छात्रा से छेड़-छाड़ के आरोप में NSUI जिलाध्यक्ष इरफ़ान गिरफ़्तार

पिछले दिनों इरफ़ान ने अपने साथी शाहरोज, नदीम और कामरान के साथ मिलकर कॉलेज कैंपस में एक छात्रा के साथ छेड़-छाड़ की थी।

उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपुर में कॉन्ग्रेस पार्टी के छात्र नेता इरफ़ान हुसैन को छेड़-छाड़ के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। इरफ़ान शाहजहाँपुर के एनएसयूआई जिलाध्यक्ष भी थे। पिछले दिनों इरफ़ान ने अपने साथी शाहरोज, नदीम और कामरान के साथ मिलकर कॉलेज कैंपस में एक छात्रा के साथ छेड़-छाड़ की थी।

यही नहीं जब छात्रा ने इस घटना पर विरोध किया तो इरफ़ान व उसके साथियों ने छात्रा को अगवा करने की धमकी भी दी। इस मौके पर कुछ लोगों ने इरफ़ान और उसके साथियों का वीडियो बना लिया, जिसके बाद यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। पुलिस ने चारों आरोपी के खिलाफ़ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर भी यौन-शोषण का आरोप

जानकारी के लिए बता दें कि कॉन्ग्रेस पार्टी के छात्र नेता पर पहले भी इस तरह का आरोप लग चुका है। कॉन्ग्रेस पार्टी के छात्र विंग एनएसयूआई के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज़ ख़ान पर उन्हीं के पार्टी की एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इस आरोप के बाद जाँच के लिए एनएसयूआई की तरफ़ से तीन सदस्यों की टीम गठित की गई थी। महिला ने फ़िरोज पर यह आरोप लगाया था कि वो बार-बार होटल में आने और वहीं ठहरने के लिए दवाब बना रहे थे।     

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

SC और अयोध्या मामला
"1985 में राम जन्मभूमि न्यास बना और 1989 में केस दाखिल किया गया। इसके बाद सोची समझी नीति के तहत कार सेवकों का आंदोलन चला। विश्व हिंदू परिषद ने माहौल बनाया जिसके कारण 1992 में बाबरी मस्जिद गिरा दी गई।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

91,623फैंसलाइक करें
15,413फॉलोवर्सफॉलो करें
98,200सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: