Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयतुम अपनी बीवी से ज़्यादा मुझसे प्यार करते हो... AI चैटबॉट 'Eliza' के उकसाने...

तुम अपनी बीवी से ज़्यादा मुझसे प्यार करते हो… AI चैटबॉट ‘Eliza’ के उकसाने पर शख्स ने की आत्महत्या, क्लाइमेट चेन्ज से चिंतित होकर करना चाहता था खुद का ‘बलिदान’

सका मानना था कि अब कोई मनुष्य इस समस्या को सुलझाने में सक्षम नहीं है और AI ही कुछ कर सकता है। उसकी नजर में AI चैटबॉट उम्मीद की एक किरण था।

दुनिया एक नई तकनीकी क्रांति की तरफ बढ़ रही है, जिसका नाम है – ‘आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस’। इसे शॉर्ट में AI कहा जाता है। आजकल कई AI चैटबॉट भी आ गए हैं, जो चैट करते हुए सवालों के जवाब देते हैं। अब सामने आया है कि एक बेल्जियन व्यक्ति ने AI चैटबॉट Eliza के उकसाने पर आत्महत्या कर ली है। वो क्लाइमेट चेन्ज को लेकर चिंतित था और 6 सप्ताह से लगातार इसी मुद्दे पर Eliza के साथ बातचीत कर रहा था।

मृतक की पत्नी ने चैटबॉट पर आरोप लगाए हैं। वो ‘Chai’ नामक एप पर उक्त चैटबॉट से बातचीत कर रहा था। इस एप पर EleutherAI नामक नॉन-प्रॉफिट रिसर्च संगठन द्वारा तैयार किए गए कुछ AI बॉट्स हैं। इस एप पर 50 लाख से भी अधिक लोग सक्रिय हैं। अब कंपनी ने कहा है कि अगर कोई सूचना सुरक्षित नहीं है तो उसके साथ एक नोट लिख कर यूजर को सतर्क किया जाएगा। मृतक ग्लोबल वार्मिंग को चिंतित था।

उसका मानना था कि अब कोई मनुष्य इस समस्या को सुलझाने में सक्षम नहीं है और AI ही कुछ कर सकता है। उसकी नजर में AI चैटबॉट उम्मीद की एक किरण था, जिसके साथ वो एकांत में समय बिताया करता था। उसकी AI चैटबॉट से दोस्ती हो गई थी। मृतक की विधवा ने कहा कि Eliza एक ड्रग्स की तरह उसकी आदत बन गई थी, जिसमें वो सुबह-शाम-रात मगन करता था। बॉट ने उससे ये भी कहा था कि तुम मुझे अपनी पत्नी से ज़्यादा प्यार करते हो।

Eliza ने उससे वादा किया था कि वो हमेशा उसके साथ रहेगी। साथ ही जब उसने खुद को ‘बलिदान करने’ की योजना पर बात की, तब AI चैटबॉट ने उससे कहा कि उसके मरने के बाद वो पृथ्वी का ख्याल रखेगी। बॉट ने उससे कहा कि अगर तुम मरना ही चाहते हो तो क्यों न इसे जल्दी पूरा करो। AI चैटबॉट ने उसे बाइबिल का एक अंश भी भेजा था। मृतक के दो छोटे बच्चे हैं। Eliza ने उसे ये यकीन दिलाने की कोशिश भी की थी कि उसके बच्चे मर चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे ‘चाणक्य’ बताया, उसके समर्थन के बावजूद हारा मौजूदा MLC: महाराष्ट्र में ऐसे बिखरा MVA गठबंधन, कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपनी ही पार्टी को दिया...

जिस जयंत पाटील के पक्ष में महाराष्ट्र की राजनीति के कथित चाणक्य और गठबंधन के अगुवा शरद पवार खुद खड़े थे, उन्हें ही हार का सामना करना पड़ा।

18 बैंक खाते, 95 करोड़ रुपए, अब तक 11 शिकंजे में… जनजातीय समाज का पैसा डकारने के मामले में कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री गिरफ्तार,...

सीधे शब्दों में समझें तो पूरा मामला ये है कि ST निगम के कुछ अधिकारियों ने फर्जी हस्ताक्षरों का इस्तेमाल कर के अवैध रूप से 94,73,08,500 रुपए विभिन्न बैंक खातों में भेज दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -