राहुल, प्रियंका और सोनिया गाँधी सबका हटाया गया SPG कवर: 1991 से मिली हुई थी यह सुविधा

अब गाँधी परिवार के सदस्‍य सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी के लिए भी यही सीआरपीएफ कमांडो जेड प्लस का सुरक्षा कवर मुहैया कराई जाएगी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गाँधी, राहुल और प्रियंका गाँधी की सुरक्षा की समीक्षा करते हुए SPG कवर को वापस लेने की सिफारिश की है। ऐसा ख़ुफ़िया इनपुट के आधार पर उन्हें कम खतरा देखते हुए किया जा रहा है। साथ ही, यह भी कहा जा रहा है कि गाँधी परिवार की सुरक्षा से किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। गाँधी परिवार को अभी भी जेड प्‍लस सुरक्षा दी जाएगी।

बता दें कि सितंबर में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की विशेष सुरक्षा कवर को हटाए जाने के कुछ दिनों बाद उन्हें भी जेड प्लस वर्ग के तहत सीआरपीएफ कमांडो का सुरक्षा कवर मुहैया करा दिया गया था। सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर के पास उनके मोतीलाल नेहरू रोड स्थित आवास और देशभर में कहीं भी जाने के दौरान उनके साथ हमेशा सीआरपीएफ के 35 जवान सुरक्षा घेरे में रहते हैं। 10 NSG कमाण्डो के साथ कुल मिलाकर, उनकी सुरक्षा के लिए 55 सशस्त्र सुरक्षा कर्मी होते हैं, जिन्‍हें अलग-अलग शिफ्टों में तैनात किया जाता है।

मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि अब गाँधी परिवार के सदस्‍य सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी के लिए भी यही सीआरपीएफ कमांडो जेड प्लस का सुरक्षा कवर मुहैया कराई जाएगी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्र सरकार ने खतरे का आकलन करने के बाद पाया कि गाँधी परिवार को किसी तरह का सीधा खतरा नहीं है। बता दें कि राजीव गाँधी की 1991 में हत्‍या के बाद फैसला किया गया था कि पूर्व प्रधानमंत्रियों को भी एसपीजी सुरक्षा प्रदान की जाएगी। यहाँ यह भी जानना जरुरी है कि, पूर्व प्रधानमंत्रियों के सुरक्षा इंतजामों की समय-समय पर समीक्षा की जाती है और जरूरत के मुताबिक उसे घटाया जाता है। इसी साल अगस्‍त में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की भी एसपीजी सुरक्षा भी हटा ली गई थी।

रिपोर्ट के अनुसार, एसपीजी सुरक्षा हटाने के साथ ही प्रियंका गाँधी को नोटिस भेजकर उनके बंगले को लेकर भी सवाल पूछा गया था। इस पर उन्‍होंने कहा था कि उन्‍हें बंगला छोड़ने में कोई दिक्‍कत नहीं है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा कॉन्ग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष सोनिया गाँधी, पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गाँधी और महासचिव प्रियंका गाँधी को एसपीजी सुरक्षा दी जाती है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"हिन्दू धर्मशास्त्र कौन पढ़ाएगा? उस धर्म का व्यक्ति जो बुतपरस्ती कहकर मूर्ति और मन्दिर के प्रति उपहासात्मक दृष्टि रखता हो और वो ये सिखाएगा कि पूजन का विधान क्या होगा? क्या जिस धर्म के हर गणना का आधार चन्द्रमा हो वो सूर्य सिद्धान्त पढ़ाएगा?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

115,259फैंसलाइक करें
23,607फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: