Thursday, June 20, 2024
Homeराजनीति'दुश्मन देश का समर्थन करोगे तो उसी कठोरता के साथ कुचल दिए जाओगे': CM...

‘दुश्मन देश का समर्थन करोगे तो उसी कठोरता के साथ कुचल दिए जाओगे’: CM योगी ने Pak समर्थकों को चेताया – हिंदुस्तान का सम्मान करना ही होगा

"हम किसी को भी अराजकता और अव्यवस्था फैलाने की छूट नहीं देंगे। भारत में रह कर, भारत की धरती का अन्न खाकर पाकिस्तान का गुण गाओगे तो उसी लायक बना देंगे, जिस लायक भारतीय सेना उन्हें बना देती है।"

उत्तर प्रदेश में साल 2022 में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। हर राजनीतिक दल एक्शन मोड में है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ‘आज तक’ न्यूज चैनल को दिया गया एक इंटरव्यू सामने आया है। सोशल मीडिया पर इंटरव्यू की कुछ वीडियो क्लिप भी साझा की गई हैं, जिसे यूजर्स द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है।

इस दौरान सीएम योगी बिना किसी लाग-लपेट के सभी प्रश्नों के उत्तर देते हुए नजर आए। हाल ही टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से हारने के बाद टीम इंडिया का मनोबल गिराने वालों और ​पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालों को भी मुख्यमंत्री ने कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा, ”अगर हिंदुस्तान में रहेंगे, तो उन्हें हिंदुस्तान के प्रति नतमस्तक भी होना पड़ेगा। उन्हें हिंदुस्तान के प्रति हर हाल में सम्मान भी व्यक्त करना पड़ेगा। मैच होते हैं, तो उसमें हार जीत भी होती है, लेकिन दुश्मन देश के प्रति समर्थन व्यक्त करोगे, तो उसी कठोरता के साथ कुचल दिए जाओगे।”

उन्होंने कहा कि हम किसी को भी अराजकता और अव्यवस्था फैलाने की छूट नहीं देंगे। भारत में रह कर, भारत की धरती का अन्न खाकर पाकिस्तान का गुण गाओगे तो उसी लायक बना देंगे, जिस लायक भारतीय सेना उन्हें बना देती है।

मुख्यमंत्री योगी से सवाल किया गया कि अब तो आप पटाखे छोड़ने पर भी देशद्रोह लगा दे रहे हैं। इस पर उन्होंने कहा, ”नहीं, हम पटाखे छोड़ने पर कोई देशद्रोह नहीं लगा रहे हैं। लोग हर्षोल्लास के साथ दीपावली मनाएँ। मैं तो दीपावली के अवसर पर अयोध्या भी जा रहा हूँ।”

उन्होंने कहा कि मैं अपने साढ़े सोलह लाख कर्मचारियों, प्रदेश के अपने सभी जनप्रतिनिधियों से अपील करूँगा कि वे सभी दीपावली के उत्सव को उत्साहपूर्ण मनाएँ। हर व्यक्ति एक उस परिवार को जिस तक शासन की सुविधा नहीं पहुँच पाई है। उसके घर में दीप या दीपावली की मिठाई नहीं पहुँच पाई है। अगर आप दीपावली के दिन उसके घर जाएँगे तो इस पर्व के आनंद को और अच्छा कर देंगे। मैं खुद उस दिन हजारों वनवासी बच्चों के बीच रहता हूँ। इस दिन अगर हम किसी बच्चे को फूलझड़ी, मिठाई या दीप देंगे तो उन्हें भी अहसास होगा कि हम भी दीपावली के साथ जुड़ रहे हैं।

जब उनसे कहा गया कि हमने आपसे क्रिकेट में पटाखे छोड़ने को लेकर सवाल किया है। इस पर सीएम ने कहा, ”कानून को हाथ में लेने की छूट किसी को भी नहीं देंगे। अगर वह हिंदुस्तान में रहेंगे, तो उन्हें हिंदुस्तान के प्रति नतमस्तक भी होना पड़ेगा।” सीएम से पूछा गया कि क्या यह केवल पाकिस्तान तक ही सीमित हैं। अगर इंग्लैंड, न्यूजीलैंड या फिर कोई और टीम बेहतर प्रदर्शन करती हैं, तो क्या आप उनके भी लिए यही कहेंगे।

योगी आदित्यनाथ ने बेहद शालीनता के साथ इस सवाल का जवाब दिया। उन्होंने कहा, ”कोई भी खिलाड़ी अच्छा कर रहा है, तो आप उसको प्रोत्साहित करें। खिलाड़ी, खिलाड़ी होता है, लेकिन अगर आप किसी देश के समर्थन में नारेबाजी कर रहे हैं, दुश्मन देश को प्रोत्साहित कर रहे हैं और दुश्मन देश का यशगान कर रहे हैं, तो इस प्रकार की शर्मनाक स्थिति का सामना नहीं किया जाएगा। यह देशद्रोह की श्रेणी में आएगा और ऐसे लोगों के खिलाफ कठोरपूर्ण कार्रवाई करेंगे। हम उत्तर प्रदेश की धरती पर ऐसी अराजकता को स्वीकार नहीं करेंगे। हमने तब भी कार्रवाई की थी, जब लोगों ने तालिबान का समर्थन किया था। उस दौरान भी हमने कहा था कि अगर तालिबान का समर्थन करोगे तो फिर इस लायक बना देंगे कि किसी लायक नहीं रह पाओगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -