Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाज'जो TMC सपोर्टर, उनका ही वोटर लिस्ट में हो नाम': ममता बनर्जी के MLA...

‘जो TMC सपोर्टर, उनका ही वोटर लिस्ट में हो नाम’: ममता बनर्जी के MLA ने पश्चिम बंगाल में ‘बांग्लादेशी घुसपैठियों’ को मतदाता बनाने का दिखाया रास्ता

"काफी लोग बांग्लादेश से आ रहे हैं। इनमें से बहुत सारे हिंदू भावनाओं के कारण बीजेपी का समर्थन करते हैं। यह सुनिश्चित करिए कि वोटर लिस्ट में ऐसे ही लोगों का नाम हो जो हमारी पार्टी के समर्थक हैं।"

वोटर लिस्ट में बांग्लादेशियों की घुसपैठ पुरानी है। अब पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के विधायक खोकन दास ने इन घुसपैठियों को मतदाता बनाने का एक नया रास्ता दिखाया है। उन्होंने कहा है कि जो बांग्लादेशी घुसपैठिए टीएमसी के समर्थक हैं, उनका नाम वोटर लिस्ट में होना चाहिए। उन्होंने यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी बकायदा पार्टी कार्यकर्ताओं को सौंपी भी है।

दास का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसमें वे कह रहे हैं, “काफी लोग बांग्लादेश से आ रहे हैं। इनमें से बहुत सारे हिंदू भावनाओं के कारण बीजेपी का समर्थन करते हैं। यह सुनिश्चित करिए कि वोटर लिस्ट में ऐसे ही लोगों का नाम हो जो हमारी पार्टी के समर्थक हैं।”

बताया जा रहा है कि दास ने यह बात मंगलवार (15 नवंबर 2022) की शाम को बर्धमान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही। वे बर्धमान दक्षिण से विधायक हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी के विधायक ने यह बात ऐसे समय में कही है जब देश के अन्य राज्यों की तरह पश्चिम बंगाल में भी मतदाता सूची में संशोधन पर काम चल रहा है।

जी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, 2021 के विधानसभा चुनाव में दास अपने क्षेत्र के कई वार्डों में पिछड़ गए थे। इसमें उनका अपना वार्ड कंचननगर-रथतला भी शामिल था। यहाँ मुख्य रूप से बांग्लादेश मूल के लोगों की बड़ी आबादी रहती है। हालाँकि, बाद में जब विधायक से उनकी टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो वह पलट गए। उन्होंने कहा, “अवैध बांग्लादेशी अप्रवासी हर दिन हमारे क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं। मैंने टीएमसी कार्यकर्ताओं को कहा है कि उनको मतदाता सूची में जगह नहीं मिलनी चाहिए।”

वहीं, खोकन दास के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बर्धमान भाजपा के प्रवक्ता सौम्यराज मुखोपाध्याय ने कहा कि इस मुद्दे पर दलगत राजनीति करने की जगह बजाय विधायक को अवैध अप्रवासियों के बारे में केंद्र और राज्य सरकार को सूचित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि भाजपा नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) लागू करेगी।

दूसरी ओर टीएमसी के बर्धमान पूर्व जिले के प्रवक्ता प्रसेनजीत दास ने ​पार्टी विधायक का बचाव किया है। उनका कहना है कि विधायक की टिप्पणियों का गलत अर्थ निकाला गया है। साथ ही कहा है कि सीएए को लागू करने के पीछे भाजपा की राजनीतिक मंशा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -