Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजएक ही कमरे में 2 पत्नियों की हत्या, पति जमशेद आलम बच्चे के साथ...

एक ही कमरे में 2 पत्नियों की हत्या, पति जमशेद आलम बच्चे के साथ फरार

दोनों महिलाओं की कपड़े से गला दबाकर हत्या की गई है, उनके हाथ-पाँव भी बंधे हुए थे। और उनका पति जमशेद आलम अपने 10 साल के बेटे को लेकर फरार है। जमशेद बुधवार दोपहर तक उसी एरिया में देखा गया था।

साउथ ईस्ट दिल्ली के जैतपुर के सौरव विहार में डबल मर्डर की घटना सामने आने से इलाके में सनसनी फैल गई है। एक ही घर में दो महिलाओं के शव बरामद होने से आसपास के लोग दहशत में हैं। दरअसल सौरभ विहार की गली नंबर 7 के एक घर में जमशेद आलम नाम का एक व्यक्ति अपनी दो पत्नियों और एक बेटे के साथ रहता था। बेटे की उम्र 10 साल है।

जमशेद आलम अपनी पत्नियों और बेटे के साथ पिछले दो-तीन महीने से यहाँ एक किराए के घर में रहता था। आसपास के लोगों ने बताया कि जमशेद आलम के परिवार को आखिरी बार बुधवार (जून 27, 2019) को देखा था। बृहस्पतिवार सुबह कमरे से जब बदबू आने लगी तो पड़ोसियों की सूचना पर पहुँची पुलिस ने देखा कि अंदर लाशें पड़ी हैं। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर जाँच शुरू कर दी है।

पुलिस ने अनुसार, 42 साल का जमशेद आलम करीब 1 महीने पहले जैतपुर की सौरभ विहार कॉलोनी में एक कमरे में किराए पर रहने आया था। उसके साथ एक ही कमरे में एक 40 साल और 31 साल की, 2 महिलाएँ रहती थीं। एक महिला से 10 साल का बेटा भी था। आज सुबह 11:10 पर पुलिस को जानकारी दी गई कि एक कमरे से बहुत तेज बदबू आ रही है और वहाँ दो लाशें पड़ी हैं।

पुलिस ने मौके पर पहुँचकर कमरे का ताला तोड़ा और दोनों महिलाओं की डेड बॉडी रिकवर करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दी। दोनों महिलाओं की कपड़े से गला दबाकर हत्या की गई है, उनके हाथ-पाँव भी बंधे हुए थे। और उनका पति जमशेद आलम अपने 10 साल के बेटे को लेकर फरार है। जमशेद बुधवार दोपहर तक उसी एरिया में देखा गया था। पुलिस को शक है कि पति ने ही वारदात को अंजाम दिया है। दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और जमशेद आलम की तलाश जारी है

पड़ोसियों का कहना है कि वो लोग पड़ोसियों से ज्यादा बात नहीं करते थे, अक्सर कमरे में ही बंद रहते थे। 10 साल का बेटा दोनों महिलाओं को अपने पिता की बीवी बताता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाप कम्युनिस्ट हो, सत्ता में वामपंथी हों तो प्यार न करें, प्यार हो जाए तो माँ न बने: अपने ही बच्चे के लिए भटक...

अजीत और अनुपमा को एक-दूसरे से प्यार हुआ और एक बच्चे का जन्म हुआ। कम्युनिस्ट पिता को ये रिश्ता और बच्चा दोनों नागवार थे। बच्चा इस जोड़े से छीन लिया गया...

नाम में खान इसलिए शाहरुख का बेटा निशाना: रिया चक्रवर्ती के लिए ‘महिला कार्ड’ खेलने वाली मीडिया का अब ‘मुस्लिम’ प्रलाप

'मिड डे' ने लिखा है कि शाहरुख़ खान ने भाजपा नेताओं के साथ सेल्फी नहीं डाली और जन्मदिन की शुभकामनाएँ नहीं दी, इसीलिए उनके बेटे के खिलाफ कार्रवाई हुई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe