Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिपूर्व केंद्रीय मंत्री, पहली बार का विधायक और चुनाव में उतरा प्रत्याशी... देखिए राजस्थान...

पूर्व केंद्रीय मंत्री, पहली बार का विधायक और चुनाव में उतरा प्रत्याशी… देखिए राजस्थान मंत्रिमंडल में किस-किस को मिली जगह, 22 नेताओं ने ली शपथ

भजनलाल की कैबिनेट में वरिष्ठ नेता किरोड़ी लाल मीणा और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर को जगह दी गई। उधर जनजातीय समाज से आने वाले बाबू लाल खराड़ी ने भी मंत्रिमंडल में शामिल हैं।

राजस्थान में 15 दिनों के गहन मंथन के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया। राजस्थान में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के मंत्रिमंडल का विस्तार शनिवार (30 दिसंबर, 2023) को आखिरकार हो गया है। राजधानी जयपुर में राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन हुआ।

इसमें 12 विधायकों ने कैबिनेट मंत्री की शपथ ली। इसके साथ ही पाँच मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और पाँच राज्यमंत्री बनाए गए। कैबिनेट में जगह पाने वालों में किरोड़ी लाल मीणा, पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और पहली बार विधायक बने हेमंत मीणा भी शामिल हैं।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने सभी मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर सीएम भजनलाल शर्मा, डिप्टी सीएम दीया कुमारी और प्रेमचंद भैरवा भी मौजूद रहे। शपथ ग्रहण समारोह शनिवार दोपहर 3:15 बजे शुरू हुआ।

बताते चलें कि तीन राज्यों में नई सरकार बनने के बाद मंत्रिमंडल बनाने में सबसे अधिक वक्त इस राज्य में ही लगा। राजस्थान में 12 दिसंबर, 2023 को भजन लाल शर्मा को सीएम बनाया गया था तो दिया कुमारी और प्रेमचंद बैरवा को डिप्टी सीएम बनाया गया था।

इसके बाद सीएम शर्मा अपने मंत्रिमंडल में विस्तार को लेकर मंथन में लगे थे। अब उनके मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है। यहाँ हम उनकी कैबिनेट के कैबिनेट मंत्रियों और मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और पाँच राज्यमंत्री के नाम के बारे में बताते हैं।

फोटो साभार: X हैंडल/@BJP4Rajasthan

इन 12 कैबिनेट मंत्री हैं बनाए गए

भजनलाल की कैबिनेट में वरिष्ठ नेता किरोड़ी लाल मीणा और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर को जगह दी गई। उधर जनजातीय समाज से आने वाले बाबू लाल खराड़ी ने भी मंत्रिमंडल में शामिल हैं। उनके अलावा कैबिनेट में चार ओबीसी मंत्री जोगाराम पटेल, सुरेश सिंह रावत, अविनाश गहलोत, ज़ोराराम कुमावत को भी जगह मिली है।

सीएम भजनलाल की कैबिनेट में जाट कैटेगिरी से कन्हैया लाल चौधरी और सुमित गोदारा को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वहीं SC समाज से मदन दिलावर तो ST समुदाय से हेमंत मीणा मंत्री बने। हेमंत मीणा पहली बार विधायक बने हैं। बताते चलें कि वो उदयपुर संभाग के प्रतापगढ़ जिले के मशहूर नेता और पूर्व मंत्री नंदलाल मीणा के पुत्र हैं।

मंत्रिमंडल विस्तार में एक महिला मंत्री भी

राजस्थान के सीएम भजनलाल शर्मा की कैबिनेट विस्तार में शामिल हुए 22 मंत्रियों में एक महिला मंत्री भी बनाई गई है। इनका नाम डॉ मंजु वाघमार हैं। इन्हें राज्यमंत्री बनाया गया है। इनके अलावा ओटा राम देवासी (ओबीसी), विजय सिंह चौधरी (जाट), के के बिश्नोई (विश्नोई) और जवाहर सिंह बैडम (गुर्जर) को राज्यमंत्री बनाया गया है।

राजस्थान में स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्रियों में संजय शर्मा (ब्राह्मण), गौतम कुमार, झाबर सिंह खर्रा (जाट), सुरेंद्र पाल सिंह और हीरा लाल नागर शामिल है। इनमें स्वतंत्र प्रभार मंत्री बनाए गए सुरेंद्र पाल ने अभी चुनाव नहीं जीता है। वह करणपुर सीट से बीजेपी उम्मीदवार हैं और इस सीट पर 5 जनवरी,2024 को उपचुनाव होना है।

115 सीटों जीती थीं बीजेपी

बताते चलें कि राजस्थान विधानसभा चुनावों में राज्य की 200 में से 199 सीटों पर वोट पड़े थे। इनमें बीजेपी 115 सीट जीती थी। वहीं कॉन्ग्रेस को महज 69 सीटें ही मिलीं थी। यहाँ एक सीट पर उम्मीदवार के मौत की वजह से चुनाव टाल दिया गया था।

बीजेपी ने पहली बार विधायक बने भजनलाल शर्मा को राज्य का सीएम बना हैरान किया था। शर्मा ने 15 दिसंबर, 2023 को सीएम पद की शपथ ली थी। उनके साथ दो डिप्टी सीएम दीया कुमारी और प्रेमचंद बैरवा ने भी शपथ दिलवाई गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -