Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीति'जेल में हनुमान चालीसा पढ़ें राणा दंपति': संजय राउत का तंज, सर्वदलीय बैठक में...

‘जेल में हनुमान चालीसा पढ़ें राणा दंपति’: संजय राउत का तंज, सर्वदलीय बैठक में नहीं जाएँगे राज ठाकरे, PM आवास के बाहर बैठना चाहती हैं NCP नेता

NCP की नेता फहमीदा हसन खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर हनुमान चालीसा और अजान पढ़ने की अनुमति के लिए अमित शाह को पत्र लिखा है।

महाराष्ट्र में मस्जिदों में लाउडस्पीकर से होने वाले अजान के खिलाफ चल रहे विवाद गहराता ही जा रहा है। राज्य में ‘महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS)’ के संस्थापक राज ठाकरे ने ऐलान किया था कि उनके कार्यकर्ता लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे। इसके बाद हिन्दुओं की धर-पकड़ शुरू हो गई। अमरावती से सांसद पूर्व अभिनेत्री नवनीत कौर राणा और उनके पति बडनेरा से विधायक रवि राणा को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, क्योंकि उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निवास ‘मातोश्री’ के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने का निर्णय लिया था।

अब लाउडस्पीकर विवाद को सुलझाने के लिए महाराष्ट्र की MVA (महा विकास अघाड़ी) सरकार ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है। हालाँकि, राज ठाकरे की तरफ से साफ़ कर दिया गया है कि वो इस बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे। MNS की तरफ से इस बैठक में संदीप देशपांडे, बाला नंदगाँवकर और नितिन सरदेसाई बैठक में उपस्थित रहेंगे। लाउडस्पीकर विवाद के बीच कानून-व्यवस्था की बात करने के लिए ये बैठक राज्य के गृह मंत्री और NCP नेता दिलीप वलसे ने बुलाई है।

राज ठाकरे ने मुस्लिमों से मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का आग्रह करते हुए समझाया था कि मजहब देश और कानून से ऊपर नहीं है। उन्होंने कहा था कि हम दंगे नहीं चाहते, नमाज के खिलाफ भी नहीं हैं, लेकिन देश की सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारे जाने चाहिए। उन्होंने लाउडस्पीकर के जवाब में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की चेतावनी भी दी थी। दबाव में आकर उद्धव ठाकरे की सरकार ने लाउडस्पीकर को लेकर अदालत के आदेश के पालन की बात कही और इसके इस्तेमाल के लिए प्रशासनिक अनुमति को अनिवार्य कर दिया।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस भी हिस्सा नहीं लेंगे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इस बैठक में नहीं रहेंगे। उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार इस बैठक की अध्यक्षता करेंगे। वहीं राणा दंपति को लेकर शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ ने लिखा है कि उन्हें लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़नी चाहिए। जहाँ नवनीत राणा को बाइकुला जेल में रखा गया है, उनके पति रवि राणा नवीं मुंबई के तलोजा जेल में हैं।

शिवसेना के प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद संजय राउत ने इसे राज्य को अस्थिर करने की साजिश बताते हुए तंज कसा कि अब राणा दंपति जेल में ही हनुमान चालीसा पढ़ें। इस कार्रवाई के खिलाफ नवनीत कौर और रवि राणा ने बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख किया है। उन्होंने अपनी याचिका में माँग की है कि उनके खिलाफ दर्ज FIR रद्द किए जाएँ। दोनों 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में हैं। राणा दंपति के घर के बाहर उपद्रव करने वाले 16 शिवसेना कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन अब खार थाने की पुलिस ने उन सभी को छोड़ दिया है।

उधर NCP की नेता फहमीदा हसन खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर हनुमान चालीसा और अजान पढ़ने की अनुमति के लिए अमित शाह को पत्र लिखा है। मुंबई उत्तर में पार्टी की जिला कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि वो पीएम आवास के बाहर नमाज, हनुमान चालीसा, नवकार मंत्र, गुरु ग्रन्थ साहिब और नोविनो (ईसाई प्रार्थना) पढ़ना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि अगर हिंदुत्व और जैन धर्म से देश में बेरोजगारी, भूखमरी और महँगाई घटती है तो वो ख़ुशी से ऐसा करेंगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -