Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिजिस टीम के हाथों में वर्ल्ड कप देखना चाहता है पूरा भारत, उसकी जर्सी...

जिस टीम के हाथों में वर्ल्ड कप देखना चाहता है पूरा भारत, उसकी जर्सी का रंग देख भड़क गईं CM ममता बनर्जी: कहा- हर चीज का हो रहा भगवाकरण

"अब सब कुछ भगवा हो रहा है! हमें अपने भारतीय खिलाड़ियों पर गर्व है और मुझे विश्वास है कि वे विश्व चैंपियन बनेंगे, लेकिन जब वे अभ्यास करते हैं तो उनकी पोशाक भी भगवा हो गई है।"

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) सुप्रीमो ममता बनर्जी या तो भगवा रंग ही पसंद नहीं करतीं या फिर उन्हें इस रंग से नाराजगी केवल भारतीय जनता पार्टी (BJP) की वजह से है ये तो वहीं बता सकती है। लेकिन, शुक्रवार (17 नवंबर, 2018) को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी टीम इंडिया के खिलाड़ियों को भगवा जर्सी में प्रैक्टिस करते हुए देख कर भड़क गईं और भाजपा पर निशाना साधने लगीं।

उनका बीजेपी पर ये ज़ुबानी हमला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले ODI विश्व कप 2023 के फाइनल से महज दो दिन पहले हो रहा है जब पूरे भारत के सिर पर क्रिकेट का बुखार सिर चढ़ कर बोल रहा है। सीएम को इस रंग से इतनी नाराजगी है कि उन्होंने आरोप लगा डाला है कि देश में हर चीज के भगवाकरण की कोशिश की जा रही है जो उन्हें मंजूर नहीं है। भाजपा पर तंज करते हुए सीएम ममता बनर्जी ने भारतीय क्रिकेट टीम की प्रैक्टिस जर्सी का हवाला देते हुए कहा कि सब कुछ भगवा हो गया है।

उन्होंने ये बातें शुक्रवार को मध्य कोलकाता के पोस्ता बाजार में जगधात्री पूजा के उद्घाटन के मौके पर कहीं। इस कार्यक्रम में सीएम बनर्जी ने कहा, “अब सब कुछ भगवा हो रहा है! हमें अपने भारतीय खिलाड़ियों पर गर्व है और मुझे विश्वास है कि वे विश्व चैंपियन बनेंगे, लेकिन जब वे अभ्यास करते हैं तो उनकी पोशाक भी भगवा हो गई है। वे पहले नीले रंग के कपड़े पहनते थे।”

बता दें कि टीम इंडिया की मैच की जर्सी नीले रंग की है और अभ्यास सत्र के दौरान टीम नारंगी किट पहनती है। उन्होंने आगे कहा, “हमारी टीम महान है और हम जीतेंगे, लेकिन भारत को श्रेष्ठता साबित करने के लिए भगवा जर्सी पहनकर अभ्यास करने की जरूरत नहीं है।” सीएम बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, “हर चीज़ का नाम बदला जा रहा और हर चीज़ को भगवा रंग दिया जा रहा है।”

उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि न केवल क्रिकेट टीम की प्रैक्‍टि‍स जर्सी, बल्‍क‍ि मेट्रो स्टेशनों की पेंटिंग को भी भगवा रंग से रंगा गया है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है। हालाँकि, सीएम बनर्जी ने बगैर किसी का नाम लिए ये बातें कहीं, लेकिन उनकी बातों से ये साफ था कि वो बीजेपी पर निशाना साध रही हैं। सीएम बनर्जी ने भगवा रंग को लेकर ये भी कहा कि ये पक्षपातपूर्ण राजनीति है।

इस दौरान वो बहुजन समाज पार्टी यानी बसपा (BSP) सुप्रीमो मायावती के बहाने पीएम मोदी पर निशाना साधने से नहीं चूकीं। सीएम बनर्जी ने कहा, “एक बार मैंने सुना था कि मायावती ने अपनी मूर्ति बनवाई है, लेकिन अब ये सामान्य बात हो गई है। अब हर चीज का नाम नमो के नाम पर रखा जा रहा है।” बनर्जी ने आगे कहा, “यह देश जनता का है, न क‍ि सिर्फ एक पार्टी के लोगों का।”

उनकी बात का समर्थन विवादों में घिरी TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने भी किया है। उन्होंने अपने ‘X’ (ट्विटर) हैंडल पर सीएम बनर्जी की तारीफ करते हुए लिखा, “अच्छी सोच को नमो-नमः।” इस दौरान सीएम बनर्जी ने केंद्र सरकार पर राज्य का फंड रोकने का आरोप लगाते हुए कहा कि हजारों मनरेगा मजदूर वंचित रह गए हैं। उन्होंने आगे कहा, “पहले मैंने CPI(M) से लड़ाई लड़ी थी और अब मुझे दिल्ली की सत्ता पर काबिज पार्टी से लड़ना पड़ रहा है।”

सीएम बनर्जी के इस तंज का जवाब देते पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष राहुल सिन्हा ने कहा कि ममता बनर्जी बदले की भावना वाला नजरिया रखती हैं। बीजेपी नेता सिन्हा ने कहा, “कुछ दिनों के बाद वो हमारे राष्ट्रीय ध्वज में भगवा रंग होने पर भी सवाल कर सकती है। हम ऐसे बयानों पर प्रतिक्रिया देना भी सही नहीं समझते हैं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -