Saturday, June 15, 2024
Homeराजनीति88 में से 87 मामलों में सपा सांसद आज़म खान को मिली जमानत, नए...

88 में से 87 मामलों में सपा सांसद आज़म खान को मिली जमानत, नए केस पर 19 मई को सुनवाई: अखिलेश यादव से चल रही तनातनी

उन पर ये आरोप था कि आजम खान ने रामपुर पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग के फर्जी सर्टिफिकेट बनवाकर मान्यता हासिल की थी। ये इकलौता केस है, जिस पर अभी तक कोर्ट ने सुनवाई नहीं की है।

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता और सांसद आजम खान (Azam Khan) को इलाहाबाद हाई कोर्ट (Allahabad High court) ने मंगलवार (10 मई, 2022) को बड़ी राहत देते हुए उन्हें जमानत दे दी। सपा नेता को उनके खिलाफ चल रहे कुल 88 मामलों में से 87 केस में जमानत मिल गई है। सपा नेता की जमानत पर फैसला इलाहाबाद हाई कोर्ट के जस्टिस राहुल चतुर्वेदी की सिंगल बेंच ने सुनाया। हालाँकि, एक अन्य मामले में उनकी जमानत नहीं हो सकी है।

मंगलवार को उन्हें राजस्व रिकॉर्ड में वक्फ की संपत्तियों को अपने स्वामित्व वाले विश्वविद्यालय के तौर पर दिखाने के मामले में कोर्ट ने जमानत दे दी। इस मामले में उनके खिलाफ साल 2019 में लखनऊ की पत्रकार अल्लामा जमीर नकवी ने केस दर्ज कराया था। बाद में इसे रामपुर स्थानांतरित कर कर दिया गया। वो पिछले दो साल से सीतापुर जेल में बंद हैं। उल्लेखनीय है कि हाल ही में बीजेपी के नेता आकाश सक्सेना ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।

उन पर ये आरोप था कि आजम खान ने रामपुर पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग के फर्जी सर्टिफिकेट बनवाकर मान्यता हासिल की थी। ये इकलौता केस है, जिस पर अभी तक कोर्ट ने सुनवाई नहीं की है। ऐसे में आजम खान का बहर आना भी मुश्किल है।

उल्लेखनीय है कि आजम खान पर चल रहे नए केस में 19 मई, 2022 को रामपुर कोर्ट में सुनवाई प्रस्तावित है। हालाँकि, जमानत मिलेगी या वो जेल ही हवा खाएँगें ये वक्त ही बताएगा। लेकिन अखिलेश और आजम खान के बीच की दूरियाँ जरूर जाहिर हो रही हैं। उनके मीडिया सलाहकार फसाहत अली का आरोप है कि अखिलेश यादव खुद ही नहीं चाहते कि आजम खान जेल से बाहर न आने पाएँ।

वो (आजम खान) फरवरी 2020 से जेल में बंद हैं। इलाहाबाद हाई कोर्ट में उनकी जमानत याचिका करीब 5 महीने से लंबित थी, जिसको लेकर पिछले दिनों सर्वोच्च अदालत ने नाराजगी जाहिर की थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पटना में परीक्षा से पहले अभ्यर्थियों को दिए गए थे प्रश्न-पत्र, गुजरात को गोधरा में बेच डाला NEET का परीक्षा केंद्र: गुजरात पुलिस ने...

गुजरात के गोधरा में परीक्षा केंद्र के लिए 10 लाख रुपए रिश्वत लेने के आरोप में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।

जाकिर और शाकिर ने रात के अंधेरे में जगन्नाथ मंदिर में फेंका गाय का कटा सिर: रतलाम में हंगामे के बाद पुलिस ने दबोचा,...

रतलाम के भगवान जगन्नाथ मंदिर में गाय का मांस फेंककर अपवित्र करने के आरोप में पुलिस ने जाकिर और शाकिर को गिरफ्तार किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -