Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाज26 जनवरी पर ‘संप्रदाय विशेष’ का देश विरोधी मामला (लेटेस्ट): 'खां' उपनाम के 8...

26 जनवरी पर ‘संप्रदाय विशेष’ का देश विरोधी मामला (लेटेस्ट): ‘खां’ उपनाम के 8 लोगों पर FIR दर्ज़

राजगढ़ के पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे ने बताया कि घटना स्थल पर मौजूद लोगों के बयान एवं सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग व अन्य सबूतों के बाद ही देशद्रोह का केस दर्ज किया जाएगा।

मध्य प्रदेश स्थित राजगढ़ जिले के खुजनेर में 26 जनवरी को एक ‘संप्रदाय विशेष’ द्वारा देश-विरोधी नारे और बच्चों पर हथियारों से हमला करने में नया अपडेट आया है। अपडेट सुखद भी है और दुखद भी। सुखद इसलिए क्योंकि पुलिस ने 16 लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज़ किया है। दुखद इसलिए क्योंकि गणतंत्र दिवस समारोह के कार्यक्रम स्थल पर भगदड़ मचने से चार स्कूली बच्चे समेत 12 लोग घायल हुए हैं।

नई दुनिया में 28 जनवरी को छपी ख़बर के अनुसार जिन 16 लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया गया है, उनमें से छह को रविवार की शाम तक गिरफ़्तार भी किया जा चुका है। ‘संप्रदाय विशेष’ के समद खां, बल्ला खां, सेठा उर्फ जाकिर खां, अबरार खां, शाकिर खां, अय्यूब खां, इम्तियाज खां एवं समीर खां के खिलाफ बलवा, मारपीट सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज़ हुआ है।

जाँच के बाद देशद्रोह का आरोप

राजगढ़ के पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे ने बताया कि जाँच शुरू कर दी गई है। घटना स्थल पर मौजूद लोगों के बयान एवं सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग व अन्य सबूतों के बाद ही देशद्रोह का केस दर्ज किया जाएगा।

दबाव में बना दिया आरोपी

जिन लोगों ने गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम स्थल पर भगदड़ को रोकने में मदद की और बच्चों को बचाया, उनका कहना है कि पुलिस ने दबाव में आकर उन्हें भी इस मामले में आरोपी बना दिया है। पुलिस के इस रवैये के ख़िलाफ़ इन लोगों ने बाजार बंद का ऐलान किया है। ये लोग अंकित यादव, कपिल यादव, सोपान यादव, कमल यादव, हरिओम यादव, कमल भानेज एवं बंटी यादव के खिलाफ दर्ज मामले का विरोध कर रहे हैं।

इसी घटना की पहली रिपोर्ट आप यहाँ पढ़ सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,042FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe