Wednesday, May 22, 2024
Homeविचारमीडिया हलचलNews18 के पत्रकार अमन चोपड़ा पर राजस्थान में 2 FIR: अलवर में मंदिर तोड़ने...

News18 के पत्रकार अमन चोपड़ा पर राजस्थान में 2 FIR: अलवर में मंदिर तोड़ने की घटना को जहाँगीपुरी दंगे का बताया था बदला

अमन चोपड़ा के खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद उनका नाम ट्विटर पर ट्रेंड हो रहा है। समाचार लिखे जाने तक 41 हजार से अधिक लोग इस ट्रेंड पर ट्वीट कर चुके हैं।

न्यूज़ 18 के एंकर अमन चोपड़ा (Aman Chopra) पर 23 अप्रैल (शनिवार) को राजस्थान (Rajasthan) के बूंदी और डूंगरपुर जिले में अलग-अलग FIR दर्ज की गई हैं। FIR की वजह राजस्थान के ही अलवर में तोड़े गए मंदिर पर अमन चोपड़ा द्वारा किया गया शो बताया जा रहा है। कॉन्ग्रेस के नेताओं के मुताबिक, अमन चोपड़ा ने लोगों को भड़काने के साथ साम्प्रदायिक उन्माद फैलाया है। अमन पर देशद्रोह की भी धाराएँ लगाई गईं हैं।

अमन चोपड़ा पर FIR में कहा गया है कि उनके शो में एक लाइन कही गई थी, “अलवर की घटना कहीं दिल्ली के जहाँगीरपुरी की घटना का बदला तो नहीं है।” इस शो में अमन चोपड़ा ने दोनों घटनाओं को आपस में जोड़ने का प्रयास किया था।

बूँदी में अमन चोपड़ा के खिलाफ FIR दर्ज करवाने वाले व्यक्ति का नाम चरमेश शर्मा है, जबकि डूंगरपुर जिले में कृष्ण राज सिंह FIR दर्ज कराई है। डूंगरपुर के थाना बिछीवाड़ा में दी गई शिकायत में कहा गया है, “अमन ने आपराधिक षड्यंत्र, राजद्रोह, साम्प्रदायिक तनाव बढ़ाने तथा धार्मिक भावनाएँ भड़काने का आपराधिक कृत्य किया गया है। एंकर ने जिस तरह से अपने शो में कॉन्ग्रेस पार्टी का नाम मंदिर मामले से जोड़ा है, उससे जाहिर होता है कि वह राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार के खिलाफ आम लोगों में विद्रोह पैदा करना चाहते हैं। यह भ्रामक खबर है और राजस्थान सरकार के खिलाफ षड्यंत्र है। इसे चुनी हुई सरकार के खिलाफ राजद्रोह का अपराध माना जाए।”

FIR Copy

शिकायत के आधार पर पुलिस ने अमन चोपड़ा के खिलाफ 153 A, 295 A, 124 A IPC के अलावा IT एक्ट 2000 की धारा 67 के तहत केस दर्ज किया है। वहीं, बूँदी जिले में चरमेश शर्मा द्वारा दी गई तहरीर के आधार बूँदी सदर थाने में 153 A, 295, 295 A और 120B के तहत केस दर्ज किया गया है।

Bundi District FIR

ट्विटर पर ट्रेंड हुआ अमन चोपड़ा

अमन चोपड़ा के खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद उनका नाम ट्विटर पर ट्रेंड हो रहा है। समाचार लिखे जाने तक 41 हजार से अधिक लोग इस ट्रेंड पर ट्वीट कर चुके हैं। दिल्ली भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने भी इस मामले में लिखा, “जब आतंक ना रोका जाए तो आतंक पर सवाल उठाने वालों को रोकने की साजिश। एक पत्रकार के खिलाफ ऐसा सुनियोजित हमला लोकतंत्र के हर सिद्धान्त के खिलाफ है। अमन चोपड़ा पर सवाल मत करो। अमन चोपड़ा के सवालों के जवाब दो।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -