Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीति'जय श्री राम के दुष्परिणाम बताएँ'- बंगाल के स्कूल ने 10वीं की परीक्षा में...

‘जय श्री राम के दुष्परिणाम बताएँ’- बंगाल के स्कूल ने 10वीं की परीक्षा में पूछे अजीब सवाल

हुगली जिले के स्कूल में परीक्षा के दौरान छात्रों से पूछा गया- "जय श्री राम नारे से समाज को होने वाले दुष्परिणाम बताएँ"। परीक्षा में यह भी पूछा गया - "कट मनी लौटाने के फायदे बताएँ।"

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्री राम’ का नारा फिर से सुर्ख़ियों में लौट आया है। हुगली जिले के स्कूल में परीक्षा के दौरान छात्रों से इस नारे को लेकर ऐसे अजीब सवाल पूछे गए, जो हैरतअंगेज हैं। दसवीं की परीक्षा के दौरान छात्रों से पूछा गया– “जय श्री राम नारे से समाज को होने वाले दुष्परिणाम बताएँ“। यह स्कूल पोलबा क्षेत्र में स्थित है। हालाँकि, मामला प्रकाश में आने के बाद स्कूल के शिक्षक ने माफ़ी माँग ली है।

इसके अलावा ‘कट मनी’ को लेकर भी सवाल पूछे गए। बता दें कि बंगाल में ‘कट मनी’ एक बहुत बड़ा मसला है, जिसने एक तरह से खुलेआम भ्रष्टाचार को आम बना दिया है। यहाँ सरकारी परियोजनाओं को स्वीकृत करने के एवज में और लाभार्थियों तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुँचाने के एवज में कई तृणमूल नेता फंड में से अपना हिस्सा निकाल लेते हैं, जिसे ‘कट मनी’ नाम दिया गया है। जनता ने कई बार इसे लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया।

स्कूल के टेस्ट में पूछा गया- “कट मनी लौटाने के फायदे बताएँ।” तृणमूल सरकार बार-बार कह चुकी है कि ‘कट मनी’ लेने वाले जनप्रतिनिधियों व नेताओं को आरोपित बना कर उन पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल, हुगली के स्कूल द्वारा ‘जय श्री राम’ और ‘कट मनी’ को लेकर पूछे गए सवाल सुर्ख़ियों में हैं।

इससे पहले दक्षिण 24 परगना जिले के विष्णुपुर थाना के अंतर्गत आने वाले बाखराहाट उच्च विद्यालय में बाहरी लोगों ने घुस कर छात्रों की सिर्फ़ इसीलिए पिटाई की थी क्योंकि उन्होंने ‘जय श्री राम’ बोला था। स्थिति इतनी गंभीर हो गई थी कि पुलिस को मौके पर पहुँच कर लाठीचार्ज करना पड़ा, तब जाकर बाहरी उत्पातियों को भगाया जा सका। इस मामले को लेकर छात्रों व अभिभावकों ने विरोध प्रदर्शन किया था।

मध्य हावड़ा स्थित श्रीरामकृष्ण शिक्षालय से भी एक गंभीर मामला सामने आया था। यहाँ कक्षा एक में पढ़ने वाले एक छोटे बच्चे की सिर्फ़ इसीलिए पिटाई की गई थी क्योंकि उसने ‘जय श्री राम’ कहा था। इस पिटाई के बाद वो बच्चा स्कूल जाने से डरने लगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe