Sunday, September 19, 2021
Homeराजनीतिभवानीपुर सीट से उपचुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी: TMC ने किया ऐलान, बीजेपी ने की...

भवानीपुर सीट से उपचुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी: TMC ने किया ऐलान, बीजेपी ने की काँटे की टक्कर देने की तैयारी

तृणमूल कॉन्ग्रेस ने जहाँ शमशेरगंज से अमीरुल इस्लाम को अपना उम्मीदवार घोषित किया है तो जंगीपुर से जाकिर हुसैन पार्टी के उम्मीदवार हैं। इस चुनाव के लिए उम्मीवार 13 सितंबर तक रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं इसके बाद 16 सितंबर को नाम वापसी की आखिरी तिथि होगी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी। इसके लिए 30 सितंबर 2021 को वोटिंग होगी और चुनाव के नतीजे 3 अक्टूबर को घोषित होंगे। इसके अलावा प्रदेश में दो अन्य सीटों शमशेरगंज और जंगीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होंगे। इसके लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान भी कर दिया है।

तृणमूल कॉन्ग्रेस ने जहाँ शमशेरगंज से अमीरुल इस्लाम को अपना उम्मीदवार घोषित किया है तो जंगीपुर से जाकिर हुसैन पार्टी के उम्मीदवार हैं। इस चुनाव के लिए उम्मीवार 13 सितंबर तक रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं इसके बाद 16 सितंबर को नाम वापसी की आखिरी तिथि होगी।

बीजेपी ने की मीटिंग

पश्चिम बंगाल में तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने रविवार (5 सितंबर 2021) को एक मीटिंग की है। माना जा रहा है कि पार्टी ममता के खिलाफ भवानीपुर से तथागत राय रूद्रनिल घोष को पार्टी का उम्मीदवार घोषित कर सकती है। हालाँकि, अभी तक यह फिक्स नहीं हुआ है। वहीं कॉन्ग्रेस पार्टी ने भी उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं किया है।

बहरहाल भवानीपुर सीट से ममता बनर्जी के चुनाव लड़ने की खबरों के बाद टीएमसी के कार्यकर्ता उत्साहित हो उठे हैं। विधानसभा क्षेत्र में जगह-जगह ममता के बैनर पोस्टर लगाए जा रहे हैं। पार्टी ने जनसंपर्क अभियान शुरू कर दिया है। इस बीच इस चुनाव से पहले ही टीएमसी नेता मदन मित्रा ने इसे एकतरफा मुकाबला बताते बीजेपी को अपना पैसा बर्बाद नहीं करने की नसीहत दी है।

गौरतलब है कि इसी साल पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान नंदीग्राम सीट से बीजेपी उम्मीदवार सुवेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को हरा दिया था। ममता बनर्जी को सुवेंदु अधिकारी ने 1956 वोटों से हराया था। वहाँ हारने के बाद पहले तो ममता बनर्जी से इसे स्वीकार कर लिया था, लेकिन बाद में वो सुवेंदु अधिकारी के खिलाफ कोर्ट भी गई थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe