Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीति'औकात क्या है... क्या कर लोगे... तुमरा माई के...': Live वीडियो में चिल्लाए तेज...

‘औकात क्या है… क्या कर लोगे… तुमरा माई के…’: Live वीडियो में चिल्लाए तेज प्रताप (Second Lalu), मीडिया को FIR की धमकी

"तुमलोग पोर्टल बना-बना कर तमाशा जो कर रहे हो, तुम सबके खिलाफ मैं मानहानि का केस करूँगा। तुमलोगों को हमलोग छोड़ देते हैं, इसीलिए ऐसा कर रहे हो?"

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव फेसबक पर लाइव वीडियो सेशन के दौरान मीडिया पर भड़क गए। इस दौरान उन्होंने कई मीडिया संस्थानों के खिलाफ अदालत में ‘जनहित याचिका (PIL)’ तक दायर करने की धमकी दे डाली। असल में वो बिहार के कुछ पत्रकारों की टिप्पणियाँ पढ़ रहे थे और इसी दौरान अपने पिता व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव की आलोचना को लेकर वो आक्रोशित हो गए।

वीडियो में उन्होंने कहा, “आप सबने बहुत शर्मसार किया है। यहाँ की जो मीडिया है, वो सरकार के हाथों पूरी तरह बिक चुकी है। मैं पूरी चुनौती देता हूँ बिहार की मीडिया को, लगातार ‘लालू परिवार-लालू परिवार’ की रट लगाते हो। पूरा बिहार है लालू परिवार। औकात क्या है तुमलोगों की? औकात है? तुमलोगों पर मैं केस करूँगा। अपने वकील को बुला कर तुम सबके खिलाफ FIR दर्ज करवाऊँगा।”

तेज प्रताप यादव ने इस वीडियो में आगे कहा, “तुमलोग पोर्टल बना-बना कर तमाशा जो कर रहे हो, तुम सबके खिलाफ मैं मानहानि का केस करूँगा। तुमलोगों को हमलोग छोड़ देते हैं, इसीलिए ऐसा कर रहे हो? पिताजी के बारे में हमेशा कहते हो ‘चारा घोटाला-चारा-घोटाला’ क्या है चारा घोटाला? बताओ। ये जो डिबेट करवाते हो, तमाशा करवाते हो। नरेंद्र मोदी, नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी क्या कर रहे हैं, वो सब दिखाओ न। सुशील मोदी के बड़े-बड़े मॉल्स बन रहे हैं, फोकस लगा कर दिखाते क्यों नहीं?

तेज प्रताप यादव ने आगे आक्रोशित होकर नीतीश कुमार पर हत्या का आरोप भी लगा दिया। उन्होंने कहा, “कौन माई का लाल है जो मुझे रोक लेगा? मैं अच्छे मीडिया वालों की मदद भी करता हूँ। कुछ ऐसे मीडिया वाले हैं, जिन्हें हम रुपए भी देते हैं। जो निचले वर्ग से आए हैं, उनकी हम मदद भी करते हैं। पहले अपने घर में झाँको, फिर दूसरे का घर जलाना। चंद पैसों के लिए तुमलोग ये सब कारनामा मत करो। तेज प्रताप जो कहता है, वो कर के दिखाता है।”

हाल ही में तेज प्रताप यादव ने एक सपने के बारे में बताया था, जिसमें वो हसनपुर में बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा करने गए थे। उन्होंने अपने सपने के बारे में आगे बताया कि वहीं उन्होंने एक ताड़ के पेड़ पर भूत बैठा हुआ देखा। बकौल तेज प्रताप यादव, ये भूत उन्हें पकड़ने आ रहा था लेकिन महादेव का नाम लेते ही सकपका गया। तेज प्रताप ने आगे बताया कि उन्होंने डरे बिना भूत से सवाल पूछ डाला कि हमें क्यों डरा रहे हो? तेज प्रताप यादव की मानें, तो सपने वाले भूत ने बताया कि वो उनका भाषण सुनने आया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe