कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता नवरात्रि के दौरान सोनिया गाँधी की करते हैं पूजा, मानते हैं ‘देवी’: कामना उनके प्रधानमंत्री बनने की

वह पिछले 20 सालों से सोनिया गाँधी की पूजा कर रहे हैं। डॉ टीके का कहना है कि वो सिर्फ़ इतना चाहते हैं कि सोनिया गाँधी देश की प्रधानमंत्री बनें और बुराई को नष्ट करें। वह प्रतिदिन स्नान करने के बाद सोनिया गाँधी से प्रार्थना करते हैं।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता डॉक्टर टीके नवरात्रि के दौरान ‘देवी’ के रूप में सोनिया गाँधी की पूजा-अर्चना करते हैं, क्योंकि उन्हें कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पर उतना ही विश्वास है जितना भगवान में है। इतना ही नहीं उन्होंने यह तक क़सम खाई हुई है सोनिया गाँधी जब तक भारत का प्रधानमंत्री नहीं बन जाती तब तक वो अपना सिर मुंडवाए रखेंगे।

मध्य प्रदेश के दतिया में, डॉ टीके नवरात्रि के दौरान सोनिया गाँधी की पूजा करते हैं क्योंकि उनका मानना है कि वह देवी का अवतार हैं। वो उनसे प्रार्थना करते हैं और नवरात्रि के पूरे नौ दिनों तक सोनिया गाँधी के लिए व्रत रखते हैं। यहाँ तक कि वह सोनिया गाँधी से प्रार्थना करने के लिए नवरात्रि का उपवास भी रखते हैं।

ख़बर के अनुसार, वह पिछले 20 सालों से सोनिया गाँधी की पूजा कर रहे हैं। डॉ टीके का कहना है कि वो सिर्फ़ इतना चाहते हैं कि सोनिया गाँधी देश की प्रधानमंत्री बनें और बुराई को नष्ट करें। वह प्रतिदिन स्नान करने के बाद सोनिया गाँधी से प्रार्थना करते हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

दतिया के उनाव गाँव जो कि पूरे देश में भगवान भास्कर के लिए विख्यात है, यहाँ निजी चिकित्सक का काम कर रहे कॉन्ग्रेस नेता डॉ टीके कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष को माँ दुर्गा का दर्जा देते हैं, और उसी भाव से उनकी तस्वीर के आगे दिया जलाकर, फूल-पत्तियों से उनकी अराधना करते हैं, निश्चित तौर पर यह बात हैरान कर देने वाली है।

नवरात्रि जैसे पावन अवसर पर देश-विदेश में लोग आदिशक्ति की पूजा-अर्चना करते हैं। पश्चिम बंगाल में तो लोग जगह-जगह विशेष पूजा का आयोजन भी करते हैं। ऐसे में मूलत: पश्चिम बंगाल के डॉ टीके का इस तरह का व्यवहार बेहद आश्चर्यजनक तो लगता ही है, साथ में उनकी चाटूकारिता को भी उजागर करता है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,578फैंसलाइक करें
23,209फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: