Thursday, April 18, 2024
Homeराजनीतिममता के मंत्री फिरहाद हाकिम का मस्जिद में ऐलान: जीते तो मौलाना-इमामों का बढ़ेगा...

ममता के मंत्री फिरहाद हाकिम का मस्जिद में ऐलान: जीते तो मौलाना-इमामों का बढ़ेगा भत्ता, BJP को वोट न देने की अपील

फिरहाद हकीम ने कहा कि यदि राज्य में फिर से ममता बनर्जी की सरकार बनती है तो इमामों को दिया जाने वाला भत्ता बढ़ा दिया जाएगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि राज्य में मुस्लिम मौलवियों की मासिक आय बढ़ाने की उनकी योजना है।

शनिवार (फरवरी 27, 2021) को तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के नेता फिरहाद हकीम को पश्चिम बंगाल में आगामी चुनाव से पहले आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में कोलकाता के एक मस्जिद में एक राजनीतिक भाषण देते हुए पाया गया। हकीम कोलकाता के मेयर और शहरी विकास और नगर मामलों के मंत्री हैं।

मॉडल ऑफ कंडक्ट में स्पष्ट रूप से कहा गया है, “वोट हासिल करने के लिए जाति या सांप्रदायिक भावनाओं के लिए कोई अपील नहीं होगी। मस्जिदों, चर्चों, मंदिरों या अन्य पूजा स्थलों को चुनाव प्रचार के लिए मंच के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।”

न्यूज चैनल टीवी 9 भारतवर्ष ने अपनी एक्सक्लूसिव स्टोरी में बताया कि टीएमसी नेता ने मस्जिद में राजनीतिक नारे लगाए। राज्य में मुस्लिम वोट बैंक पर अपना कब्जा कायम रखने के लिए फिरहाद हकीम ने 19 साल पहले हुए गुजरात दंगों का मुद्दा उठाया। प्रतिद्वंद्वी भाजपा के बारे में भड़काऊ बयान देते हुए, उन्होंने आरोप लगाया कि 2002 में गुजरात में हुए दंगों को पश्चिम बंगाल में दोहराने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने मस्जिद में एकत्रित मुसलमानों से भाजपा को वोट न देने की अपील की।

इसके अलावा, फिरहाद हकीम ने कहा कि यदि राज्य में फिर से ममता बनर्जी की सरकार बनती है तो इमामों को दिया जाने वाला भत्ता (मानदेय) बढ़ा दिया जाएगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि राज्य में मुस्लिम मौलवियों की मासिक आय बढ़ाने की उनकी योजना है। दिलचस्प बात यह है कि उनके बगल में बैठे इमाम ने दर्शकों से ‘आमीन’ कहने का आग्रह किया।

जब टीवी 9 के रिपोर्टर ने फिरहाद से सवाल किया कि आचार संहिता लागू होने के बावजूद वो वादा क्यों कर रहे हैं तो टीएमसी नेता ने दावा किया कि वह मस्जिद में दुआ माँगने के लिए आए थे ताकि राज्य में ‘विभाजनकारी ताकतों’ को ध्वस्त किया जा सके। उन्होंने आगे कहा कि गुजरात दंगों के दौरान लगभग 2000 लोग मारे गए, दिल्ली दंगों के दौरान 52, और आतंकवादी इशरत जहाँ को फर्जी मुठभेड़ में मारा गया। जब इमामों के लिए भत्ता बढ़ाने के अपने वादे के बारे में पूछा गया, तो हकीम ने सवाल को टालने की कोशिश की और कहा कि उन्होंने कुछ भी वादा नहीं किया है।

ममता के मंत्री के इस भड़काऊ बयान के बाद भाजपा ने चुनाव आयोग जाने का फैसला किया है। टीएमसी पर निशाना साधते हुए, भाजपा ने कहा है कि वे चुनाव आयोग से संपर्क करेंगे और फिरहाद हकीम के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए शिकायत दर्ज करवाएँगे। तुष्टिकरण की राजनीति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘केवल अल्लाह हू अकबर बोलो’: हिंदू युवकों की ‘जय श्री राम’ बोलने पर पिटाई, भगवा लगे कार में सवार लोगों का सर फोड़ा-नाक तोड़ी

बेंगलुरु में तीन हिन्दू युवकों को जय श्री राम के नारे लगाने से रोक कर पिटाई की गई। मुस्लिम युवकों ने उनसे अल्लाह हू अकबर के नारे लगवाए।

छतों से पत्थरबाजी, फेंके बम, खून से लथपथ हिंदू श्रद्धालु: बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी शोभायात्रा को बनाया निशाना, देखिए Videos

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी की शोभा यात्रा पर पत्थरबाजी की घटना सामने आई। इस दौरान कई श्रद्धालु गंभीर रूप से घायल भी हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe