Saturday, March 25, 2023
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसमलैंगिकता, काफिर मीडिया, इजरायल, मुस्लिम शासकों के कारण कोरोना: इमाम ने कहा- नहीं बताते...

समलैंगिकता, काफिर मीडिया, इजरायल, मुस्लिम शासकों के कारण कोरोना: इमाम ने कहा- नहीं बताते तो न फैलता ओमिक्रोन

अमीरा ने कोविड वैरिएंट डेल्टा को भारतीय वैरिएंट कहकर संबोधित किया था। वर्ष 2020 में पैगंबर मोहम्मद के चित्रों का इस्तेमाल करने पर फ्रांसीसी शिक्षक सैमुअल पेटी की हत्या और सिर कलम करने वाले मुस्लिमों की प्रशंसा करने के लिए अमीरा को इजराइल पुलिस ने गिरफ्तार किया था साथ ही अल-अक्सा मस्जिद से छह महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया था।

दुनिया भर के देशों में कोरोना वायरस के अब तक के सबसे खतरनाक वैरिएंट ओमिक्रोन का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इसी बीच इजरायल (Israel) की राजधानी यरुशलम (Jerusalem) में स्थित अल-अक्सा मस्जिद के इमाम ने एक विवादित बयान दिया है। उनका बयान सुर्खियों में है।

N12 के अनुसार, अल-अक्सा मस्जिद (al-Aqsa Mosque) के इमाम इस्साम अमीरा का कहना है, “LGBTQ+ समुदाय, इजराइल सरकार और मीडिया के कारण ओमिक्रॉन तेजी से बढ़ रहा है।” फिलिस्तीनी इस्लामिक स्कॉलर और उपदेशक अमीरा ने यरुशलम में स्थित मस्जिद में शुक्रवार (24 दिसंबर 2021) को जुमे की नमाज के बाद यह विवादास्पद बयान दिया था।

अमीरा ने कहा, “अगर सरकार और मीडिया ओमिक्रॉन वैरिएंट के बारे में लोगों को जानकारी नहीं देते तो यह नहीं फैलता। सरकार और मीडिया जो वैरिएंट लाए हैं, वह समलैंगिकता को बढ़ावा दे रहा है।” सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में इमाम कह रहे हैं कि यह काफिर मीडिया और शासकों के कारण फैला।

यही नहीं, यरुशलम के अल-अक्सा मस्जिद में एक संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि इजराइल के मुस्लिम शासकों के गलत आचरण के कारण ही कोरोना वायरस अलग-अलग रूपों में फैल रहा है। ये शासक समलैंगिकता की अनुमति देते हैं और नारीवादी संगठनों का पालन करते हैं, इसलिए कोरोना अपने ‘भारतीय वैरिएंट’ और ओमिक्रॉन रूप में पूरी दुनिया में फैल गया है।

यह पहली बार नहीं है, जब इमाम ने विवादित टिप्पणी की है। इससे पहले अमीरा ने कोविड वैरिएंट डेल्टा को भारतीय वैरिएंट कहकर संबोधित किया था। वर्ष 2020 में पैगंबर मोहम्मद के चित्रों का इस्तेमाल करने पर फ्रांसीसी शिक्षक सैमुअल पेटी की हत्या और सिर कलम करने वाले मुस्लिमों की प्रशंसा करने के लिए अमीरा को इजराइल पुलिस ने गिरफ्तार किया था साथ ही अल-अक्सा मस्जिद से छह महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

छिन सकता है सरकारी आवास, सजा न हुई कम तो 8 साल चुनाव भी नहीं लड़ पाएँगे: सांसदी जाने से खत्म नहीं हुई राहुल...

राहुल गाँधी की संसद सदस्यता को लेकर राजनीतिक बवाल छिड़ गया है। अदालत के फैसले के बाद सरकार की जल्दबाजी पर कॉन्ग्रेस ने सवाल उठाए हैं।

धक्का-मुक्की, पथराव और नारेबाजी: राहुल गाँधी की सांसदी जाने के बाद रायपुर में बवाल, BJP कार्यकर्ताओं से कॉन्ग्रेसी भिड़े

रायपुर में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया। वे भाजपा कार्यालय के अंदर घुसने की कोशिश कर रहे थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
250,967FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe