Sunday, June 16, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमहिला जज ने जेल जाकर उस कैदी को चुम्मा लिया, जिसने मार डाला था...

महिला जज ने जेल जाकर उस कैदी को चुम्मा लिया, जिसने मार डाला था पुलिस वाले को: वीडियो वायरल, जाँच शुरू

पुलिस अधिकारी लिएंड्रो रॉबर्ट्स उसे जेल ब्रेक के मामले में गिरफ्तार करने गए थे, लेकिन मौका देखते ही उसने पुलिस अधिकारी को गोली मारकर हत्या कर दी। कोर्ट में जब कैदी को सजा सुनाई जा रही थी, तब जस्टिस मारियल सुआरेज दोषी को मिली आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ वोट दिया था।

अर्जेंटीना (Argentina) में पुलिसकर्मी की हत्या (Murder) के मामले में जेल में बंद एक कैदी को चुम्मा लेते हुए एक महिला जज का वीडियो वायरल हो रहा है। CCTV वीडियो के सामने आने के बाद आरोपित जज पर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। वहीं, इस मामले में हायर कोर्ट ने जाँच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले को लेकर महिला न्यायधीश से पूछताछ की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित महिला जज का वीडियो वायरल होने के बाद उसके और कैदी के साथ संबंधों की समीक्षा शुरू कर दी गई है। यह जानने की कोशिश की जा रही है कि क्या जज और कैदी दोनों पहले से एक-दूसरे को जानते थे? हत्या के मामले में जिस वक्त शख्स को सजा सुनाई जा रही थी, उस दौरान आरोपित महिला जज ने ही उसे आजीवन कारावास की सजा देने का विरोध किया था।

इस वीडियो को लेकर चुबुत प्रांत के हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश ने कहा कि उन्होंने कोमोडोरो रिवादाविया की जज मारियल सुआरेज की जाँच शुरू कर दी है। उक्त CCTV वीडियो महिला जज और कैदी क्रिस्टियन ‘माई’ बस्टोस के साथ ट्रेलेव में पेनिटेंटरी इंस्टीट्यूट (IPP) में एक साथ समय बिताने के बाद ऑनलाइन वायरल कर दिया गया था।

अदालत के अधिकारियों के मुताबिक, 29 दिसंबर 2021 को महिला जज के आपत्तिजनक व्यवहार का वीडियो सार्वजनिक हुआ था। वहीं, इस घटना को लेकर आरोपित महिला जज ने अर्जेटीना की न्यूज वेबसाइट्स टोडो नोटिसियास को दिए इंटरव्यू में इस तरह की चुबंन वाली घटना से इनकार किया है।

हत्या के आरोप में जेल में बंद है कैदी

जस्टिस मारियल सुआरेज का जिस कैदी क्रिस्टियन ‘माई’ बस्टोस को किस करने का वीडियो वायरल हो रहा है, वह साल 2009 में एक पुलिसकर्मी को गोली मारने के मामले में जेल की सजा काट रहा है। बस्टोस कोरकोवाडो में पुलिस अधिकारी लिएंड्रो रॉबर्ट्स की हत्या का दोषी पाया गया है।

दरअसल, पुलिस अधिकारी लिएंड्रो रॉबर्ट्स उसे जेल ब्रेक के मामले में गिरफ्तार करने गए थे, लेकिन मौका देखते ही उसने पुलिस अधिकारी को गोली मार दी थी। इस घटना में उनकी मौत हो गई थी। कोर्ट में जब कैदी को सजा सुनाई जा रही थी, तब जस्टिस मारियल सुआरेज दोषी को मिली आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ वोट दिया था। सुआरेज अकेली न्यायाधीश थीं, जिन्होंने इसका विरोध किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

परचून की दुकान से लेकर कई हजार करोड़ के कारोबार तक, 38 मुकदमों वाले हाजी इक़बाल ने सपा-बसपा सरकार में ऐसी जुटाई अकूत संपत्ति:...

सहारनपुर में मिर्जापुर का रहने वाला मोहम्मद इकबाल परचून की दुकान से काम शुरू कर आगे बढ़ता गया। कभी शहद बेचा, तो फिर राजनीति में आया और खनन माफिया भी बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -