Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयन्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर 5 अगस्त को मनेगा उत्सव, 17000 वर्ग फीट की...

न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर 5 अगस्त को मनेगा उत्सव, 17000 वर्ग फीट की एलईडी से दर्शन देंगे श्रीराम

"प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हिंदुओं के लिए राम मंदिर के निर्माण का सपना सच हो पाया है। 6 साल पहले तक हमने ये कभी नहीं सोचा था कि ये दिन इतनी जल्दी आएगा लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के कारण यह दिन आ गया है और हम इसे धूमधाम से मनाना चाहते हैं।"

अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन होने वाला है। इस दिन को न्यूयॉर्क में भी यादगार बनाने के लिए के लिए कोशिशे की जा रही हैं। 5 अगस्त को न्यूयॉर्क की प्रतिष्ठित इमारत टाइम्स स्क्वायर पर भगवान राम की भव्य तस्वीर प्रदर्शित होगी। 17,000 वर्ग फीट वाली एलईडी स्क्रीन पर उनकी त्रिआयामी (थ्रीडी) चित्रों का प्रदर्शन किया जाएगा।

अमेरिका-भारत सार्वजनिक मामलों की समिति के अध्यक्ष जगदीश सेव्हानी ने बुधवार को बताया कि 5 अगस्त को न्यूयॉर्क में ऐतिहासिक क्षण मनाने की व्यवस्था की जा रही है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे।

सेव्हानी ने पीटीआई से बातचीत की और कहा कि इस अवसर के लिए जिन प्रमुख होर्डिंगों को लीज पर लिया गया है, उनमें विशाल नैस्डैक स्क्रीन और 17,000 वर्ग फुट की रैप-अराउंड led डिस्प्लेस्क्रीन शामिल है। माना जाता है कि 17,000 वर्ग फुट की रैप अराउंड स्क्रीन टाइम्स स्क्वायर की उच्चतम रिजोल्यूशन वाली led स्क्रीन है।

5 अगस्त को सुबह 8 बजे से रात के 10 बजे तक हिंदी और इंग्लिश में ‘जय श्री राम’, भगवान राम के चित्र और वीडियो, मंदिर के डिजाइन और वास्तुकला के 3डी चित्र के साथ-साथ प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास की तस्वीरें टाइम्स स्क्वायर की कई होर्डिंग्स पर प्रदर्शित की जाएँगी।

रिपोर्ट्स के अनुसार, सेव्हानी ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हिंदुओं के लिए राम मंदिर के निर्माण का सपना सच हो पाया है। 6 साल पहले तक हमने ये कभी नहीं सोचा था कि ये दिन इतनी जल्दी आएगा लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के कारण यह दिन आ गया है और हम इसे धूमधाम से मनाना चाहते हैं।”

वे बोले, “भारतीय समुदाय के लोग भी 5 अगस्त को टाइम्स स्क्वायर पर मौजूद रहेंगे और इस खुशी के मौके पर मिठाइयाँ बाँटेंगे।” उन्होंने कहा, “यह कोई ऐसा इवेंट नहीं है, जो किसी की जिंदगी में या फिर दशकों में आता हो। बल्कि ये एक ऐसा इवेंट है जो मानव जाति के जीवन में एक बार आता है। हमें इसे एक शानदार उत्सव के तौर पर मनाना है और प्रतिष्ठित टाइम्स स्क्वायर से बेहतर जगह और क्या हो सकती है।”

उल्लेखनीय है कि 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि अयोध्या पर अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए दशकों से लंबित इस मामले को सुलझाया था। कोर्ट ने सरकार को राम मंदिर के लिए ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया था। इसके बाद श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का निर्माण फरवरी में हुआ और अब 5 अगस्त को इसके भूमि पूजन की तारीख तय हुई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe