राहुल ने केजरी को कहा ‘U-Turn’ तो केजरी ने उन्हें बताया ‘दिखावटी’, Twitter पर रगड़े-झगड़े

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल गाँधी दिखावा और बयानबाज़ी कर रहे हैं। उन्होंने राहुल गाँधी पर यूपी सहित अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँटने का आरोप लगाया।

दिल्ली में गठबंधन का रार थमता नज़र नहीं आ रहा है। कभी ख़बर आती है कि डील फाइनल हो चुकी है तो कभी समाचार मिलता है कि बातचीत बंद हो गई है। कभी ख़बर आती है कि बंद दरवाजों में बातचीत शुरू हो गई है तो कभी सूचना मिलती है कि बात नहीं बन सकी। कभी अरविन्द केजरीवाल ट्वीट कर राहुल गाँधी को नसीहत देते हैं तो कभी शीला दीक्षित मीडिया में आकर केजरीवाल की बढ़ी हुई माँगों के कारण उन्हें घेरती हैं। अब गठबंधन का ये रार पूरी तरह ट्विटर पर उतर आया है। दोनों पार्टी के बीच ट्विटर पर ही तू-तू, मैं-मैं शुरू हो चुका है। इसमें कुछ पत्रकार और अन्य नेतागण भी मज़े ले रहे हैं। इन दोनों के रगड़े में यूजर्स के तो मज़े ही मज़े हैं।

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर कहा कि अरविन्द केजरीवाल ने फिर से यू-टर्न लिया है। उन्होंने लिखा कि दिल्ली में आप-कॉन्ग्रेस गठबंधन का सीधा परिणाम यह होगा कि भाजपा की कड़ी हार हो जाएगी। उन्होंने अपनी पार्टी के ‘त्याग’ का जिक्र करते हुए लिखा कि कॉन्ग्रेस आप को 4 सीटें देने को राजी है लेकिन आप नहीं मान रही। केजरीवाल के यू-टर्न का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि गठबंधन के लिए उनके दरवाजे खुले हैं लेकिन समय तेज़ी से आगे बढ़ रहा है।

राहुल गाँधी के इस बयान पर मोदी-शाह नामक ‘ख़तरे’ का जिक्र करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल गाँधी दिखावा और बयानबाज़ी कर रहे हैं। उन्होंने राहुल गाँधी पर यूपी सहित अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँटने का आरोप लगाया। इसके बाद आम आदमी पार्टी छोड़ चुके आशुतोष का भी दर्द छलक आया और उन्होंने मोदी-शाह को हराने के लिए दिल्ली पर बातचीत करने और हरियाणा तथा चडीगढ़ को बिना लिंक किए बातचीत करने की सलाह दी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ट्विटर यूजर्स ने इस बीच जम कर मज़े लिए। एक यूजर ने लिखा कि अगर कॉन्ग्रेस ज्यादा दिमाग चला लेती तो ये लोग साढ़े-साढ़े तीन सीटों पर भी समझौता कर सकते थे।

एक अन्य यूजर ने आशुतोष की रोती हुई फोटो शेयर कर के उनके हवाले से लिखा कि गठबंधन कर लो वरना मोदीजी जीत जाएँगे। बाद में किसी ने उस पर रिप्लाई किया कि आशुतोष तो न अब पत्रकार रहे और न नेता।

फिलहाल आप-कॉन्ग्रेस गठबंधन पर राजनीतिक पंडित तरह-तरह के आकलन लगा रहे हैं लेकिन अभी तक बात बनती दिख नहीं रही। हाल ही में अरविन्द केजरीवाल ने कहा था कि वो इस गठबंधन के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: