Saturday, July 31, 2021
Homeबड़ी ख़बरEVM 'एक्सपर्ट' पर निर्वाचन आयोग ने दिल्ली पुलिस को FIR दर्ज़ करने का दिया...

EVM ‘एक्सपर्ट’ पर निर्वाचन आयोग ने दिल्ली पुलिस को FIR दर्ज़ करने का दिया निर्देश

चुनाव आयोग पहले भी कई बार EVM हैक किए जाने जैसी अफ़वाहों को नकारता आया है। मंगलवार को ही AAP नेता अरविन्द केजरीवाल ने भी कहा कि उन्होंने किसी साइबर एक्सपर्ट से संपर्क नहीं किया था।

लोकसभा चुनावों में EVM में गड़बड़ी किए जाने को लेकर सोमवार (जनवरी 21, 2019) को चर्चा में आए सैयद शूजा नाम के एक तथाकथित ‘टेक एक्सपर्ट’ के ख़िलाफ़ देश के निर्वाचन आयोग ने आज (जनवरी 22, 2019) को दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर रिपोर्ट दर्ज़ करने का निर्देश दिया।

निर्वाचन आयोग द्वारा दायर FIR की कॉपी

शूज़ा ने जो गैर-कानूनी काम किया है, वो आईपीसी की धारा 505(1)(b) का उल्लंघन है।

क्या है आईपीसी की धारा 505(1)(b)

  • सेक्शन 505 – सार्वजनिक उपद्रव के लिए जिम्मेदार बयान
  • (1) जो कोई बयान जारी करता है, अफवाह उड़ाता है या रिपोर्ट बनाकर उसे प्रकाशित या प्रसारित करता है
  • (b) जिसका इरादा जनता में या जनता के किसी भी वर्ग के लिए भय और डर पैदा करना या ऐसा करने की संभावना होना, ताकि किसी भी व्यक्ति को राज्य के खिलाफ या सार्वजनिक शांति के खिलाफ अपराध करने के लिए प्रेरित किया जा सकता है

ज्ञात हो कि सोमवार को भारतीय मूल के अमरीका के एक स्वघोषित साइबर विशेषज्ञ, सैयद शूजा ने लंदन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर दावा किया था कि वो भारत में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) को डिज़ाइन करने वाली टीम का हिस्सा रह चुके हैं और कहा कि वह दिखा सकते हैं कि EVM मशीनों को ‘हैक’ किया जा सकता है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में EVM से छेड़छाड़ की गई थी और 12 पार्टियों ने उनसे EVM से छेड़छाड़ के लिए सम्पर्क भी किया था।

सैयद शूजा ने अपनी प्रेस वार्ता के दौरान कहा था कि चुनाव आयोग के दावों के बावज़ूद वो EVM मशीनों को हैक कर के दिखा सकता है।

चुनाव आयोग पहले भी कई बार EVM हैक किए जाने जैसी अफ़वाहों को नकारता आया है। मंगलवार को ही आम आदमी पार्टी नेता अरविन्द केजरीवाल ने भी कहा कि उन्होंने किसी साइबर एक्सपर्ट से संपर्क नहीं किया था।

सैयद शूजा नाम का यह ‘एक्सपर्ट’ स्काइप पर मास्क लगाकर पेश हुआ। शूजा ने कहा कि वह अमेरिका में राजनीतिक शरण लेकर रह रहा है। उसने यह भी दावा किया कि टेलिकॉम कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन ने ईवीएम हैक करने में बीजेपी की मदद की। हालांकि, उसने इस दावे पर कोई सबूत पेश नहीं किया। शुजा ने यह दावा भी किया कि बीजेपी, एसपी, बीएसपी, आप और कांग्रेस भी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की थी। हालांकि, इनमें से किसी पार्टी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

लाइव प्रसारण में सैयद शूजा ने कहा था कि सीनियर जर्नलिस्ट गौरी लंकेश ने उनकी स्टोरी चलाने के लिए हामी भरी थी, लेकिन उनकी हत्या कर दी गई। कॉन्ग्रेस पार्टी नेता कपिल सिब्बल इस लाइव प्रेस वार्ता में मौजूद थे।

EVM हैकिंग की अफ़वाह से जुड़े नक़ाबपोश एक्सपर्ट के दावों और उसके समर्थकों के दोहरे चरित्र को जानना चाहते हैं तो पढ़ें यह शानदार लेख!

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe