Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीति'अब रामपुर की शामें रंगीन हो जाएँगी' - सपा नेता फिरोज़ खान ने की...

‘अब रामपुर की शामें रंगीन हो जाएँगी’ – सपा नेता फिरोज़ खान ने की जया प्रदा पर अभद्र टिप्पणी

फिरोज़ ने कहा कि उन्हें डर है कि कहीं उनके क्षेत्र (संभल) के लोग भी शामें ख़ूबसूरत करने के लिए उनके (जया) पास न पहुँच जाएँ। इसलिए उन्हें अपने चुनाव क्षेत्र की देख-रेख करनी पड़ेगी।

चुनाव के नज़दीक आते ही राजनेताओं के बयानों में आरोपों-प्रत्यारोपों का सिलसिला इतना आम हो चुका है कि बड़े-बड़े नेताओं को यही नहीं मालूम होता कि वो कब क्या बोल दें और वो विवादों कासहिस्सा बन जाता है। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने रामपुर से जया प्रदा को अपना उम्मीदवार बनाकर उतारा है। जिसके बाद समाजवादी पार्टी के एक नेता का बयान आया है कि अब रामपुर की शामें रंगीन हो जाएँगी।

रामपुर से जया प्रदा के चुनाव लड़ने पर समाजवादी पार्टी के नेता फिरोज़ खान ने बताया कि एक बार वह बस से कहीं जा रहे थे तो वहाँ से जया का क़ाफ़िला गुज़रा, जिसके कारण जाम लग गया, तो उन्होंने बस से उतर के उन्हें देखने की कोशिश की और ये भी सोचा कि जाम खुलवाने के लिए कहीं वो ठुमके न लगा दें। अपनी ओछी सोच और जया पर ऐसी अभद्र टिप्पणी करने के बाद उन्होंने कहा कि रामपुर की शामें अब रंगीन हो जाएँगी, जब चुनावी माहौल चलेगा।

फिरोज़ का कहना है कि उनकी पार्टी (सपा) ने क्षेत्र में बहुत काम कराया है इसलिए वहाँ के लोग वोट तो समाजवादी पार्टी को ही देंगे। लेकिन मजे लूटने में लोग कसर नहीं छोड़ेगे क्योंकि उन्हें मौक़ा मिला है। उन्होंने जया प्रदा पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वह लोगों से यही कहेंगी, ‘मेरे पैरों में घुंघरू बंधा दो, फिर मेरी चाल और ठुमके देख लो।’

ANI द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में फिरोज़ ने कहा कि उन्हें बस डर है कि कहीं उनके क्षेत्र (संभल) के लोग भी शामें ख़ूबसूरत करने के लिए उनके (जया) पास न पहुँच जाएँ। इसलिए उन्हें अपने चुनाव क्षेत्र की देख-रेख करनी पड़ेगी।

इस बातचीत में फिरोज़ खान ने यह भी कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए संभल में वो ही जीतेंगे। रामपुर और बदायूँ में भी वे ही जीत दर्ज कराएँगे। उन्होंने बीजेपी की संघमित्रा मौर्य के बयान पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उन्हें किसी ने शरीफ़ का सर्टिफिकेट नहीं दिया है, उन पर गुँडी का सर्टिफिकिट है और वह गुँडी ही रहेंगी।

फिरोज़ ने चुनावों का हवाला देते हुए कहा कि वह महिलाओं के बारे में कुछ नहीं बोलेंगे चाहे कोई अपने आप को गुंडी बोले या कोई नाचने का काम करे वो उनका अपना पेशा है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe