Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीतिझारखंड: कॉन्ग्रेस कैंडिडेट ने बूथ के बाहर लहराए हथियार, समर्थकों ने पत्रकारों को पीटा

झारखंड: कॉन्ग्रेस कैंडिडेट ने बूथ के बाहर लहराए हथियार, समर्थकों ने पत्रकारों को पीटा

त्रिपाठी का दावा है कि उन्होंने आत्मरक्षा में हथियार लहराया था। उनका दावा है कि बूथ लूटने की सूचना मिलने पर वे पहुॅंचे थे। भाजपा प्रत्याशी ने आरोप को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि त्रिपाठी अपने समर्थकों के साथ चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे।

झारखंड में विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 सीटों पर शनिवार (30 नवंबर) को वोट पड़े। डाल्टनगंज के एक बूथ के बाहर कॉन्ग्रेस प्रत्याशी केएन त्रिपाठी का हथियार लहराते वीडियो सामने आया है। उनके समर्थकों और भाजपा प्रत्याशी आलोक चौरसिया के समर्थकों के बीच झड़प की खबर भी है। मीडिया ​रिपोर्टों के मुताबिक घटना को कैमरे में कैद कर रहे पत्रकारों की पिटाई भी त्रिपाठी समर्थकों ने की।

घटना कोशियारा गॉंव के बूथ की है। चुनाव आयोग ने इस घटना को लेकर जिला प्रशासन से रिपोर्ट मॉंगी है। हथियार जब्त कर त्रिपाठी को हिरासत में लिया गया। हालॉंकि पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

त्रिपाठी का दावा है कि उन्होंने आत्मरक्षा में हथियार लहराया था। उन्होंने कहा, “ग्रामीणों ने बूथ लूटने के लिए मुझ पर हमला किया, तो मैंने आत्मरक्षा के लिए पिस्टल निकाल ली।” त्रिपाठी का कहना है कि बूथ लूटने की सूचना मिलने पर वे वहॉं पहुॅंचे थे और भाजपा समर्थकों ने उन्हें बूथ के अंदर नहीं जाने दिया। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी आलोक चौरसिया और उनके समर्थकों पर बूथ लूटने का आरोप लगाया। भाजपा प्रत्याशी आलोक चौरसिया ने बूथ लूटने के आरोप को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि केएन त्रिपाठी अपने समर्थकों के साथ बूथ के पास हथियार लेकर घूम रहे थे, वे समर्थकों के साथ चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे।

दैनिक जागरण की खबर के अनुसार डाल्टनगंज के पुरबडीहा मतदान केंद्र पर भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटा भी गया। यहॉं वीडियो बना रहे पत्रकार भी त्रिपाठी समर्थकों के निशाने पर थे। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार पूर्वडीहा गॉंव में त्रिपाठी के समर्थकों ने निजी चैनल के पत्रकार और कैमरामैन को पीट डाला। उनका कैमरा भी तोड़ दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe