Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिकोरोना मरीजों के इलाज और देखभाल में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को मिलेगी डबल सैलरी: हरियाणा...

कोरोना मरीजों के इलाज और देखभाल में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को मिलेगी डबल सैलरी: हरियाणा सरकार का बड़ा ऐलान

“जब तक कोरोना वायरस महामारी राज्य में है, तब तक कोविड-19 मरीजों के इलाज, देखभाल और उनकी टेस्टिंग में लगे स्वास्थ्यकर्मियों और डॉक्टरों को डबल सैलरी दी जाएगी। कोरोना वायरस से बचाव के दौरान अगर किसी ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मी की मौत हो जाती है तो राज्य सरकार की ओर से मृतक के परिवार को 30 लाख रुपए दिए जाएँगे।"

कोरोना वायरस धीरे-धीरे पूरे देश में अपने पैर पसारता जा रहा है और इसने केंद्र और राज्य सरकारों समेत ड्यूटी में लगे हजारों स्वास्थ्यकर्मियों की चुनौतियाँ भी बढ़ा दी हैं। इसी को देखते हुए हरियाणा की मनोहरलाल खट्टर सरकार ने कोरोना महामारी के खिलाफ जंग के मद्देनजर बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज, देखभाल और टेस्टिंग में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को दोगुनी सैलरी देने का फैसला किया है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुरुवार (अप्रैल 9, 2020) को इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा, “जब तक कोरोना वायरस महामारी राज्य में है, तब तक कोविड-19 मरीजों के इलाज, देखभाल और उनकी टेस्टिंग में लगे स्वास्थ्यकर्मियों और डॉक्टरों को डबल सैलरी दी जाएगी।” उनके इस फैसले की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के दौरान अगर किसी ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मी की मौत हो जाती है तो राज्य सरकार की ओर से मृतक के परिवार को 30 लाख रुपए दिए जाएँगे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सेनापति होने के नाते डाक्टरों के प्रयास की दिल खोलकर सराहना की। उन्होंने कहा कि हमें जंग जीतने में प्रदेश की जनता का सहयोग मिल रहा है। उत्साह और जोश से डर को खत्म करना है। किसी भी व्यक्ति के इलाज में सरकार कोई भेदभाव नहीं करेगी।

बता दें कि हरियाणा सरकार प्रदेश के इन कर्मचारियों के लिए बीमा का ऐलान पहले ही कर चुकी है। इसमें डॉक्टरों के लिए 50 लाख, नर्सों को 30 लाख, पैरामेडिकल स्टाफ को 20 लाख और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के लिए 10 लाख का इंश्योरेंस है।

गृह मंत्री अनिल विज ने गुरुवार को कहा कि राज्य में इस समय 134 कोरोना संक्रमित मरीज हैं, जिनमें से 106 तबलीगी जमात के हैं। बाकी बचे 28 रोगी वही हैं, जो 29 या 30 मार्च को चिन्हित किए गए थे। यदि तबलीगी जमात के यह लोग कोरोना स्प्रेड नहीं करते तो हरियाणा की स्थिति बाकी राज्यों से बहुत अधिक संतोषजनक कही जा सकती है। विज ने दावा किया कि हम कोरोना के विरुद्ध लड़ाई जीतेंगे।

इससे पहले अनिल विज ने दिल्ली के निजामुद्दीन से लौटे तबलीगी जमात के लोगों को 8 अप्रैल शाम पाँच बजे तक का समय देते हुए कहा था कि वे संबंधित जिला प्रशासन से संपर्क करें, नहीं तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। विज ने बुधवार को कहा, “निर्देशित समय सीमा समाप्त हो चुकी है। अब जिनका पता लगाया जाएगा और वे कोरोना वायरस से संक्रमित मिले तो उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाएगा।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CPI(M) सरकार ने महादेव मंदिर पर जमाया कब्ज़ा, ताला तोड़ घुसी पुलिस: केरल में हिन्दुओं का प्रदर्शन, कइयों ने की आत्मदाह की कोशिश

श्रद्धालुओं के भारी विरोध के बावजूद केरल की CPI(M) सरकार ने कन्नूर में स्थित मत्तनूर महादेव मंदिर का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है।

राम ‘छोकरा’, लक्ष्मण ‘लौंडा’ और ‘सॉरी डार्लिंग’ पर नाचते दशरथ: AIIMS वाले शोएब आफ़ताब का रामायण, Unacademy से जुड़ा है

जिस वीडियो को लेकर विवाद है, उसे दिल्ली AIIMS के छात्रों ने शूट किया है। इसमें रामायण का मजाक उड़ाया गया है। शोएब आफताब का NEET में पहला रैंक आया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,325FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe