Saturday, October 16, 2021
HomeराजनीतिNRC और CAB एक ही सिक्के के पहलू, बंगाल में लागू नहीं होने दूँगी:...

NRC और CAB एक ही सिक्के के पहलू, बंगाल में लागू नहीं होने दूँगी: ममता बनर्जी

ममता ने सभी दलों से कैब का विरोध करने की अपील करते हुए कहा है कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती से ध्यान हटाने के लिए यह लाया गया है। बकौल ममता वे अंतिम दम तक नागरिकता संशोधन विधेयक को कबूल नहीं करेंगी।

नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) पर भी अपने विरोध का इजहार किया है। केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा है कि एनआरसी और कैब एक ही सिक्के के पहलू हैं। वे दोनों का पुरजोर विरोध करेंगी। साथ ही कहा कि पश्चिम बंगाल में कैब को भी लागू नहीं होने देंगीं।

ममता बनर्जी के अनुसार NRC और CAB का मुद्दा अर्थव्यवस्था में सुस्ती से ध्यान हटाने को लेकर उठाया गया है। उनका कहना है कि यदि सभी समुदाय के लोगों को नागरिकता दी जाएगी तो ही वे इसे स्वीकार करेंगे। लेकिन अगर धर्म के आधार पर भेदभाव होगा तो वे इसका विरोध करेंगी। ममता बनर्जी ने सभी पार्टियों से इस विधेयक का विरोध करने की अपील करते हुए कहा, “अगर मेरी जान भी चली जाए तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन सीएबी को अंतिम दम तक स्वीकार नहीं करूँगी।”

उल्लेखनीय है कि सीएबी के मसौदे को कुछ संशोधनों के साथ कैबिनेट ने पास कर दिया है। इस विधेयक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आकर देश में रह रहे गैर मुस्लिम शरणार्थियों को बगैर वैध दस्तावेजों के भी भारत की नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है। इसके अलावा इस विधेयक में भारत में निवास की अवधि की अनिवार्यता को भी 11 साल से घटाने का प्रस्ताव है।

साथ ही ममता ने मालदा में महिला को जलाकर मारे जाने की घटना स्वीकार की है। आज लोकसभा में जब केंद्रीय महिला बाल एवं विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने जब मालदा का जिक्र किया तो टीएमसी के सांसद आपत्ति जताते हुए हंगामा करने लगे थे। ममता ने कहा कि मालदा की घटना की पुलिस जॉंच कर रही है। जलाने से पहले महिला के साथ रेप किया गया था या नहीं इस निष्कर्ष पर पहुॅंचने के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया। उन्होंने कहा कि मैं महिलाओं के खिलाफ किसी तरह की हिंसा बर्दाश्त नहीं करूॅंगी। मैंने आरोपित की तत्काल गिरफ्तारी और 3-10 दिन के भीतर चार्जशीट दाखिल करने के निर्देश पुलिस को दे रखे हैं।

बंगाल: आम के बाग में मिला युवती का जला हुआ शव, बलात्कार के बाद हत्या का संदेह

‘तू चीज बड़ी है मस्त-मस्त’: आखिर क्यों ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल से ऐसा कहा?

बंगाल में NRC से ममता बनर्जी का साफ इंकार, कहा – यहाँ मेरी सरकार

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe