Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिहिंदुओं को वोट देने की अनुमति न दी जाए: तृणमूल सांसद ने जारी किया...

हिंदुओं को वोट देने की अनुमति न दी जाए: तृणमूल सांसद ने जारी किया निर्देश, वीडियो वायरल

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हजारों हिंदुओं को डायमंड हर्बर के कुछ मुस्लिम बहुल इलाकों से जबर्दस्ती भागने के लिए मजबूर किया गया था। इस दौरान मस्जिदों से घोषणा करते हुए हिंदुओं से कहा गया था कि अगर वो अपने घरों को छोड़कर नहीं भागते हैं, तो उन पर हमला किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में भाजपा ने बेहद शानदार प्रदर्शन करते हुए 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस के खाते में 22 सीटें आई। इस चुनाव के दौरान बंगाल में काफी हत्याएँ और मारपीट की घटनाएँ देखने को मिली। कथित तौर पर ये हत्याएँ और मारपीट तृणमूल द्वारा करवाए गए थे। अब तृणमूल राज्यसभा सांसद शुभाशीष चक्रवर्ती का एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है,जिसमें वो अपने सहयोगियों से कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि आगामी चुनाव में हिंदुओं को वोट देने की अनुमति न दी जाए।

शुभाशीष चक्रवर्ती दक्षिण 24 परगना के तृणमूल प्रमुख भी हैं। बंगाली पोर्टल ई बंगला 24×7 के अनुसार, उन्होंने हालिया लोकसभा चुनावों के परिणामों का विश्लेषण करते हुए अपनी पार्टी के सहयोगी को यह निर्देश दिया है। तृणमूल ने दक्षिण 24 परगना में चार सीटों-  डायमंड हार्बर, मथुरापुर, जयनगर और जादवपुर पर अच्छे अंतर से जीत दर्ज की। भाजपा ने इन सभी चार निर्वाचन क्षेत्रों में तीसरा स्थान हासिल किया। पूरे बंगाल में भाजपा के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए ममता सरकार बौखला गई है और टीएमसी के ऊपर खतरे की घंटी बजता देख सांसद शुभाशीष ने इस तरह का निर्देश दिया है।

दरअसल, तृणमूल के कुछ पदाधिकारी चक्रवर्ती से मिलने से गए थे। इन पदाधिकारियों में अधिकतर मुस्लिम थे। इस दौरान जब चुनावी परिणामों का विश्लेषण किया गया, तो पता चला कि चिलता गाँव के तीन बूथों पर अधिकतर वोट भाजपा के पक्ष में डाले गए थे। इस बात के सामने आने के बाद चक्रवर्ती अपने पार्टी सहयोगियों को गाँव पर नज़र रखने के लिए कहते हैं। वो कहते हैं कि वहाँ के हिंदुओं को वोट देने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। इसे स्पष्ट तौर पर वीडियो में देखा जा सकता है।

गौरतलब है कि, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हजारों हिंदुओं को डायमंड हर्बर के कुछ मुस्लिम बहुल इलाकों से जबर्दस्ती भागने के लिए मजबूर किया गया था। इस दौरान मस्जिदों से घोषणा करते हुए हिंदुओं से कहा गया था कि अगर वो अपने घरों को छोड़कर नहीं भागते हैं, तो उन पर हमला किया जाएगा। उनसे कहा गया था कि लोकसभा चुनाव के खत्म होने के बाद ही वो यहाँ पर लौट सकते हैं। खबर के मुताबिक, उन क्षेत्रों से हिंदूओं को भगाने के बाद मतदान में धांधली की गई और सभी हिंदू मतदाता के वोट तृणमूल कॉन्ग्रेस के पक्ष में डाले गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -