Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिबारां की नाबालिग लड़कियों ने कैमरे पर बताया- उनके साथ 3 दिनों तक हुआ...

बारां की नाबालिग लड़कियों ने कैमरे पर बताया- उनके साथ 3 दिनों तक हुआ रेप, CM गहलोत ने कहा- ‘नहीं हुई जबरदस्ती’

पीड़िताओं के बयान के बावजूद, राजस्थान के सीएम और कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने ट्विटर पर दावा किया कि नाबालिग लड़कियों के साथ किसी भी प्रकार की 'जबरदस्ती' नहीं की गई है।

राजस्थान के बारां से कल 13 और 15 वर्षीय दो नाबालिग लड़कियों के साथ हुए बलात्कार की घटना सामने आई थी। कथिततौर पर लड़कियों को अगवा कर कोटा, जयपुर और अजमेर ले जाया गया और तीन दिनों तक उनके साथ बलात्कार किया गया था। अपने साथ हुए इस घिनौने अपराध को उन्होंने कमरे पर भी बताते हुए कहा था कि दो लड़कों द्वारा उनका अपहरण किया गया और नशीली दवाइयाँ देकर तीन दिन तक बलात्कार किया गया।

पीड़िताओं के बयान के बावजूद, राजस्थान के सीएम और कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने ट्विटर पर दावा किया कि नाबालिग लड़कियों के साथ किसी भी प्रकार की ‘जबरदस्ती’ नहीं की गई है।

ट्विटर पर उन्होंने दावा किया, “बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के तहत बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने एवं स्वयं की मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही। बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया एवं अनुसन्धान में सामने आया कि लड़के भी नाबालिग हैं, जाँच आगे भी जारी रहेगी।”

खबरों के मुताबिक, राजस्थान पुलिस ने भी सामूहिक दुष्कर्म के आरोपों से इनकार किया है। कथिततौर पर एक पुलिस वाले ने कहा है कि लड़कियों ने अपने बयान में बलात्कार के आरोप से इनकार किया। हालाँकि, दोनों नाबालिग लड़कियों के परिवार ने आरोप लगाया है कि उन्हें धमकी देकर डराया धमकाया गया था, ताकि वे आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज न करवायें।

गौरतलब है कि कल हमनें आपको बताया था कि पीड़िताओं के पिता ने पुलिस से अपने बच्चियों के साथ हुए अपराध को लेकर न्याय की माँग की थी। अगवा की गई लड़कियों से जब पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ की तो पुलिस के सामने ही उन्हें जान से मारने की धमकी की गई थी। जिस वजह से वह अपने ऊपर हुए जुर्म के बारे में नहीं बता सकी थी।

नाबालिग लड़कियों के पिता ने पुलिस को बताया था कि दो नाबालिग आरोपित 18 सितंबर की रात को बहला फुसला कर उनकी बेटियों को भगा ले गए थे। पिता के आरोप के अनुसार, अगवा करने के बाद उन्हें अजमेर, कोटा और जयपुर ले जाकर तीन दिनों तक लगातार उनका बलात्कार किया गया। दोनों लड़कियों को 21 सितंबर को कोटा से बरामद किया गया था।

एक तरह जहाँ दोनों नाबालिग कैमरे पर नशीला पदार्थ पिलाकर सामूहिक बलात्कार करने की बात स्वीकार की। वहीं इस मामले में पुलिस और सीएम अशोक गहलोत का दावा है कि नाबालिग लड़कियों ने अपने बयान में बलात्कार के आरोपों से इनकार किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,042FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe