Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'पर्याप्त सबूत नहीं': अमेरिका में भारतीय छात्रा के हत्यारे पुलिस अधिकारी पर नहीं चलेगा...

‘पर्याप्त सबूत नहीं’: अमेरिका में भारतीय छात्रा के हत्यारे पुलिस अधिकारी पर नहीं चलेगा मुकदमा, मजाक बनाते हुए कहा गया था – ‘उसकी जान की कीमत कम’

जैसे ही जाह्वनी कंडुला को पुलिस पेट्रोलिंग वाली गाड़ी की ठोकर लगी, वो 100 फ़ीट दूर उछल कर गिर गईं। मौके पर ही उनकी मौत हो गई थी।

अमेरिका में जाह्नवी कंडुला नामक भारतीय छात्रा की हत्या कर दी गई थी। अब खबर आई है कि इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले पुलिस अधिकारी केविन डवे पर कोई आपराधिक मुकदमा नहीं चलेगा। केविन डवे उस दौरान फोन कॉल पर था और गाड़ी चला रहा था, उसी दौरान टक्कर हुई और लड़की की मौत हो गई। किंग काउंटी प्रॉसिक्यूटर ऑफिस ने बुधवार (21 फरवरी, 2024) को कहा कि पर्याप्त सबूतों के अभाव में इस केस को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।

अटॉर्नी ने एक बयान जारी कर के बताया है कि जाह्नवी कंडुला की मौत दिल दहलाने वाली है, और इसने किंग काउंटी और पूरी दुनिया में समुदायों को प्रभावित किया है। जाह्नवी कंडुला की उम्र मात्र 23 वर्ष ही थी। उनकी मौत 23 जनवरी, 2023 को हुई थी, जब वो सड़क पार कर रही थीं। उसी दौरान केविन डेव के पास ड्रग्स ओवरडोज की एक फोन कॉल आ गई। घटना के समय वो 120 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार से गाड़ी चला रहा था।

जैसे ही जाह्वनी कंडुला को पुलिस पेट्रोलिंग वाली गाड़ी की ठोकर लगी, वो 100 फ़ीट दूर उछल कर गिर गईं। मौके पर ही उनकी मौत हो गई थी। सिएटल पुलिस डिपार्टमेंट का एक बॉडीकैम वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें एक अन्य पुलिस अधिकारी डेनिएल ऑडरेर को इस मौत का मजाक बनाते हुए देखा गया था। उसने हँसते हुए कहा था कि उस लड़की की जान की कीमत कम थी। अब अटॉर्नी ने कहा है कि वाशिंगटन स्टेट लॉ के हिसाब से मामला चलाने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

पुलिस अधिकारी की इस टिप्पणी के बाद उसे पेट्रोलिंग की ड्यूटी से हटा दिया गया था और ‘नॉन ऑपरेशनल’ कार्यों में लगा दिया गया था। जाह्नवी मूल रूप से हैदराबाद की रहने वाली थीं। अब कहा जा रहा है कि कवि डेव एक पाथ्मिक्ता वाली कॉल को रिसीव कर रहा था और इसके लिए पुलिस विभाग ने उससे निवेदन किया था। अटॉर्नी का ये भी कहना है कि इस दौरान उसकी गाड़ी की इमरजेंसी लाइट्स ऑन थी और आवाजाही कर रहे बाकी लोगों ने सायरन की आवाज़ सुनी थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस दौरान जाह्नवी कंडुला सड़क पर बने इंटरसेक्शन की तरफ भागने लगीं। साथ ही बताया गया है कि उन्होंने ईयरफोन लगा रखा था, जिससे उन्हें सुनाई कम दे रहा होगा। जबकि स्थानीय मीडिया का कहना था कि केविन डेव की गाड़ी की स्पीड बहुत ज्यादा थी और दुर्घटना का कारण यही थी। जाह्नवी कंडुला की माँ सिंगल मदर हैं, जो एक शिक्षिका हैं। वो नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी के साउथ लेक यूनियन कैम्पस में पढ़ती थीं। दिसंबर 2023 में उन्हें स्नातक होना था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -