम इस स्तर पर जोखिम नहीं उठा सकते।"

CBSE 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द, मनीष सिसोदिया ने कहा-12वीं के छात्र भी प्रमोट हों

कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए सरकार ने CBSE की 10वीं बोर्ड की परीक्षाओं को इस साल निरस्त कर दिया है, वहीं 12वीं की परीक्षा...

‘कल के कायर आज के मुस्लिम’: यति नरसिंहानंद को गाली देती भीड़ को हिन्दुओं ने ऐसे दिया जवाब

यमुनानगर में माइक लेकर भड़काऊ बयानबाजी करती भीड़ को पीछे हटना पड़ा। जानिए हिन्दू कार्यकर्ताओं ने कैसे किया प्रतिकार?

‘1 लाख का धर्मांतरण, 50000 गाँव, 25 साल के बराबर चर्च बने’: भारत में कोरोना से खूब फले ईसाई मिशनरी

ईसाई संस्था के CEO डेविड रीव्स का कहना है कि हर चर्च को 10 गाँवों में प्रार्थना आयोजित करने को कहा गया। जैसे-जैसे पाबंदियाँ हटीं, मिशनरी उन क्षेत्रों में सक्रिय होते चले गए।

14 सिम कार्ड, 1 व्हाट्सएप कॉल और मुंबई की बार डांसर… ATS ने कुछ यूँ सुलझाया मनसुख हिरेन की हत्या का मामला

एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन मर्डर की गुत्थी सुलझने में एक बार डांसर की अहम भूमिका रही। उसकी वजह से ही सारे तार आपस में जुड़े।

मुंबई में हो क्या रहा है! बिना टेस्ट ₹300 में कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट, ₹10000 देकर क्वारंटाइन से मिल जाती है छुट्टी: रिपोर्ट

मिड डे ने मुंबई में कोरोना की आड़ में चल रहे एक और भ्रष्टाचार को उजागर किया है। बिना टेस्ट पैसे लेकर RT-PCR नेगेटिव रिपोर्ट मुहैया कराई जा रही है।

प्रचलित ख़बरें

‘हमें बार-बार जाना पड़ता है, वो वॉशरूम कब जाती हैं’: साक्षी जोशी का PK से सवाल- क्या है ममता बनर्जी का टॉयलेट शेड्यूल

क्लबहाउस पर बातचीत में ‘स्वतंत्र पत्रकार’ साक्षी जोशी ने ममता बनर्जी की शौचालय की दिनचर्या के बारे में उनके चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से पूछताछ की।

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

जहाँ खालिस्तानी प्रोपेगेंडाबाज, वहीं मन की बात: क्लबहाउस पर पंजाब का ठेका तो कंफर्म नहीं कर रहे थे प्रशांत किशोर

क्लबहाउस पर प्रशांत किशोर का होना क्या किसी विस्तृत योजना का हिस्सा था? क्या वे पंजाब के अपने असायनमेंट को कंफर्म कर रहे थे?

भाई ने कर ली आत्महत्या, परिवार ने 10 दिनों तक छिपाई बात: IPL के ग्राउंड में चमका टेम्पो ड्राइवर का बेटा, सहवाग भी हुए...

IPL की नीलामी में चेतन सकारिया को अच्छी खबर तो मिली, लेकिन इससे तीन सप्ताह पहले ही उनके छोटे भाई ने आत्महत्या कर ली थी।

रूस का S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम और US नेवी का भारत में घुसना: ड्रैगन पर लगाम के लिए भारत को साधनी होगी दोधारी नीति

9 अप्रैल को भारत के EEZ में अमेरिका का सातवाँ बेड़ा घुस आया। देखने में जितना आसान है, इसका कूटनीतिक लक्ष्य उतनी ही कॉम्प्लेक्स!

पहले कमल के साथ चाकूबाजी, अगले दिन मुस्लिम इलाके में एक और हिंदू पर हमला: छबड़ा में गुर्जर थे निशाने पर

राजस्थान के छबड़ा में हिंसा क्यों? कमल के साथ फरीद, आबिद और समीर की चाकूबाजी के अगले दिन क्या हुआ? बैंसला ने ऑपइंडिया को सब कुछ बताया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,197FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe