Saturday, October 23, 2021
Homeराजनीतिपश्चिम बंगाल, असम में दूसरे चरण के लिए वोटिंग शुरू: नंदीग्राम के अलावा 2...

पश्चिम बंगाल, असम में दूसरे चरण के लिए वोटिंग शुरू: नंदीग्राम के अलावा 2 पूर्व IPS अफसरों की लड़ाई भी है दिलचस्प

नंदीग्राम के अलावा बीजेपी की नेता और पूर्व आईपीएस भारती घोष चुनावी मैदान में हैं तो दूसरी ओर भी पूर्व आईपीएस और टीएमसी के उम्मीदवार हुमायू कबीर भी हैं।

विधानसभा चुनाव 2021 के दूसरे चरण के लिए मतदान आज शुरू हो गया है। इसमें पश्चिम बंगाल की 30 और असम की 39 सीटों के लिए वोटिंग हो रही है। बंगाल की 30 सीटों पर 191 प्रत्याशियों के भाग्य का 75 लाख से अधिक मतदाता फैसला करेंगे। असम में 73,44,631 मतदाता हैं, जिसमें 37,34,537 पुरुष व 36,09,959 महिलाएँ और 135 थर्ड जेंडर मतदाता हैं।

पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम है, जहाँ टीएमसी से बीजेपी में आए शुभेंदु अधिकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं। यह सीट शुभेंदु अधिकारी का गृह जिला है। इसके अलावा यहीं से सीपीएम की मीनाक्षी मुखर्जी भी चुनावी मैदान में हैं। इसके तहत पश्चिमी मेदिनीपुर की 9, बाकुड़ा की 8, पूर्व मेदिनीपुर की 9 और दक्षिण 24 परगना की 4 सीटों के लिए मतदान शुरू हो चुका है।

पश्चिम बंगाल की हाई प्रोफाइल सीट

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सबसे हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम है, जहां शुभेंदु अधिकारी और ममता के बीच काँटे की टक्कर है। अधिकारी इस सीट पर ममता को 50 हजार से अधिक वोटों से हराने का दावा कर चुके हैं। उन्होंने कहा है कि अगर वह ममता को नहीं हरा पाए तो राजनीति छोड़ देंगे। इसके अलावा डेबरा सीट भी हाई प्रोफाइल सीट मानी जा रही है।

इस सीट से बीजेपी की नेता और पूर्व आईपीएस भारती घोष चुनावी मैदान में हैं तो दूसरी ओर भी पूर्व आईपीएस और टीएमसी के उम्मीदवार हुमायू कबीर हैं। यहां दो आईपीएस अधिकारी आमने-सामने हैं। ऐसे में टक्कर काँटे की होने वाली है। वहीं क्रिकेटर से राजनेता बने अशोक डिंडा और टीएमसी के संग्राम डोलाई चुनाव लड़ रहे हैं।

असम में 39 सीटों के लिए 345 उम्मीदवार मैदान में

असम में दूसरे चरण की 39 सीटों के लिए 345 उम्मीदवार चुनावी किस्मत आजमा रहे हैं। इसमें 26 महिलाएँ भी हैं। यहाँ बीजेपी 34 सीटों पर कॉन्टैस्ट कर रही है।

बांग्लादेश की सीमा से सटी सीटों पर हो रहा मतदान

असम में जिन 39 सीटों पर मतदान हो रहा है, उनमें से 25 सीटें बराक वैली में हैं, जिसकी सीमाएँ बांग्लादेश से लगी हुई हैं। 2016 के चुनाव में बीजेपी ने यहाँ पर 8 सीटें जीती थीं। उस दौरान विधानसभा चुनाव में 126 में से 86 सीटें जीतकर अपनी सरकार बनाई थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आर्यन को गिरफ्तार करने वाले NCB अधिकारी की छवि खराब करने को बॉलीवुड वेबसाइट चला रहे भ्रामक खबर, पत्नी ने Koimoi को लताड़ा

एनसीबी के अधिकारी समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े के खिलाफ बॉलीवुड वेबसाइट कोईमोई ने भ्रामक खबर छापी।

‘खालिस्तान’ के नक़्शे में UP और राजस्थान भी, भारत से अलग देश बनाने का ‘खेल’ सोशल मीडिया पर… लोगों ने वहीं दिखाई औकात

'सिख्स फॉर जस्टिस' नाम की कट्टरवादी सिख संस्था ने तथाकथित खालिस्तान का नक्शा जारी किया है, जिसके बाद से लोग सोशल मीडिया पर उसकी आलोचना कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,988FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe