Tuesday, October 19, 2021
HomeराजनीतिRaGA हमारे लीडर हैं क्योंकि सब उन्हीं पर करते हैं हमला, सलमान खुर्शीद ने...

RaGA हमारे लीडर हैं क्योंकि सब उन्हीं पर करते हैं हमला, सलमान खुर्शीद ने बताया गाँधी परिवार को पार्टी का आधार

सलमान खुर्शीद ने कहा कि कॉन्ग्रेस ‘संक्रमणकालीन प्रक्रिया’ से गुजर रही है और राहुल को यह निर्णय अपने हिसाब से करने देना चाहिए। साथ ही सलमान खुर्शीद ने यह भी कहा कि पार्टी में नेतृत्व का कोई संकट नहीं है क्योंकि सोनिया गाँधी कमान संभाल रही हैं।

एक लम्बे अरसे से कॉन्ग्रेस में अध्यक्ष पद और पार्टी में राहुल गाँधी के रोल को लेकर चर्चा बंद थीं। लेकिन हर चुनाव नतीजे के बाद यह कॉन्ग्रेस द्वारा नियमित रूप से दोहराए जाने वाली बात बनती जा रही है। यह भी देखा गया है कि जब भी राहुल गाँधी को पार्टी में फिर से कोई बड़ी जिम्मेदारी देने की बात आती है तो देश की सबसे पुरानी पार्टी कॉन्ग्रेस का कोई वरिष्ठ नेता ही पहल करते हुए देखा जाता है। इस बार यह पहल सलमान खुर्शीद ने की है।

कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने शनिवार (फरवरी 22, 2020) को कहा है कि कॉन्ग्रेस पार्टी में एक बड़ा धड़ा हमेशा महसूस करता है कि राहुल गाँधी को पार्टी का अध्यक्ष बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह शीर्ष नेता हैं। यह पूछे जाने पर कि गाँधी परिवार अब भी कॉन्ग्रेस का आधार है? तो उन्होंने कहा कि सच्चाई यही है, जिससे आप हट नहीं सकते हैं।

एक इंटरव्यू के दौरान सलमान खुर्शीद ने कहा कि कॉन्ग्रेस ‘संक्रमणकालीन प्रक्रिया’ से गुजर रही है और राहुल को यह निर्णय अपने हिसाब से करने देना चाहिए। साथ ही सलमान खुर्शीद ने यह भी कहा कि पार्टी में नेतृत्व का कोई संकट नहीं है क्योंकि सोनिया गाँधी कमान संभाल रही हैं।

सलमान खुर्शीद का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब कॉन्ग्रेस के ही कुछ अन्य बड़े नेता नेतृत्व के मुद्दे पर बात करते देखे जा रहे हैं। शशि थरूर ने भी बृहस्पतिवार को कॉन्ग्रेस कार्य समिति से ‘कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने और मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए’ नेतृत्व का चुनाव कराने का आग्रह किया था।

इससे पूर्व दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पुत्र और कॉन्ग्रेस के पूर्व सांसद संदीप दीक्षित भी एक इंटरव्यू में कहते देखे गए कि इतने महीनों के बाद भी कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता नया अध्यक्ष नहीं नियुक्त कर सके हैं।

पार्टी नेतृत्व पर शशि थरूर और अन्य नेताओं के दृष्टिकोण के बारे में पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा, ‘‘हमने अतीत में चुनाव कराया था। हमारे पास ऐसे भी लोग हैं जो कहते हैं कि जरूरी नहीं कि चुनाव बेहतर विकल्प हों। दो तरह के विचार हैं। जब हम उस बिंदू पर पहुँचेंगे, तब हम इस बारे में तय कर लेंगे।’’

उन्होंने कहा कि ऐसे मसलों पर मीडिया में बातचीत करने से कॉन्ग्रेस को मदद नहीं मिलेगी। खुर्शीद से जब यह सवाल किया गया कि क्या राहुल गाँधी पार्टी का नेतृत्व करने के लिए सबसे बेहतर उम्मीदवार हैं? तो उन्होंने जवाब में कहा, ‘‘हम सबने ऐसा कहा है। अब यह पत्थर की लकीर है, यह स्पष्ट है। लेकिन अगर हम उन्हें अपना नेता स्वीकार करते हैं तो इसका निर्णय उन्हें अपने हिसाब से करने दें। हम उन पर अपना विचार क्यों थोपना चाहते हैं?’’

खुर्शीद ने कहा कि अगर आपको विश्वास है कि राहुल गाँधी एक नेता हैं तो आपको कुछ निर्णय उन पर ही छोड़ने होंगे। चुनावों में मिल रही हार के विषय पर खुर्शीद ने कहा कि उन पर समय मत थोपिए, निर्णय उन पर नहीं थोपना चाहिए, उन्हें निर्णय करने दीजिए।

उन्होंने कहा कि वह (राहुल गाँधी) शीर्ष नेता है और कोई शीर्ष नेता नहीं है। लेकिन कई और नेता हैं जिनका अपना महत्व है।’’ इसके लिए खुर्शीद ने तर्क देते हुए कहा कि चूँकि कॉन्ग्रेस का विरोध करने वाले दल लगातार किसी अन्य नेता के मुकाबले राहुल गाँधी पर ही ज्यादा हमला करते हैं इससे यही साबित होता है कि वह शीर्ष नेता हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान हारे भी न और टीम इंडिया गँवा दे 2 अंक: खुद को ‘देशभक्त’ साबित करने में लगे नेता, भूले यह विश्व कप है-द्विपक्षीय...

सृजिकल स्ट्राइक का सबूत माँगने वाले और मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगवाने वाले भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच रद्द कराने की माँग कर 'देशभक्त' बन जाएँगे?

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe