Sunday, September 19, 2021
Homeराजनीति6 महीने बाद रिहा हुए सज्जाद लोन, PDP नेता वाहीन: उमर-महबूबा-फारुक अब भी हिरासत...

6 महीने बाद रिहा हुए सज्जाद लोन, PDP नेता वाहीन: उमर-महबूबा-फारुक अब भी हिरासत में

अधिकारियों ने बताया कि लोन और पारा की रिहाई के बाद अब कुल 13 नेता एहतियातन हिरासत में एमएलए हॉस्टल में बंद हैं। हॉस्टल को फिलहाल अस्थाई उप-कारागार में तब्दील कर दिया गया है।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 निष्क्रिय होने के बाद एहतियातन हिरासत में रखे गए नेताओं को अब धीरे-धीरे रिहा किया जा रहा है। इसी क्रम में आज यानी बुधवार को पिपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद लोन और पीडीपी नेता वाहीन पारा को पूरे 6 महीने बाद एमएलए हॉस्टल से मुक्त कर दिया गया। दोनों नेताओं को अब हाउस अरेस्ट में रखा जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि लोन और पारा की रिहाई के बाद अब कुल 13 नेता एहतियातन हिरासत में एमएलए हॉस्टल में बंद हैं। हॉस्टल को फिलहाल अस्थाई उप-कारागार में तब्दील कर दिया गया है।

इससे पहले मंगलवार को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने दक्षिण कश्मीर में वाची से पीडीपी के पूर्व विधायक एजाज अहमद मीर और व्यापारियों के नेता शकील अहमद कलंदर को रिहा किया था। कलंदर फेडरेशन चेम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज, कश्मीर के अध्यक्ष थे। इसके अलावा इससे पहले चार अन्य नेता भी रिहा हुए थे।

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त किए जाने और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों ‘जम्मू-कश्मीर और लद्दाख’ में बाँटे जाने के बाद यहाँ के तमाम नेताओं, कार्यकर्ताओं और व्यापारी नेताओं को हिरासत में लिया गया था। इनमें से समय के साथ कईयों को रिहा कर दिया गया था और बाकियों को रिहा करने की प्रक्रिया जारी है। यहाँ बता दें, कई नेताओं की रिहाई के बाद भी, अभी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला तथा पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती हिरासत में ही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पंजाब के बाद राजस्थान में फँसी कॉन्ग्रेस: सचिन पायलट दिल्ली में, CM अशोक गहलोत के OSD का इस्तीफा

इस्तीफे की वजह लोकेश शर्मा द्वारा किया गया एक ट्वीट बताया जा रहा है जिसके बाद कयासों का नया दौर शुरू हो गया था और उनके ट्वीट को पंजाब के घटनाक्रम के साथ भी जोड़कर देखा जाने लगा था।

‘आई एम सॉरी अमरिंदर’: इस्तीफे से पहले सोनिया गाँधी ने कैप्टेन से किया किनारा, जानिए क्या हुई फोन पर आखिरी बातचीत

"बिना मुझसे पूछे विधायक दल की मीटिंग बुला ली गई, जिसके बाद सुबह सवा दस के करीब मैंने कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गाँधी को फोन किया था और मैंने उन्हें कहा कि..."

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,150FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe