Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीति'यूपी में CM योगी की होगी प्रचंड जीत': स्वामी ने की भविष्यवाणी, साथ ही...

‘यूपी में CM योगी की होगी प्रचंड जीत’: स्वामी ने की भविष्यवाणी, साथ ही दी एक ऐसी ‘चेतावनी’ जो सबसे अधिक उन्हीं पर होती है लागू

सुब्रमण्यम स्वामी ने भविष्यवाणी की है कि उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में बीजेपी 300+- सीटों के साथ सीएम योगी सत्ता में लौटेंगे और कुछ लोग इस जीत का श्रेय लेने की कोशिश करेंगे।

भाजपा (BJP) नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने दावा किया है कि आगामी विधानसभा चुनावों (UP Assembly Election 2022) में भारी जीत के बाद उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की सरकार सत्ता में वापस लौटेगी। शुक्रवार (17 दिसंबर) को ट्विटर पर किए गए पोस्ट में उन्होंने यह बात कही। ट्वीट में स्वामी ने कहा कि उनकी हाल की मथुरा यात्रा के दौरान उनके द्वारा स्थापित ‘विराट हिंदुस्तान संगम’ के सदस्यों ने बताया कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा 2017 की तरह इस बार भी बड़ी जीत हासिल करेगी और 300+- सीटें जीतेगी।

हालाँकि, जो भी कारण हो, स्वामी ने दावा किया कि कुछ लोग इस जीत का क्रेडिट हड़पने की कोशिश करेंगे। उन्होंने लोगों को इससे सावधान रहने की ‘चेतावनी’ भी दी। विडंबना यह है कि क्रेडिट हड़पने की बात करने वाले सुब्रमण्यम स्वामी खुद कई ऐसी उपलब्धियों का श्रेय लेने के लिए जाने जाते हैं, जिनमें उनकी कोई भूमिका नहीं रही।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण अयोध्या के राम मंदिर का मामला है। स्वामी ने दावा किया था कि उनके हस्तक्षेप के बाद ही सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की प्रतिदिन सुनवाई शुरू हुई थी, लेकिन तथ्य यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस ऐतिहासिक मामले में उनकी याचिका को खारिज कर दिया था। हालाँकि, सर्वोच्च न्यायालय ने राम मंदिर में पूजा के मौलिक अधिकार को लागू करने वाली उनकी याचिका को बरकरार रखा था, लेकिन तत्काल सुनवाई की माँग को खारिज कर दिया था।

श्रीराम जन्मभूमि स्थल हिंदुओं को सौंपने के शीर्ष अदालत का फैसला मूल टाईटल सूट में दिया गया था, जिसमें स्वामी पक्षकार थे ही नहीं, क्योंकि इस मामले में हस्तक्षेप करने की उनकी याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया था।

अभी तीन दिन पहले ही सुब्रमण्यम स्वामी ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर और पीवी नरसिम्हा राव की सरकारों और 2014 में बीजेपी की जीत का श्रेय लिया था। उन्होंने कहा था कि साल 2014 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी को ऐतिहासिक जीत रामसेतु के लिए उनके योगदान, 2जी स्पेक्ट्रम मामला और उनके द्वारा लड़े गए अन्य मामलों के कारण मिली थी।

स्वामी ने इसी तरह कई अन्य अदालती आदेशों और सरकारी फैसलों का श्रेय लिया है। यहाँ तक कि उन मामलों का श्रेय भी स्वामी ने लिया, जहाँ उनकी कोई स्पष्ट भूमिका नहीं रही। अब वही व्यक्ति चेतावनी दे रहा है कि यूपी के आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का श्रेय कोई व्यक्ति हड़प लेगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -