Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाज3 मासूमों की हत्या, 3 मुस्लिम अभियुक्त... फिर भी मोदी के नाम पर सोशल...

3 मासूमों की हत्या, 3 मुस्लिम अभियुक्त… फिर भी मोदी के नाम पर सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा जहर

पुलिस ट्विटर पर लगातार मामले के अपडेट्स दे रही है, ताकि भ्रम न फैले। लेकिन सोशल मीडिया पर आधे सच का भ्रामक झूठ के साथ पीएम मोदी के नाम और ‘मोदी का न्यू इंडिया’ तक को घसीट कर...

बुलन्दशहर में तीन मासूम बच्चों की हत्या के मामले में जहाँ एक तरफ पुलिस ने तीन में से दो आरोपियों इमरान और बिलाल को गिरफ्तार कर लिया है और यह बात खुल कर सामने आ रही है कि हत्याकांड को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ही आपसी रंजिश के चलते अंजाम दिया, उसके बाद भी कुछ लोग इसे जबरदस्ती हिन्दू-मुस्लिम विवाद का रूप देने से लेकर ‘मोदी का न्यू इंडिया’ तक को घसीटने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे में क्षेत्र और प्रदेश में बेवजह का साम्प्रदायिक तनाव फैलने का खतरा मंडरा रहा है।

सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा जहर

सोशल मीडिया पर आधे सच का भ्रामक झूठ बोला जा रहा है। मारे गए बच्चों की तो मजहबी पहचान बताई जा रही है लेकिन हत्यारोपियों की छिपाई जा रही है।

कुछ लोग तो इसे भोपाल और गुरुग्राम (गुड़गाँव) में प्रकाश में आए तथाकथित साम्प्रदायिक दुर्भावना से की गई हिंसा के मामलों से जोड़ रहे हैं, जबकि न केवल इस मामले की प्रकृति न केवल उन मामलों के कथित परिप्रेक्ष्य से अलग है बल्कि उन मामलों की तो अभी जाँच भी नहीं पूरी हुई है।

बुलंदशहर पुलिस भी ट्विटर पर लगातार मामले के अपडेट्स यथाशीघ्र दे रही  है, ताकि भ्रम न फैले।

रोजा इफ्तार में न बुलाया जाना आ रहा है कारण के तौर पर

रोजा इफ्तार में न बुलाए जाने के कारण बुलंदशहर, मेरठ (उत्तर प्रदेश) के सलेमपुर क्षेत्र में मेज़बान परिवार के तीन बच्चों की गोली मार कर निर्ममता से हत्या कर दी गई थी। मृतक बच्चे अब्दुल, आसमा और अलीबा क्रमशः 8, 7 और 8 वर्ष के थे। हत्या के बाद बच्चों के शव घटनास्थल से 15 किलोमीटर दूर ले जाकर सलेमपुर थाने के अंतर्गत आने वाले धतूरी गाँव के एक कुएँ में फेंक दिए गए। हत्या का खुलासा तब हुआ जब बच्चों की लाशों को शनिवार सुबह पुलिस ने कुएँ से बरामद किया।

पुलिस हालाँकि यह दावा कर रही है कि मामले की सूचना ही पुलिस को देर से दी गई, पर प्रथम दृष्टया पुलिस की ओर से भी कुछ ढिलाई हुई देखते हुए एसएसपी एन कोलांचि ने त्वरित कार्रवाई की- नगर कोतवाल ध्रुव भूषण दूबे और मुंशी अशोक कुमार शर्मा को निलंबित कर दिया। कुछ मीडिया रिपोर्टों  में यह भी कहा जा रहा था कि मुख्य आरोपी सलमान मलिक ने कुछ दिन पहले भी पिस्तौल दिखाकर पीड़ित परिवार को धमकी दी थी। मलिक पीड़ित परिवार का ही रिश्तेदार भी बताया जा रहा है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,544FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe