Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिगधा.. बेकार.. उसे पार्टी से निकाल बाहर करो: कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने शशि थरूर...

गधा.. बेकार.. उसे पार्टी से निकाल बाहर करो: कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने शशि थरूर के बारे में कहा – ‘उसे सिर्फ़ अंग्रेज़ी के कुछ शब्द आते हैं’

शशि थरूर ने भी बताया कि अपनी टिप्पणियों के लिए माफी माँगने के लिए रेवंत रेड्डी ने उन्हें फोन किया था। थरूर ने कहा, "मैं उनके खेद की अभिव्यक्ति को स्वीकार करता हूँ।"

तेलंगाना कॉन्ग्रेस के प्रमुख रेवंत रेड्डी ने गुरुवार (16 सितंबर, 2021) को पार्टी के केरल के तिरुवंतपुरम से सांसद शशि थरूर को गधा कह दिया। उनके द्वारा थरूर की ‘गधे’ से तुलना करने के बाद विवाद खड़ा हो गया है। इसका ऑडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए ऑडियो क्लिप में रेड्डी ने टिप्पणी की थी, “शशि थरूर! गधे (गधा) को पता होना चाहिए कि यहाँ क्या हो रहा है। अंग्रेजी में कुछ शब्द जानता है। उसे भाषा का ज्ञान नहीं है, अंग्रेजी केवल संचार कौशल है। अंग्रेजी में कुछ शब्द बोलने से कुछ नहीं बदलेगा… मैं उसे गधा समझता हूँ। दोनों का नजरिया एक जैसा है। वो बेकार है, पार्टी से बाहर कर देना चाहिए।” यह विवादित ऑडियो क्लिप टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) के नेता कृष्णक माने ने ट्विटर पर साझा किया था।

शशि थरूर के बचाव में उतरी कॉन्ग्रेस, टीआरएस

प्रदेश कॉन्ग्रेस प्रमुख के बयान पर टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामा राव ने बताया कि शशि थरूर ने हाल ही में उनकी और केसीआर के नेतृत्व वाली तेलंगाना सरकार के काम की प्रशंसा की थी, जिससे तेलंगाना कॉन्ग्रेस के प्रमुख नाराज हो गए हैं। उन्होंने कहा, “आईटी स्थायी समिति के अध्यक्ष के रूप में शशि थरूर जी ने हाल ही में तेलंगाना सरकार के प्रयासों के लिए उसकी सराहना की थी। संसद में उनके सहयोगी और पीसीसी चीफ उन्हें गधा कहते हैं !! ऐसी स्थितियाँ तभी समक्ष आती हैं जब आपके पास पार्टी का नेतृत्व करने वाले थर्ड ग्रेड के अपराधी / ठग होते हैं।”

के टी रामा राव के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

इस बीच कॉन्ग्रेस के दिग्गज नेता मनीष तिवारी ने रेवंत रेड्डी से सार्वजनिक रूप से माफी माँगने को कहा। तिवारी ने शशि थरूर को एक ‘मूल्यवान सहयोगी’ बताते हुए कहा, “अगर आपको उनके कथित बयाने को लेकर कुछ गलत फहमी है तो बेहतर होता कि आप उनसे बात करते। हमारी माँग है कि आप अपने शब्दों को वापस ले लें।”

मनीष तिवारी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

तेलंगाना कॉन्ग्रेस प्रमुख ने माँगी माफी

थरूर को गधा कहने पर खड़े हुए बखेड़े के बाद तेलंगाना कॉन्ग्रेस प्रमुख ने तिरुवनंतपुरम के सांसद के बारे में अपनी आपत्तिजनक टिप्पणियों पर खेद व्यक्त किया। उन्होंने इसको लेकर ट्वीट किया, “मैंने शशि थरूर से यह बताने के लिए बात की कि मैं अपनी टिप्पणी वापस लेता हूँ और दोहराता हूँ कि मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी को सर्वोच्च सम्मान देता हूँ। मेरे शब्दों से उन्हें हुई किसी भी चोट के लिए मुझे खेद है। हम कॉन्ग्रेस पार्टी के मूल्यों और नीतियों में अपना विश्वास साझा करते हैं।”

रेवंत रेड्डी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

उन्होंने यह भी कहा कि उनका लक्ष्य और शशि थरूर एक ही लक्ष्य है कि कॉन्ग्रेस तेलंगाना में सरकार बनाए।

रेवंत रेड्डी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

शशि थरूर ने भी बताया कि अपनी टिप्पणियों के लिए माफी माँगने के लिए रेवंत रेड्डी ने उन्हें फोन किया था। थरूर ने कहा, “मैं उनके खेद की अभिव्यक्ति को स्वीकार करता हूँ और इस दुर्भाग्यपूर्ण प्रकरण को पीछे कर रखकर खुश हूँ। हमें तेलंगाना और देश भर में कॉन्ग्रेस को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करना चाहिए।”

शशि थरूर के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

गौरतलब है कि थरूर ने हाल ही में पिछले सप्ताह हैदराबाद की अपनी यात्रा के दौरान सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र में काम के लिए तेलंगाना सरकार की प्रशंसा की थी। उन्होंने कहा था, “मैं हैदराबाद में सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय समिति का नेतृत्व कर रहा था और मेरी टिप्पणियाँ सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में सरकार के काम की सराहना करने तक ही सीमित थीं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -