Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाज2 पत्नियों के हत्यारे जमशेद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, घटना के बाद से...

2 पत्नियों के हत्यारे जमशेद को पुलिस ने किया गिरफ्तार, घटना के बाद से था फरार

घटना को अंजाम देने के बाद जमशेद घर बंद करके अपने बेटे के साथ बिहार चला गया था, लेकिन हफ्ते भर बाद जब जमशेद अपने किसी साथी से मिलने दिल्ली वापस आया तो पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।

कुछ दिन पहले दिल्ली में हुए दो मुस्लिम महिलाओं के मर्डर के बाद से ही फरार चल रहे आरोपित जमशेद आलम को आज (जुलाई 2, 2019) पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, जमशेद ने बताया है कि उसकी दोनों पत्नियाँ इस्मत परवीन और जबना आपस में लड़ने के साथ-साथ उससे भी लड़ती थीं, जिस कारण वह काफ़ी परेशान हो गया था। इसलिए उसने पहले अपनी पहली पत्नी इस्मत का गला घोंटा और बाद में जबना को मारा।

घटना को अंजाम देने के बाद जमशेद घर बंद करके अपने बेटे के साथ बिहार चला गया था, लेकिन हफ्ते भर बाद जब जमशेद अपने किसी साथी से मिलने दिल्ली वापस आया तो पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।

जमशेद आलम, जैतपुर के सौरभ विहार इलाके की गली नं-7 में अपनी 2 पत्नियों के साथ पिछले दो-तीन महीने से किराए के घर में रहता था। घर में 2 पत्नियों के अलावा जमशेद के साथ उसका 10 साल का बेटा भी रहता था।

घर से शव बरामद होने के बाद आसपास के लोगों ने पुलिस को बताया था कि उन्होंने जमशेद को उसके घर में आखिरी बार 26 जून को देखा था। जबकि घटना का पता 27 जून की सुबह चला था। पुलिस तब से ही जमशेद की तलाश में जुटी हुई थी, लेकिन उन्हें कामयाबी एक हफ्ते बाद मिली।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe