Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिहिरोइन से सांसद बनी मिमी चकवर्ती ने 'राजनीति' से की तौबा, ममता बनर्जी को...

हिरोइन से सांसद बनी मिमी चकवर्ती ने ‘राजनीति’ से की तौबा, ममता बनर्जी को भेजा इस्तीफा: TMC के स्थानीय नेतृत्व से नाराजगी बनी वजह

बांग्ला फिल्मों की अभिनेत्री और पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की सांसद मिमी चक्रवर्ती ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। मिमी ने अपना इस्तीफा TMC सुप्रीमो ममता बनर्जी को सौंपा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वे अपनी जादवपुर सीट और स्थानीय नेतृत्व से खुश नहीं हैं। उन्हें स्थानीय नेताओं का पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा है। इसलिए वो अपने पद से इस्तीफा दे रही हैं।

बांग्ला फिल्मों की अभिनेत्री और पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की सांसद मिमी चक्रवर्ती ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। मिमी ने अपना इस्तीफा TMC सुप्रीमो ममता बनर्जी को सौंपा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वे अपनी जादवपुर सीट और स्थानीय नेतृत्व से खुश नहीं हैं। उन्हें स्थानीय नेताओं का पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा है। इसलिए वो अपने पद से इस्तीफा दे रही हैं।

मिमी चक्रवर्ती ने अपना इस्तीफा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को नहीं सौंपा है। इसलिए फिलहाल उनकी सांसदी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इससे पहले मिमी ने दो स्थायी समितियों की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। मिमी औद्योगिक मामलों पर संसद की स्थायी समिति की सदस्य थीं। वह केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की संयुक्त समिति की भी सदस्य भी थीं।

इतना ही नहीं, मिमी चक्रवर्ती ने अपने लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले स्वास्थ्य केंद्र संगठन के अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था। मिमी जादवपुर लोकसभा के अंतर्गत नलमुड़ी और जिरंगछा ब्लॉक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रोगी कल्याण संघ की अध्यक्ष थीं। इस इस्तीफे के बाद उनके अगले कदम को लेकर राजनीतिक गलियारे में अटकलें तेज हो गई थीं।

आखिरकार मिमी चक्रवर्ती ने गुरुवार (15 फरवरी 2024) को अपने सांसद पद से इस्तीफा दे दिया। अब देखना है कि वह राजनीति से संन्यास लेती हैं या कोई और पार्टी में शामिल होती हैं। हालाँकि, अपने इस्तीफे को लेकर जो बयान दिया है, उससे लगता है कि वह संन्यास लेने के ही मूड में हैं। हालाँकि, मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि वह अपने लोकसभा सीट और स्थानीय नेतृत्व से खुश नहीं हैं।

मिमी चक्रवर्ती ने कहा, “राजनीति मेरे लिए नहीं है। अगर आप किसी की मदद कर रहे हैं तो आपको यहाँ (राजनीति में) किसी को बढ़ावा देना होगा… एक राजनेता होने के अलावा मैं एक अभिनेत्री के रूप में भी काम करती हूँ। मेरी समान जिम्मेदारियाँ हैं। यदि आप राजनीति में हैं तो आपकी आलोचना की जाती है, चाहे आप काम करें या नहीं। मैंने अपने मुद्दों के बारे में ममता बनर्जी से बात की है।”

तृणमूल सांसद ने आगे कहा, “मैं उन्हें (ममता बनर्जी को) उस पार्टी से अपने इस्तीफे के बारे में बताना चाहती थी, जिसने मुझे आगे बढ़ने का मौका दिया। मैंने उन्हें साल 2022 में भी सांसद पद से अपने इस्तीफे के बारे में बताया था। उस समय उन्होंने इसे खारिज कर दिया था। वह जो कहेंगी उसके बाद मैं आगे की प्रक्रिया पूरी करूँगी।”

मिमी चक्रवर्ती को TMC ने साल 2019 के लोकसभा चुनावों में जादवपुर सीट से चुनावी मैदान में उतारा था। मिमी ने भाजपा के उम्मीदवार अनुपम हजरा को 2.95 लाख वोटों से हराया था। इस चुनाव में मिमी चक्रवर्ती को कुल 6,88,472 वोट मिले थे। वहीं, भाजपा प्रत्याशी अनुपम हजरा को 3,93,233 वोट हासिल मिले थे।

मिमी चक्रवर्ती का जन्म 11 फरवरी 1989 को पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में हुआ था। आज बंगाली फिल्म इंडस्ट्री का एक जाना-माना नाम हैं। उन्होंने साल 2012 में फिल्म ‘चैंपियन’ से अपने करियर की शुरुआत की थी और अब तक 25 से अधिक सफल फिल्मों में काम चुकी हैं। वह बंगाल में काफी लोकप्रिय हैं। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए उन्हें 2019 में टिकट दी गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जूलियन असांजे इज फ्री… विकिलीक्स के फाउंडर को 175 साल की होती जेल पर 5 साल में ही छूटे: जानिए कैसे अमेरिका को हिलाया,...

विकिलीक्स फाउंडर जूलियन असांजे ने अमेरिका के साथ एक डील कर ली है, इसके बाद उन्हें इंग्लैंड की एक जेल से छोड़ दिया गया है।

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -