Thursday, June 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजाह्नवी कंडुला की मौत पर बरसा भारत, हिंदू समूह ने अमेरिकी रवैए पर जताई...

जाह्नवी कंडुला की मौत पर बरसा भारत, हिंदू समूह ने अमेरिकी रवैए पर जताई निराशा: टक्कर मारने वाले अधिकारी पर केस चलाने से किया था इनकार

अमेरिका में जाह्नवी कंडुला नाम की एक भारतीय छात्रा की हत्या कर दी गई थी। इस बीच खबर आई कि हत्याकांड को अंजाम देने वाले पुलिस अधिकारी केविन डवे पर अब कोई आपराधिक मुकदमा नहीं चलेगा। सिएटल में स्थित भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने कहा कि उसने इस मामले को स्थानीय अधिकारियों के समक्ष जोरदार ढंग से उठाया है। वहीं, अमेरिका में हिंदू एडवोकेसी समूह ने इसे निराशाजनक और चौंकाने वाला बताया।

अमेरिका में जाह्नवी कंडुला नाम की एक भारतीय छात्रा की हत्या कर दी गई थी। इस बीच खबर आई कि हत्याकांड को अंजाम देने वाले पुलिस अधिकारी केविन डवे पर अब कोई आपराधिक मुकदमा नहीं चलेगा। सिएटल में स्थित भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने कहा कि उसने इस मामले को स्थानीय अधिकारियों के समक्ष जोरदार ढंग से उठाया है। वहीं, अमेरिका में हिंदू एडवोकेसी समूह ने इसे निराशाजनक और चौंकाने वाला बताया।

अमेरिका हिंदू वकालत समूह ने कहा है कि यह चौंकाने वाला और निराशाजनक है कि भारतीय छात्रा जाह्नवी कंडुला की हत्या के शामिल अधिकारी के खिलाफ जाँच बिना किसी कारण के खारिज कर दी गई। साउथ लेक यूनियन में नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी की छात्रा कंडुला की 23 जनवरी 2023 की रात को पैदल यात्री क्रॉसिंग पर अधिकारी केविन डेव ने पुलिस वाहन चढ़ा दिया था। इससे कंडुला की मौत हो गई।

इसके बाद किंग काउंटी प्रॉसिक्यूटर ऑफिस ने बुधवार (21 फरवरी, 2024) को कहा कि पर्याप्त सबूतों के अभाव में इस केस को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है। अटॉर्नी ने एक बयान जारी कर के बताया कि जाह्नवी कंडुला की मौत दिल दहलाने वाली है और इसने किंग काउंटी और पूरी दुनिया में समुदायों को प्रभावित किया है।

ऑटर्नी का बयान आने के बाद बाद सिएटल में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने प्रतिक्रिया दी। महावाणिज्य दूतावास ने कहा कि वह पीड़ित परिवार के साथ नियमित संपर्क में है और जाह्नवी और उसके परिवार के लिए न्याय सुनिश्चित करने में हर संभव सहायता देना जारी रखेगा।

कंसुलेट ने कहा, “हमने उचित समाधान के लिए सिएटल पुलिस सहित स्थानीय अधिकारियों के साथ भी इस मामले को जोरदार ढंग से उठाया है। मामले को अब समीक्षा के लिए सिएटल सिटी अटॉर्नी के कार्यालय में भेजा गया है। हम सिएटल पुलिस की प्रशासनिक जाँच पूरी होने का इंतजार कर रहे हैं और मामले की प्रगति पर नजर रखना जारी रखेंगे।”

दरअसल, जाह्नवी कंडुला की उम्र मात्र 23 वर्ष ही थी। उनकी मौत 23 जनवरी 2023 को हुई थी, जब वो सड़क पार कर रही थीं। उसी दौरान केविन डेव के पास ड्रग्स ओवरडोज की एक फोन कॉल आ गई। घटना के समय वो 120 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार से गाड़ी चला रहा था। गाड़ी से टक्कर लगने पर जाह्नवी उछलकर 100 फीट दूर जा गिरी थी।

जैसे ही जाह्वनी कंडुला को पुलिस पेट्रोलिंग वाली गाड़ी की ठोकर लगी, वो 100 फ़ीट दूर उछल कर गिर गईं। मौके पर ही उनकी मौत हो गई थी। सिएटल पुलिस डिपार्टमेंट का एक बॉडीकैम वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें एक अन्य पुलिस अधिकारी डेनिएल ऑडरेर को इस मौत का मजाक बनाते हुए देखा गया था। उसने हँसते हुए कहा था कि उस लड़की की जान की कीमत कम थी।

इसके बाद अटॉर्नी ने कहा कि वाशिंगटन स्टेट लॉ के हिसाब से मामला चलाने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं। पुलिस अधिकारी की इस टिप्पणी के बाद उसे पेट्रोलिंग की ड्यूटी से हटा दिया गया था और ‘नॉन ऑपरेशनल’ कार्यों में लगा दिया गया था। जाह्नवी मूल रूप से हैदराबाद की रहने वाली थीं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -